ट्रेडइंडिया एमएसएमई को डिजिटल बनाने में करेगी मदद

~ हरियाणा सरकार के साथ साझेदारी की

मुंबई : देश के सबसे बड़े बी2बी पायोनियर और ऑनलाइन मार्केट प्लेटफॉर्म्स में से एक ट्रेडइंडिया ने माननीय मुख्यमंत्री मनोहर लाल के मार्गदर्शन में हरियाणा सरकार के साथ एक स्ट्रैटेजिक भागीदारी की है। सेमिनल ट्रेड कंपनी ने एमएसएमई निदेशालय, हरियाणा के साथ माननीय उप मुख्यमंत्री, दुष्यंत चौटाला की उपस्थिति में एक आवश्यक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं। इस समझौते के तहत सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों को डिजिटल रूप से लैस करने में मदद की जाएगी। इसके लिए उन्हें बिजनेस परफॉर्मंस, प्रोडक्टिविटी और मार्केट रेवेन्यू बढ़ाने के लिए आवश्यक टेक्नोलॉजी और इनोवेशन में मदद की जाएगी।

देश में असंख्य एमएसएमई की आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए समर्पित अपने अत्याधुनिक ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म और अलग-अलग यूजर्स की आवश्यकताओं के अनुसार कस्टमाइज्ड डिजिटल खाता सेवाओं के माध्यम से यह स्ट्रैटेजिक भागीदारी प्रीमियर ट्रेडिंग कंपनियों और हरियाणा सरकार को जोड़ने में सहायता करेगा, जिससे उभरते व्यवसायों को उत्कृष्टता की नई ऊंचाइयों तक पहुंचने में मदद मिलेगी। दोनों पक्षों के बीच जिस समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए हैं, उसके तहत ट्रेडइंडिया की ओर से हरियाणा की एमएसएमई के लिए कई जागरुकता अभियान चलाए जाएंगे। साथ ही गो डिजिटल वेबिनार का आयोजन होगा और मासिक मास्टर क्लास भी होगी, जिससे एमएसएमई को ऑनलाइन जाने और मार्केट बढ़ाने की संभावनाओं का पता लगाना आसान होगा।

प्रमुख ऑनलाइन ट्रेडिंग कंपनी कस्टमर ऑनबोर्डिंग के लिए आदर्श अनुकूलित नई-पीढ़ी के तकनीक प्लेटफॉर्म विकसित कर ऑन-बोर्डिंग सहायता भी प्रदान करेगा। कंपनी ऑनलाइन प्रोफाइल बनाने में मदद करेगी और 50 प्रोडक्ट्स का मुफ्त प्रमोशन करेगी। यह नए खरीदारों से जुड़ने में व्यवसायों के लिए महत्वपूर्ण साबित होगी। हरियाणा के एमएसएमई ट्रेडइंडिया के अत्याधुनिक ऑनलाइन बिजनेस प्लेटफॉर्म पर एक मुफ्त कंपनी प्रोफाइल पेज का लाभ उठा सकेंगे।

इस भागीदारी पर टिप्पणी करते हुए माननीय उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा, “हमारी सरकार राज्य में उद्यमशीलता को बढ़ावा देने, समावेशी और संतुलित क्षेत्रीय विकास को बढ़ाने पर केंद्रित है। यह रणनीतिक सहयोग एमएसएमई, राज्य के दूरदराज के हिस्सों में रहने वाले कारीगरों की मदद करेगा, ताकि घरेलू और अंतरराष्ट्रीय बाजारों तक उनकी सीमित पहुंच की चुनौतियों को दूर किया जा सके। यह न केवल मौजूदा उद्यमियों की बिक्री को बढ़ावा देगा, बल्कि नए उद्यमियों के लिए भी अभूतपूर्व अवसर पैदा करेगा। इस पहल के माध्यम से हमारा लक्ष्य राज्य से स्वदेशी और विशेष उत्पादों की दृश्यता को बढ़ाने का है, यह औद्योगिक उत्पाद, या पारंपरिक हस्तशिल्प उत्पाद और 'ब्रांड हरियाणा' को और मजबूत करेगा।

Comments