केतकीपाड़ा धारखाड़ी डैम में जाने से बाहर के नागरिकों को रोका जाय : शिवकुमार यादव


मुंबई : दहीसर के केतकीपाड़ा–धारखाडी को लगकर संजय गांधी राष्ट्रीय उद्यान में अनेक डैम हैं। जिसके कारण पूरे मुम्बई, ठाणे, मीराभायंदर से लोग हजारों की संख्या में घूमने नहाने आते है, परंतु यहां पर कई लोग बीयर दारू नशीले पदार्थों का सेवन करते हैं जिससे कारण स्थानिक महिला व पुरुष को बहुत दिक्कत होती है। यहां वन विभाग होने के कारण शौचालय नहीं है और पीने का पानी भी नहीं है जिसके वजह से स्थानिक महिलाएं युवतियां वह बच्चे इस खदान के डैम के पानी का पीने का उपयोग कपड़ा धोने में वह नहाने में शौचालय जाने में करते हैं परंतु यहां बाहर से आए हुए हजारों की तादाद से इन्हे बहुत सारी असुविधा होती है व यहां पर बाहर से आने वालों का प्रतिदिन मारपीट, दारू बियर पीकर यहां पर गंदगी करके जाते हैं इसी तरह से आए दिन डैम में कई बच्चे कोई सुरक्षा ना होने के कारण डूब जाते हैं। यहां पर बाघ तेंदुआ का भी डर बना रहता है। अब यहां पर लड़की व महिलाएं भी आ रही है नहाने के लिए यहां के ऐसे माहौल में इनके साथ कभी भी कोई भी अनहोनी घटना घट सकती है। इसके लिए भी वन विभाग व पुलिस को सचेत रहना और जब बाहर के लोग नशे में होकर स्थानीय लोगों से मारपीट झगड़ा करते है। जिसमें अभी हाल ही में एक नौजवान युवक की हत्या हो चुकी है।

इन सब मामले को देखते हुए 5 अगस्त 2021 को पत्रकारों व न्यूज चैनल वालो के साथ दहीसर विधानसभा मतदार संघ 153 के सामाजवादी पार्टी अध्यक्ष शिवकुमार यादव ने यहां का हाल देखा और उन्होंने मुख्य वन संरक्षक व संचालक संजय गांधी राष्ट्रीय उद्यान बोरीवली व पोलिस उपायुक्त परिमण्डल 12 शैलेंद्र नगर दहिसर पूर्व से मांग की है कि यहां पर स्थानीय लोगों के सिवा किसी को जाने ना दिया जाए। बैरिकेड लगाए जाए, यह वैसे भी प्रतिबंधित वन क्षेत्र है। यहां पर कठोर कार्यवाही हो जो भी आए। बाहर के नागरिक और उन पर सख्त से सख्त कानूनी कार्रवाई वन विभाग के अधिकारी करें व फॉरेस्ट के सिपाही प्रतिदिन यहां पर विजिट करें और जो भी बाहर के व्यक्ति नजर आए उन पर कानूनी कठोर कार्रवाई हो। उन्होंने यह भी कहा की कार्यवाही की संपूर्ण जानकारी मुझे मिले। कार्यवाही शुरू ना होने पर संजय गांधी राष्ट्रीय उद्यान के कार्यालय में उग्र आंदोलन शुरू करने की चेतावनी भी दी है।

Comments