यशवंत जाधव के खिलाफ, प्रवीण दरेकर ने पोलिस आयुक्त से तुरंत कार्रवाई करने की मांग की

मुंबई : मनपा में भाजपा नेता विनोद मिश्रा को व्हाट्सएप पर स्थायी समिति के अध्यक्ष यशवंत जाधव का व्हाटऐप्स पर जान से मारने की धमकी का मामला गर्माने के कारण राजनीतिक गलियारों में तूल पकड़ता जा रहा है। जिससे सत्ताधारी राज्य की महाविकास आघाडी सरकार के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के मंत्री संजय राठौड़ को बचाने का आरोप लगने के कारण फजीहत झेल रही है, वहीं अब दूसरी और जाधव मामले में बढ़ चुकी किरकिरी पार्टी की छवि को धूमिल कर रही है। कहा जाता है कि जाधव पूर्व की भांति अपने बचाव में कभी शिवसेना पार्टी तो कभी महापौर को अपने बचाव में ढाल बनाने में लगा  है।

सूत्रों की बातों में अगर गौर करें तो स्थाई समिति के अध्यक्ष के धमकी देने का विवाद कोई नया नही है। बीजेपी के सचिन पाटिल से अनुसार जाधव ने एक बिल्डर को बीएमसी का टेंडर वापस लेने की धमकी दे चुके है। मनपा में रंकापा नगरसेवक कप्तान मालिक, विपक्षी नेता रवि राजा, जाधव के गुस्से का शिकार हो चुके है। कहा जाता है कि जाधव मनपा के विभिन्न नगरसेवकों के बीच अंडरवर्ल्ड के संबंधों की धौंस दिखाने के लिये चर्चित है।

उल्लेखनीय तौर पर अब यशवंत जाधव मामले में मुंबई मनपा भाजपा नगर सेवक विनोद मिश्रा ने पुलिस में इस बारे में लिखित शिकायत कुरार पोलिस स्टेशन में दर्ज कराई है। चार दिन बाद भी पुलिस प्रशासन द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई है। इस संबंध में, विधान परिषद में विपक्ष के नेता प्रवीण दरेकर और मुंबई भाजपा अध्यक्ष मंगल प्रभात लोढ़ा ने मुंबई के पुलिस आयुक्त परमवीर सिंह से मुलाकात की और यशवंत जाधव के खिलाफ तत्काल कार्रवाई की मांग करते हुए अदालत जाने की चेतावनी दी।

बता दे कि भाजपा के नगरसेवक विनोद मिश्रा ने सत्ताधारी दल पर बीएमसी में विकास निधि में गड़बड़ी का आरोप लगाया है। मिश्रा ने प्रेस कांफ्रेंस लेकर यशवंत जाधव पर अधिक धनराशि लेकर वार्ड नंबर. 209 में अपनी स्थाई समिति अध्यक्ष के तौर पर मिले सरकारी अधिकार, शक्तियों के दुरुपयोग का भी आरोप लगाया था। इसी के बाद स्थायी समिति के अध्यक्ष जाधव ने धन आवंटन के बारे में सवाल उठाने पर मिश्रा को व्हाट्सएप पर जान से मारने की धमकी दी थी। मिश्रा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में जाधव द्वारा अपने मोबाइल फोन पर भेजी गई धमकी का स्क्रीनशॉट पेश किया। पुलिस में लिखित शिकायत दर्ज कराने के बावजूद पुलिस प्रशासन ने जाधव के खिलाफ कार्रवाई करने से परहेज किया है। पोलिस आयुक्त से मिलने पर मुंबई भाजपा अधक्षय मंगल लोढ़ा ने कहा कि सत्ताधारी दल व बीएमसी प्रशासन मिलकर जनता की टैक्स के रूप की कमाई की लूट मचा रखी है। भाजपा ऐसे भ्रष्टाचार के मामलों को आगे भी उजागर करेगी।

Comments