सी एम उद्धव ठाकरे ने ली कोरोना के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए अहम ऑनलाइन बैठक

मरीजों की जांच रिपोर्ट जल्द मिले, मरीजों को बेड मिलने में ना आए दिक्कतें, मुख्यमंत्री ने लिया मुंबई में कोरोना वायरस की स्थिति का जायजा


रिपोर्ट : रितेश वाघेला
 

मुंबई : कोरोना का प्रभाव रोकने के लिए मुंबई महानगरपालिका मरीजों की जांच रिपोर्ट जल्द से जल्द उपलब्ध कराने, अस्पतालों में मरीजों के लिए बेड का प्रबंधन और ऑक्सीजन की आपूर्ति, दवा की उपलब्धता इन सभी मुद्दों पर विशेष ध्यान दे। इसके लिए सभी मशीनरी आपसी सामंजस्य से काम करें। ऐसा निर्देश मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने दिया। 

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने आज मुंबई महानगरपालिका क्षेत्र के कोविड 19 संक्रमण की परिस्थिति का जायजा ऑनलाइन बैठक के माध्यम से लिया। इस बैठक में नगर विकास मंत्री एकनाथ शिंदे, पर्यावरण मंत्री व मुंबई उपनगर जिला पालकमंत्री आदित्य ठाकरे, मुख्य सचिव सीताराम कुंटे, मुख्यमंत्री के अतिरिक्त मुख्य सचिव आशिष कुमार सिंह, महानगरपालिका आयुक्त इकबाल सिंह चहल, एमएमआरडीए के महानगर आयुक्त आर. ए. राजीव, स्वास्थ विभाग के प्रधान सचिव डॉ. प्रदीप व्यास, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव विकास खारगे, अतिरिक्त महानगरपालिका आयुक्त आश्विनी भिडे, संजीव जयस्वाल, पी. वेलरासू, सुरेश काकाणी शामिल थे। 

बेहतर तालमेल रखें

इस बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर में मरीजों की संख्या बड़े पैमाने पर बढ़ रही है। इस स्थिति में शीघ्र कोरोना का निदान होने पर बढ़ते संक्रमण पर रोक लगाई जा सकती है। उसके लिए मुंबई की सभी मेडिकल प्रयोगशालाओं से मरीजों की जांच रिपोर्ट कम समय में उपलब्ध कराने के लिए आवश्यक उपाय किए जाएं। इसी तरह बाधित मरीजों को बेड मिले, इसलिए मौजूदा प्रबंधन के साथ अतिरिक्त बेड उपलब्ध कराने पर विशेष जोर दिया जाए। साथ ही ऑक्सीजन और औषधि की आपूर्ति के लिए उत्पादक अथवा आपूर्तिकर्ता से सामंजस्य स्थापित किया जाए।

इसके माध्यम से मरीजों को आवश्यक सुविधा उपलब्ध कराके, इस संकट को दूर करने के लिए सभी एकजुट होकर प्रयास करें। ऐसा मुख्यमंत्री ठाकरे ने इस अवसर पर कहा।

बृहन्मुंबई महानगरपालिका आयुक्त इकबाल सिंह चहल ने कहा कि मुंबई में साधारण तौर पर दिनांक 10 फरवरी 2021 से कोरोना की दूसरी लहर आई है। प्रतिदिन मिल रहे मरीजों में लगभग 85 प्रतिशत लक्षण विहीन मरीज हैं।

पर्याप्त बेड उपलब्ध

मुंबई में कुल 153 कोविड अस्पताल हैं। इसमें मौजूदा समय में 20 हजार 400 बेड है। आगामी सप्ताह में यह संख्या 22 हजार होगी। 10 फरवरी 2021 से अब तक 1050 आईसीयू बेड नए में उपलब्ध कराए गए हैं। प्रतिदिन कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या अब 8 से 10 हजार के बीच स्थिर हुई है। फिर भी हर दिन ठीक होने वाले मरीजों की संख्या भी 10 हजार के आस-पास है। इसके कारण मरीजों की संख्या बढ़ने पर भी आज 3 हजार 900 बेड रिक्त/उपलब्ध हैं। बड़े निजी अस्पतालों में ठीक हो रहे और ऑक्सीजन की आपूर्ति की आवश्यकता न होनेवाले मरीजों को स्थानांतरित करने के लिए विभिन्न होटलों में व्यवस्था कराई जा रही है। 

 रेमडेसीविर के लिए प्रयास जारी

रेमडेसीविर इंजेक्शन सहित अन्य औषधियों की कमी नहीं होगी, इसके लिए प्रयास जारी है। यह जानकारी देते हुए चहल ने आगे कहा कि रेमडेसीविर इंजेक्शन की 2 लाख डोज खरीदी करने का कार्यादेश दिया गया है। इसमें से 25 हजार खुराक प्राप्त हो गई है। अधिक आपूर्ति जल्द हो इसके लिए प्रयास किए जा रहे हैं।

ऑक्सीजन की आपूर्ति : 6 समन्वय अधिकारी

इसी तरह पिछले सप्ताह में एंबुलेंस के बेड़े में 350 नई एम्बुलेंस शामिल की गई हैं। इसके अलावा, सुचारू ऑक्सीजन आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए मुंबई महानगरपालिका द्वारा खाद्य और औषधि प्रशासन के लिए 6 समन्वय अधिकारी नियुक्त किए गए हैं। मुंबई में कुल 24 प्रशासनिक डिवीजनों के लिए प्रत्येक 4 डिवीजनों को एक के हिसाब से 6 ऑक्सीजन आपूर्तिकर्ताओं को नियुक्त किया गया है, जो तत्काल स्थिति में ऑक्सीजन उपलब्ध करा सकते हैं। मुंबई के 64 नर्सिंग होम में ऑक्सीजन के उचित और किफायती उपयोग के लिए प्रशिक्षण देने की कार्यवाही भी शुरू की गई है।

जांच रिपोर्ट जल्द उपलब्ध कराने के लिए नियोजन

कोरौना की जांच रिपोर्ट 24 घंटे के अंदर देने की सूचना सभी मेडिकल प्रयोगशालाओं को दी गई है। ऐसी जानकारी इस अवसर पर दी गई। कॉर्पोरेट क्षेत्र में कार्यरत कर्मचारियों का एंटीजन टेस्ट प्राथमिकता के साथ किया जाए। 

इसमें संक्रमित पाए जाने वालों को क्वॉरंटाइन करके उनकी आरटीपीसीआर जांच की जाए, जिससे बाधित मरीजों की समय पर ही तलाश की जा सकती है और आरटीपीसीआर जांच पर दबाव भी कम पड़ेगा। ऐसी सूचना पालकमंत्री आदित्य ठाकरे ने इस अवसर पर दी।

 - चहल ने बताया कि इस सूचना पर तत्काल अमल के लिए निर्देश जारी किए जाएंगे।

-इस दौरान मुख्य सचिव कुंटे ने कहा कि आगामी दिनों में मुंबई महानगरपालिका के लिए आवश्यक अतिरिक्त ऑक्सीजन की आपूर्ति बनाए रखने के लिए राज्य सरकार की ओर से प्रयास किया जाएगा।

Comments