नगरविकास मंत्रालय ने दिया मनपा के पूर्व आयुक्त और उपायुक्त सहित 6 लोगों पर केस दर्ज करने का निर्देश

रिपोर्ट : प्रमोद कुमार

कल्याण : कल्याण के रामबाग  स्थित मनपा की संत सावलाराम भाजी मंडी में अवैध रूप से कब्जा कर विजय सेल्स नामक इलेक्ट्रॉनिक शो-रूम चलाने वाले गुप्ता बंधु और केडीएमसी  के पूर्व आयुक्त सहित 6 लोगों के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज कर उसे आर्थिक अपराध शाखा मुंबई  से जांच कराने का आदेश नगरविकास विभाग मंत्रालय ने दिया है। महाराष्ट्र शासन द्वारा दिए गए निर्देश के बाद केडीएमसी मुख्यालय में खलबली मच गई है।  महाराष्ट्र नगरविकास मंत्रालय द्वारा भेजे गए पत्र में शो-रूम के मालिक नानू गुप्ता, निलेश गुप्ता, आशीष गुप्ता और त्रिमूर्ति इंटरप्राइजेज के मालिक आशीर्वाद बोंदरे के अलावा कल्याण डोंबिवली मनपा के पूर्व आयुक्त गोविंद बोड़के सहित मालमत्ता विभाग के सेवानिवृत्त उप आयुक्त सुरेश पवार का नाम शामिल है। इन 6 लोगों पर मुकदमा दर्ज करने का स्पष्ट आदेश शासन ने दिया है। बताया जाता है कि संत सावलाराम सब्जी मंडी का एक पूरा फ्लोर  कब्जा किया गया है,जिसमें विजय सेल्स नामक इलेक्ट्रॉनिक शो-रूम चलाया जा रहा है। आश्चर्य की बात यह है कि मनपा के इस प्रॉपर्टी का लाखों रुपए भाड़ा कोई पाठक नामक व्यक्ति लेता है, जिसकी पुष्टि खुद विजय सेल्स के मैनेजर ने की है। बताया जाता है कि इस मंडी में करीब 354 दुकानें थीं, जिसमें कुछ दुकानें दिव्यांगों के लिए बनाई गई थी। जब दिव्यांगों को दुकानें नहीं मिली तो शंकर सालवे नामक विकलांग व्यक्ति ने इसकी शिकायत की,उसके बाद इस मामले का पर्दाफाश हुआ। इस मामले में जब विजय सेल्स के मालिक और संचालक से बात की गई तो उन्होंने टालमटोल करते हुए जवाब नहीं दिया। वहीं केडीएमसी के वर्तमान आयुक्त डॉ. विजय सुर्यवंशी ने इस बारे में  कहा कि हमने जांच के आदेश दे दिए हैं और जल्द से जल्द कार्रवाई की जाएगी। 

गौरतलब है कि इस मामले की जांच हो चुकी है। केडीएमसी प्रशासन के रिपोर्ट के बाद नगरविकास मंत्रालय ने स्पष्ट निर्देश दिया है कि गुप्ता बंधुओं सहित तत्कालीन आयुक्त और उप आयुक्त सहित त्रिमूर्ति इंटरप्राइजेज के मालिक बोंदरे पर आपराधिक मामला दर्ज कर जांच की प्रक्रिया आर्थिक अपराध शाखा मुंबई को देकर शासन और शिकायतकर्ता को अवगत कराया जाये।

Comments