कोरोना काल में मरीजों की सेवा करने वाले डाक्टर पिता-पुत्र की मौत


रिपोर्ट : प्रमोद कुमार

कल्याण : कोरोना काल में मरीजों की दिन-रात सेवा करने वाले डाक्टर पिता-पुत्र की मौत से परिवार में कोहराम मचा हुआ है। खड़गपाड़ा, कल्याण के रहने वाले डा.नागेंद्र भूषण मिश्रा ठाणे के एक निजी कोविड अस्पताल में इलाज करा रहे थे। पुत्र डा.सूरज मिश्रा का इलाज मुंबई के एक निजी अस्पताल में चल रहा था। गुरुवार की देर रात दोनों की मौत हो गई, जिससे उनके परिवार में मातम छाया हुआ है। डा.नागेंद्र भूषण मिश्रा उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिले के रहने वाले थे और 16 अप्रैल को ही उनका जन्म दिन भी था। बताया जाता है कि डा.नागेंद्र भूषण मिश्रा और उनके लड़के तथा पत्नी तीनों एक साथ कोरोना की चपेट में आ गए थे, जिन्हें ठाणे और मुंबई के अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती कराया गया था जहां देर रात पिता-पुत्र दोनों की मौत हो गई। पत्नी का इलाज चल रहा है और फिलहाल वह खतरे से बाहर हैं। बताया जाता है कि हाल ही में नवंबर 2020 में डा.सूरज मिश्रा की शादी हुई थी। डा.सूरज मिश्रा गांधारी के आगे बापगांव में क्लिनिक चलाते थे और उनके पिता डा.नागेंद्र भूषण मिश्रा का क्लिनिक खडवली में था। डा.नागेंद्र के बड़े बेटे विनय भी डाक्टर हैं और उनका क्लिनिक टिटवाला में है। बताया जाता है कि डा.नागेंद्र भूषण मिश्रा डॉक्टरी के अलावा समाजसेवा में भी निपुण थे। अक्सर लोगों की मदद करना और हरेक के साथ जुड़कर सामाजिक कार्यों में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेना उनकी फितरत थी, लेकिन गुरुवार रात पिता-पुत्र दोनों एक साथ कोरोना रूपी काल की गाल में समा गए, जिससे परिवार में मातम छाया हुआ है।

Comments