Mumbai हिंदी साहित्य से जुड़े लोगों की प्रतिभा को निखारने के लिए ” श्रीयम न्यूज नेटवर्क ” ने आयोजित किया प्रतियोगिता

” मां की ममता ” इस शीर्षक के अंतर्गत आप अपनी रचना ( आलेख/कविता ) अंतिम तिथि 10 मई 2021 तक भेज सकते हैं, परिणाम 15 मई 2021 को घोषित किया जायेगा – टी.सी.विश्वकर्मा (निदेशक )

रिपोर्ट : शकील शेख

मुंबई : साहित्यकार, कवि मार्मिक होता है, अल्हड़ होता है, मसखरा होता है, संवेदनशील होता है। वैसे तो साहित्यकार हो या कवि उसकी कोई जाति नहीं होती है फिर भी साहित्यकार हो या कवि भले ही अलग अलग जातियों से आतें हो लेकिन ओ अपनी रचनाओं से हमेशा समाज को जागरूक करने का कार्य करते हैं, भक्तिरस का कवि भगवान की शरण में जाने के लिए प्रेरित करता है, वीररस का कवी देश पर प्राण न्योछावर करने के लिए उत्साहित करता है, मार्मिक कवि समाज की संवेदनाओं से अवगत कराता है और हास्यरस का कवि स्वतः हंसी का पात्र बनकर समाज को सच्चाई से अवगत कराता है।

आपको बतादें की ” श्रीयम न्यूज नेटवर्क ” ने हिंदी साहित्य से जुड़े लोगों की प्रतिभा को निखारने के लिए एक प्रतियोगिता का आयोजन किया है, प्रतियोगिता के प्रथम शुरुआत का शीर्षक है ” मां की ममता “। इस शीर्षक के अंतर्गत आप अपनी रचना ( आलेख/कविता ) 10 मई 2021 तक प्रेषित कर सकते हैं इसके बाद भेजी गई रचना पर विचार नहीं किया जायेगा प्रतियोगिता का परिणाम 15 मई 2021 को घोषित किया जायेगा, प्रेषित रचना के साथ एक फोटो , संक्षिप्त परिचय तथा मौलिक एवं स्वरचित का प्रमाण अवश्य दें, आप अपनी रचना email : snnsahitya@gmail.com, वाट्सअप नम्बर 8808815400 /9504550095 पर भेज सकते हैं।

प्रतियोगिता के निदेशक टी सी विश्वकर्मा ने बताया कि प्रतियोगिता में शामिल किये गए कविताओं, आलेखों, पर गहन अध्यन किया जायेगा , वरिष्ठ साहित्यकार, रचनाकार एवं पत्रकारों के साथ विचार विमर्ष किया जायेगा इतना ही नहीं प्रतियोगिता में जितने भी प्रतियोगी भाग लेंगे उनको भी मताधिकार होगा ओ अपनी स्वेच्छा से किसी भी प्रतियोगी को अपना मत ( वोट ) दे सकते हैं। प्रतियोगिता में शामिल प्रतियोगिताओं को अपनी स्वरचित रचनाओं पर किसी भी तरह का विचार या मत ( वोट ) देने का अधिकार नहीं होगा।

उक्त प्रतियोगिता के मुख्य अतिथि वरिष्ठ पत्रकार व अपराध कथा लेखक अंजान मित्र के मार्गदर्शन में होगा, प्रतियोगिता के निदेशक टी सी विश्वकर्मा है और मंच संचालन मनीषा कुमारी करेंगी, प्रतियोगिता निर्णायक मंडल में शकील जी शेख ( कार्यकारी संपादक – दैनिक मुंबई अमरदीप ) , शिखा कुमारी ( सलाहकार ), पौनिंद्रा नाडार (सलाहकार ), विजय तस्वीर ( अध्यक्ष – तस्वीर वेलफेयर फाउंडेशन ) होगें। कार्यक्रम के प्रायोजक दैनिक मुंबई अमरदीप, खुलासच, सबुरी टाईम्स, समर इंडिया न्यूज और तस्वीर वेलफेयर फाउंडेशन हैं।

प्रतियोगिता आयोजक व निदेशक विश्वकर्मा व ने बताया कि प्रतियोगिता में पूरी ईमानदारी और पारदर्शिता होगी सभी रचनाओं का अध्यन करने के बाद सभी पहलुओं को ध्यान में रखकर उत्तम प्रतियोगी को प्रतियोगिता का सर्वश्रेष्ठ विजयता घोषित किया जायेगा। आखरी निर्णय निर्णायक मंडल का होगा और किसी भी तरह का प्रश्न नहीं होगा।

आयोजक व निदेशक टी सी विश्वकर्मा व मंच संचालन कर्ता मनीषा कुमारी ने बताया कि साहित्य से जुड़े लोगों की प्रतिभा को निखारने के लिए श्रीयम न्यूज नेटवर्क का बस यह एक छोटा सा प्रयास है।

Comments