कोरोना महामारी को लेकर मनपा बालकल्याण समिति की लापरवाही उजागर, बालसुधार गृह के बच्चों पर मंडराया कोरोना का खतरा

मुंबई : एक बार फिर से कोरोना कि दूसरी लहर का साया मडरा रहा है। नये कोरोना मामलो के तौर पर सामने आने के बाद राज्य सरकार के मुख्यमंत्री कार्यालय, आरोग्य मंत्रालय तक एक्शन मोड़ में आ चुके है। उल्लेखनीय तौर पर मुंबई करो पर दुबारा से लॉक डाउन से बचाया जा सके। इसके लिये राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे मंत्रिमंडल के सहयोगियों के साथ मिलकर रात-दिन काम कर रहे है। इन सबकी मुहिम को कामयाब बनाने की बजाये कुछ जनप्रतिनिधि, निचले स्तर के प्रशासनिक अधिकारी पालिता लगाने में लगे है। कोरोना काल मे सक्रिय होने की बजाये लापरवाही रवैया अपनाये हुए है।

उल्लेखनीय तौर पर इन सब बातों से अनिभिज्ञ मनपा का बालकल्याण समिति की अध्यक्ष राज राजेश्वरी रेडकर से लेकर प्रशासन के संबंधित विभाग के कुछ अधिकारियों का कोरोना काल की आई मुंबई में दूसरी लहर में रवैये अलग ही देखने को मिल रहा है। मुंबई के अनगिनत बालसुधार गृह के बच्चों को लेकर संपर्क करने पर गैर जिम्मेदारा लापरवाही रवैया अपनाने के कारण देखने को मिली है। गौरतलब हो कि संबंधित अखबार के पत्रकार ने मनपा बालकल्याण समिति अध्यक्ष राज राजेश्वरी से मुंबई के बालसुधार गृह को लेकर सवाल पूछा तो सीधा पल्ला झड़ते हुए कहा कि पहले आईकार्ड दिखाओ फिर जवाब दूंगी।

गौरतलब हो कि पूर्व कोरोना काल के समय मुंबई उपनगर के मानखुर्द स्थित मानखुर्द चिल्ड्रन होम सोसाइटी के करीब 20 बच्चों समेत स्टॉफ कोरोना पॉजिटिव पाये गये थे। वहीं मुंबई के अनगिनत बालसुधार गृह में रहे बच्चों की सुरक्षा को लेकर संबंधित प्रशासनिक अधिकारियों से जानना चाहा मनपा आयुक्त, महापौर किशोरी पेडणेकर ने कहा कि इस बारे में मुझे जानकारी नही है। संबंधित विभाग के अधिकारियों से जानकारी लुंगी। वहीं अतिरिक्त आयुक्त पूर्व उपनगर अश्विनी भिड़े, संजीव जैसवाल अतिरिक्त आयुक्त शहर, अतिरिक्त आयुक्त सुरेश काकानी पश्चिम उपनगर, मनपा एम-पूर्व/पश्चिम के उपायुक्त भारत मराठे, एम पूर्व के सहायक आयुक्त अजित नरवाड़े से  फ़ोन पर संपर्क करने पर संपर्क नहीं हो पाया ।

Comments