सरकारी भूखंडों पर अतिक्रमण होने के कारण, विकासकारी परियोजनाएं प्रभावित हुई है - संजय तुरर्डे

मुंबई : कुर्ला एल /वार्ड अंतर्गत आने वाले विभिन्न वार्डो की सरकारी भूखंडों पर अतिक्रमण होने  कारण कई सारी विकासकारी परियोजना अटके पड़े होने का खुलासा कुर्ला एल वार्ड के वार्ड क्रमांक.166 के मनसे नगरसेवक संजय तुरर्डे ने किया। जिसमे 4 वर्ष के कार्यकाल में वार्ड क्रमांक 166.को बहुत हद तक जनसमस्या रहित वार्ड बनाने का प्रयास किया है। जिसके तहत अपने वार्ड की 50 हजार के करीब जनता की लगने वाली मूलभूत जन सुविधाओं को पहले पूरा करने का कार्य किया है। बकाया 10 से 15 प्रतिशत तक वार्ड की जनता का कार्य अभी बकाया 6 महीने में पूरा करने के आश्वाशन दिया है।

सौंदर्यकरण करके वार्ड की काया पलट

वार्ड के विभिन्न जगहों में सौन्दर्यकरण करने के लिये 3 करोड़ रुपए का फण्ड मनपा से पास करवाया है। फिर चाहे वो मनपा का तालाब ही क्यों न हो।

श्मशान भूमि की करवाई सुविधा

इसके तहत 35 लाख तक का श्मशान भूमि का फण्ड जारी कर के श्मशान भूमि तैयार करवाई है। इसके अलावा वार्ड की जनता को 11 नये शौचालय की सुविधा उपलब्ध करवाई, 8 सडको को नया बनाने का काम अभी बाकी है।बढ़ते ट्रैफिक की समस्या को लेकर स्थानीय नगरसेवक के अनुसार पर्किंग जोन दारू के अड्डा के तौर पर बदल चुका है। असमाजिक तत्वों का कब्जा है। रोजाना शाम के वक़्त नाशा करने वाले नशेडियों का कब्जा हो जाता है।जिससे पर्किंग न होने के कारण सड़क किनारे बेलगाम तरीके से गाड़ियां खड़ी करने समस्या के कारण ट्रैफिक की समस्या चरम पर पहुंच चुकी है। कहा जाता है कि कुर्ला न्यू मिल रोड़, छत्तरपति शिवाजी महाराज, तरुण मित्र मंडल जैसे मैदानो पर नशेडियों का सुबह से लेकर शाम तक कब्जा है। शिक्षा के क्षेत्र में वार्ड के मनपा स्कूलों में क्या बदलाव देखने को मिलने के सवाल पर कहा कि 3 मनपा स्कूल आते है। तीनों ठीक चल रहे है, वही स्कूलों के बारे में बताते हुए कहा कि जब तक मनपा स्कूलों का पढ़ाई का स्तर नही बदलेगा तब तक हम विद्यार्थियों के माता पिता का मन नही बदल सकते है। आरोग्य के क्षेत्र में हमारे यहां पर सिर्फ एक हेल्थ पोस्ट आता है। पूर्व में हमने विभिन्न एनजीओ के सहयोग से महिलाओं के लिये मैटरनिटी हॉस्पिटल बनाने की मांग अर्जी लिखकर किया था।जिसे कुर्ला एल वार्ड मनपा प्रशासन ने मैटरनिटी हॉस्पिटल के लिये सरकारी जमीन उपलब्ध न होने का कारण  बताकर मैटरनिटी हॉस्पिटल की मांग को सिरे से खारिज कर दिया।

Comments