मानखुर्द मंडाला झोपड़पट्टी से 3 गुटका तस्कर गिरफ्तार, 5 लाख का माल बरामद

मानखुर्द मंडाला की झोपड़पट्टी बनी गुटका तस्करों के हॉट स्पॉट

मुंबई : मानखुर्द पोलिस ने शुक्रवार को तीन गुटका तस्करों को गिरफ्तार किया था। जिनके पास से करीब 5 लाख का गुटका का जखीरा बरामद हुआ था। वही पुलिस गुटके के माल के मुख्य सरगना की तलाश कर रही है। अतिरिक्त पुलिस आयुक्त संजय दराडे की देख रेख में हुई यह करवाई में मानखुर्द पुलिस ने 3 गुटका तस्कर को गिरफ्तार करने में कामयाब हुई थी। पकड़े गये आरोपियों के नाम शशि कुमार, सीताराम सहनी, महेश कुमार बुद्धुलाल साहू। इनके पास से अलग अलग कंपनियों के नाम का तकरीबन 5 लाख रुपए का गुटका बरामद किया है।मामले की जांच पुलिस उप निरीक्षक अभिमन्यु पाटिल कर रहे है। गौरतलब हो कि मुंबई के विभिन्न इलाकों की झोपड़पट्टीयां गुटका तस्करों के हॉट स्पॉट बनता जा रहा है। जिसके कारण गुजरात से आने वाला गुटके का माल सीधा भिवंडी होते हुए मुंबई के विभिन्न झोपड़पट्टियों में लंबी लंबी चालियों के भीतर गोदाम बनाकर माल का सौदा करते है। जिसके कारण गुटका माफियाओ की आड़ लेकर मुंबई शहर में नशे का कारोबार करने वाले तस्कर भी इन गुटका माफियाओ की आड़ लेकर अपना कारोबार संचालित कर रहे है।

सूत्रों के अनुसार क्षेत्र के पुलिस को इन गुटका माफियाओं के बारे में ऐसा नही है कि जानकारी नही है। लेकिन अधिकांश गुटका माफिया अपनी राजनीतिक पहुंच या राजनीतिक चादर ओढ़कर गुटके धंधे में सक्रिय है। पुलिसिया करवाई को अपनी राजनीतिक प्रभाव का उपयोग कर दबाते रहते है। मुंबई के बाहर भिवंडी के बाद गोवंडी इलाके का मानखुर्द मंडाला गुटका तस्करों के प्रमुख केंद्र बनकर उभर चुका है। बताया जाता है कि मंडाला झोपड़पट्टियों में अक्सर लोकल पुलिस से लेकर क्राइम ब्रंच के अधिकारियों को खुद धंधे वाले अपने प्रतिद्वंदियों को नीचा दिखाने के लिये रेड करवाते है। 

कहा जाता है कि लॉक डाउन में गुटके का छापा क्राइम ब्रांच की यूनिट 3 के पुलिस अधिकारियों ने 49 लाख का गुटका 1 करोड़ रुपए नगद छापा मारकर राजेश और उसकी पत्नी को मंडाला से माल और नगद राशि के साथ गिरफ्तार किया था। जिसे कहा जाता है पुलिस ने सिर्फ नगद 50 लाख रुपए बरामदगी दिखाई, बकाया पैसे का कोई पता नही चला।

Comments