दीनदयाल फाउंडेशन ने ठेला चलाने वाले के बेटी की शादी को संपन्न कराया


मुंबई :
नलासोपारा ईस्ट में दीनदयाल फाऊंडेशन के पदाधिकारियों  एवं संस्था के सदस्यों के सहयोग से एक ठेला चलाने वाले की बेटी की शादी बहुत ही धूम-धाम से रचाई गयी l रामकुमार गुप्ता (काल्पनिक नाम ) जो की नालासोपारा ईस्ट में ठेले पर सब्जी लगाकर बेचते थे कई महीने पहले अपनी बेटी का विवाह तय किये थे और उसी के चलते रोज ठेले पर सब्जियाँ बेचकर बेटी की सादी के लिए थोड़ा थोड़ा पैसा जमा कर रहे थे की अचानक कोरोना महामारी के चलते सारा बाजार बन्द हो गया बेटी की सादी के लिए बचे हुए पैसे बच्चों के खिलाने में खत्म हो गये और उनके सारे अरमानो पर पानी फिर गया और धीरे धीरे बेटी बेटी की शादी नजदीक आ गयी l बहुत से लोगों के पास मदत के लिए गुहार लगायी लेकिन किसी ने नहीं सुनी और उनको निराशा ही हाथ लगी l किसी के द्वारा उन्होंने संस्था के बारे में सुना और संस्था में आकर अपनी सारी आप बीती बतायी उनकी सारी हकीकत जानने के बाद संस्था ने अस्वासन दिया की आप चिन्ता मत करिये संस्था आपकी पूरी मदत करेगी l संस्था के द्वारा लॉकडाउन के शुरुआत से ही हजारों जरूरतमंद लोगों तक राशन पहुंचाने के कारण संस्था के पास पर्याप्त धनराशि नहीं बची थी की जिससे इनकी पूरी मदत की जा सकती l इसके लिए संस्था के पदाधिकारी और सदस्यों ने मिलकर बेटी के शादी के लिए मदत करने की ठानी और मदत के तौर पर साड़ी कपड़े श्रृंगार का सामान जेवर बर्तन और कुछ नकद धनराशि देकर उस परिवार को खुशियों से भर दिया जो कल दर दर भटक रहे थे आज खुशियों से झूम रहे थे पूरे परिवार ने मिलकर संस्था को बहुत धन्यवाद बोला जिसके लिए संस्था ने अस्वासन दिया इस तरह संस्था हमेशा आप लोगों की मदत करेगी l सहयोग में महत्वपूर्ण भूमिका संस्था अध्यक्ष हेमन्त पाण्डेय उपाध्यक्ष अमित द्विवेदी ने निभाई मुख्य सहयोगी के रूप में महाराष्ट्र महिला अध्यक्ष कल्यानी सिंह ठाकुर, महाराष्ट्र सचिव संजय यादव, पालघर अध्यक्ष साहेबलाल तिवारी, नालासोपारा अध्यक्ष मनोज मिश्रा, नालासोपारा महिला अध्यक्ष किरन चौधरी, वसई महिला अध्यक्ष स्मिता सिंह, नालासोपारा महिला उपाध्यक्ष मीरा गुप्ता, जौनपुर प्रभारी कुलदीप दूबे, संस्था सदस्य सुधा दूबे, साधना मिश्रा एवं उषा तिवारी  संस्था समर्थक अल्का सिंह ठाकुर एवं राजदेव सिंह रहे l दीनदयाल फाऊंडेशन मानवता की एक नयी पहल में आप भी जुड़कर पुण्य के भागीदार बन सकते हैं l

Comments