भुयारी मार्ग बंद होने से पनवेल-सायन एक्सप्रेस हाई-वे क्रॉस करने को लेकर लोगों पर मंडराया सड़क दुर्घटनाओं का खतरा


मुंबई :
मानखुर्द-टी सिग्नल स्थित बने एमएमआरडीए के भुयारी मार्ग बगैर उद्घाटन के बंद पड़े होने से क्षेत्रीय नागरिकों, राहगीरों को तेज दौड़ती गाड़ियों से सड़क दुर्घटनाओं का खतरा मंडराने लगा है। क्षेत्र के बुद्धजीवी वर्ग के अनुसार क्या घाटकोपर-मानखुर्द लिंक रोड पर आये दिन घटित होने वाले सड़क दुर्घटनाओं का इंतजार कर रहा है राज्य सरकार का संबंधित प्रशासन के अधिकारी।

कहा जाता है कि महाराष्ट्र नगर, ज्योतिबा फूले नगर के रहने वालों नागरिकों, राहगीरों के लिये सायन पनवेल एक्सप्रेस-वे पर भुयारी मार्ग एमएमआरडीए प्रशासन ने निर्माण करवाया था। कहा जाता है कि महाराष्ट्र नगर की और जाने वाले एक और भुयारी मार्ग पर बरसात के दिनों में रेल पटरी के नीचे बने भुयारी मार्ग में वर्षा के दिनों में जमीन से लेकर छत की ऊंचाई तक पानी भर जाने से बगल के एमएमआरडीए के भुयारी मार्ग को प्रशासन ने पानी भरने के डर से बंद कर दिया था। सिर्फ बरसात के मौसम में जल जमाव का डर सताता है उसके बाद बकाया मौसम में कोई परेशानी नहीं उठानी पड़ती है। उल्लेखनीय तौर पर मौजूदा समय मे मानखुर्द टी सिग्नल पर स्थित भुयारी मार्ग बंद होने से सड़क पर करने वालों राहगीरों, नागरिकों के सामने सड़क दुर्घटनाओ की समस्याएं बढ़ चुकी है। अभी दो दिन पूर्व ही मानखुर्द मंडाला स्क्रैप के पूल के पास एक स्कूटी सवार युवक डंपर की चपेट में आकर सड़क दुर्घटनाओं में उसकी मौत हो गई। बुद्धजीवी नागरिकों के अनुसार चिंता जाहिर करते हुए मुंबई ट्रैफिक विभाग के अधिकारियों से पूछा है कि आखिर कब तक प्रशासन सड़क दुर्घटनाओ का साक्षी बनेगा। कब उठायेगा सड़क दुर्घटनाओं को रोकने के लिये जरूरी कदम ।

Comments