48 लाख विवादित कपड़े की थैलियों के प्रस्ताव को पास करने को लेकर मिली मंजूरी, स्थायी समिति की बैठक में खरीदने का प्रस्ताव हुआ मंजूर


रिपोर्ट : यशपाल शर्मा

मुंबई : स्थायी समिति अध्यक्ष यशवंत जाधव के प्रभाग में तकरीबन 1 करोड़ 48 लाख रुपयों की कपडों की थैलियों का वितरण किये जाने का रास्ता साफ हो गया है। गौरतलब हो कि पूर्व में 85 हजार थैलियों की खरीदी करने का प्रस्ताव का मामला वाद विवादों में पड़कर उलझकर रह गया था। आखिर में बुधवार को हुई स्थाई समिति बैठक में थैलियों के खरीदी करने को लेकर प्रस्ताव दुबारा से आया, जिसमें 85 की बजाये 48 लाख थैलियों को खरीदेगी मनपा, उस प्रस्ताव को मंजूरी मिल गई।

जाधव के प्रभाग के नागरिकों को प्लास्टिक की थैलियों का पर्याय के तौर पर कपड़े की सिलाई की हुई थैलियों को बजट में प्रावधान 1 करोड़ 50 लाख रुपए किया गया था। इन थैलियों को खरीदने के लिये मंगाई गई निविदाओं पर भाजपा नगरसेवक विनोद मिश्रा ने आक्षेप विरोध दर्ज करवाया था। जिसके कारण महेंगे भावों में खरीदने की शिकायत मनपा आयुक्त इक़बाल सिंह चहल से लिखित तौर पर किया था। निवेदिता की दर प्रति थैली कपड़े की 161 रुपए होती थी। मुंबई महापालिका कंगाली के कगार पर पहुंचने के बाद, इतनी महेंगी थैली खरीदने का, ऐसे समय क्या जरूरत  है। ऐसा सवाल भाजपा नगरसेवक विनोद मिश्रा ने उठाया था। दूसरा यशवंत जाधव के प्रभाग में 50 हजार की जनसंख्या होते हुए अधिक थैलियाँ क्यों खरीदी जा रही है, ऐसा भी सवाल भाजपा नगरसेवक विनोद मिश्रा ने उठाया था।

आखिर में बुधवार को थैलियो को खरीदी प्रस्ताव टेबल पर दुबारा से आया। इस खरीदी प्रस्ताव पर कितनी थैलियां और कितने दरों में खरीदी जायेंगी इसका सही तरीके से जानकारी नही उपलब्ध करवाई गई है। जिसको लेकर भाजपा ने इस प्रस्ताव को रोककर रखा था। गौरतलब हो कि मनपा के रणनीतिक गलियारों में ऐसी भी चर्चा तेज हो चुकी है कि एक अदद से भाजपा नगरसेवक नेता ने कभी अपने साथी नगरसेवकों के बीच फण्ड लाने का टैलेंट होने की  शेखी बघारने वाले हावा में उड़ने वाले अध्यक्ष को आखिर में जमीन पर ला दिया। 

स्थाई समिति अध्यक्ष यशवंत जाधव के विनंती करने पर प्रस्ताव पर सभी राजनीतिक पक्षों ने मंजूरी ,समर्थन देने के बाद मंजूर किया गया। आजकल स्थाई समिति के सदस्यों को प्रस्ताव पास करने के लिये विनंती करनी पड़ रही है। 


Comments