अदाणी ट्रांसमिशन लिमिटेड वित्त वर्ष 21 की तीसरी तिमाही का समेकित परिणाम

नकद लाभ 30%वर्ष-दर-वर्ष बढ़कर 699करोड़ रुपये, पीएटी 128% वर्ष-दर-वर्ष बढ़कर 464 करोड़ रुपये

सार-संक्षेप

वित्त वर्ष 21 की तीसरी तिमाही की परिचालन संबंधी विशेषताएं:

ट्रांसमिशन

• 99.83% पर रोबस्ट ट्रांसमिशन सिस्टम की उपलब्धता वितरण

• 99.99% (एएसएआई) पर आपूर्ति विश्वसनीयता बनाए रखी

• ग्राहकों द्वारा डिजिटल माध्यमों को अपनाने में कई गुना वृद्धि; कुल संग्रह के प्रतिशत के रूप में ई-भुगतान वित्त वर्ष 20 की तीसरी तिमाही के 48.81% के मुकाबले बढ़कर वित्त वर्ष 21 की तीसरी तिमाही में 63.46% हुआ।

वित्त वर्ष 21  की तीसरी तिमाही में (वर्ष-दर-वर्ष) वित्तीय विशेषताएं:

  • नकद लाभ 30% बढ़ कर 699 करोड़ रुपये हुआ
  • पीबीटी 55% की वृद्धि दर्ज कर 472 करोड़ रुपये हुआ; पीएटी 128% बढ़ कर 464 करोड़ हुआ
  • ईपीएस वित्त वर्ष 20 की तीसरी तिमाही के 0.93रुपये के मुकाबले 231%बढ़ कर 3.08रुपये रहा
  • समेकित परिचालन ईबीआईटीडीए वित्त वर्ष 20 की तीसरी तिमाही के 1,060 करोड़ रुपये के मुकाबले 6%बढ़कर1,125 करोड़ रुपये हुआ
  • ट्रांसमिशन परिचाल नई बीआईटीडीए 92.3%की मार्जिन के साथ 4% बढ़ कर 650 करोड़ रुपये हुआ
  • वितरण परिचालन ईबीआईटीडीए29.9% की मार्जिन के साथ 10%अढ़ कर 475 करोड़ रुपये रहा

अन्य वित्तीय मुख्य विशेषताएं

  • वित्त वर्ष 21की पहली तिमाही में एमईजीपीटीसीएल के संबंध में अनुकूल नियामक आदेश की घोषणा के साथ, एटीएल का समेकित ईबीआईटीडीए का वार्षिक आवर्ती लाभ ~ 60 करोड़ रुपसे होगा

अहमदाबाद : विश्व स्तर पर सक्रिय विविधताओं वाले अदाणी ग्रुप के एक हिस्से, भारत की सबसे बड़ी निजी ट्रांसमिशन कंपनी, अदाणी ट्रांसमिशन लिमिटेड ("एटीएल")ने आज 31 दिसम्बर, 2020 को समाप्त हुई तीसरी तिमाही के लिए अपने वित्तीय और परिचालन प्रदर्शन की घोषणा की।

परिचालन संबंधी मुख्य विशेषताएं :

विवरण वित्त वर्ष 21 की तीसरी तिमाही वित्त वर्ष 20  की तीसरी तिमाही वित्त वर्ष 21 के नौ महीने वित्त वर्ष 20  के नौ महीने

ट्रांसमिशन

औसत उपलब्धता (%) 99.83% 99.59% 99.87% 99.73%

ट्रांसमिशन नेटवर्क जोड़े गये (सीकेटी किमी) 650 0 749 1,288

Distribution

आपूर्ति विश्वसनीयता (%) 99.99% 99.99% 99.99% 99.99%

वितरण हानि (%)(2) 6.70% 8.69% 7.90% 7.89%

बेची गईं इकाइयाँ (एमयू)(2) 1,874 2,068 5,343 6,647

संग्रह दक्षता (%) 109.89% 103.94% 96.28% 100.29%

  • अलीपुरद्वार अधिग्रहण के साथ तीसरी तिमाही में ट्रांसमिशन नेटवर्क में 650 सीकेटी किलोमीटर जोड़ा गया
  • 99.8% से अधिक पर मजबूत ट्रांसमिशन प्रणाली उपलब्धता
  • जमीन पर चुनौतियों के बावजूद वितरण व्यवसाय ने 99.99% से अधिक आपूर्ति विश्वसनीयता सुनिश्चित की
  • 1HFY21की रिकवरी के कारण, वित्त वर्ष 20 की तीसरी तिमाही के 8.69%की तुलना में, वित्त वर्ष 21 की तीसरी तिमाही में काफी सुधार करते हुए 6.70%रहा
  • वित्त वर्ष 21 की तीसरी तिमाही में एईएमएल में 109.89% संग्रह दक्षता हासिल की गई

वित्तीय विशेषताएं - ट्रांसमिशन और वितरण :

विवरण (करोड़ रुपये)   वित्त वर्ष 21 की तीसरी तिमाही वित्त वर्ष 20 की तीसरी तिमाही वर्ष-दर-वर्ष % वित्त वर्ष 21 के नौ महीने वित्त वर्ष 20 के नौ महीने वर्ष-दर-वर्ष %

ट्रांसमिशन

परिचालन राजस्व(1) 704 679 4% 2,072 2,021 3%

परिचालन ईबीआईटीडीए(1) 650 627 4% 1,917 1,864 3%

मार्जिन (%) 92.3% 92.3% 92.3% 92.2%

वितरण

राजस्व 1,588 1,893 -16% 4,492 5,996 -25%

परिचालन ईबीआईटीडीए 475 433 10% 1,279 1,315 -3%

मार्जिन (%) 29.9% 22.9% 28.5% 21.9%

  • तीसरी तिमाही में 92.3% के मजबूत मार्जिन के साथ, स्थिर ट्रांसमिशन व्यवसाय ने704 करोड़ रुपये का परिचालन राजस्व और 650 करोड़ रुपये का परिचालन ईबीआईटीडीए दिया
  • परिचालन राजस्व में 16% की गिरावट के बावजूद, तीसरी तिमाही में वितरण कारोबार परिचालन ईबीआईटीडीएमें 10% की वृद्धि हुई

 वित्तीय विशेषताएं - समेकित:

विवरण(करोड़ रुपये)   वित्त वर्ष 21 की तीसरी तिमाही वित्त वर्ष 20 की तीसरी तिमाही वर्ष-दर-वर्ष % वित्त वर्ष 21 के नौ महीने वित्त वर्ष 20 के नौ महीने वर्ष-दर-वर्ष %

राजस्व (1)   2,292 2,572 -11% 6,564 8,017 -18%

परिचालन ईबीआईटीडीए(1) 1,125 1,060 6% 3,196 3,180 1%

पीबीटी 472 305 55% 1,250 890 40%

पीएटी 464 204 128% 1033 648 60%

ईपीएस (रुपये) 3.08 0.93 231% 7.36 3.13 135%

  • समेकित परिचालन राजस्व वित्त वर्ष 21 की तीसरी तिमाही में 2,292करोड़ रुपये कम था, जो मुख्य रूप से कमर्शियल और औद्योगिक सेगमेंट में कम बिजली की खपत के कारण इस तिमाही में वितरण कारोबार से थोड़ा कम राजस्व योगदान के कारण हुआ। हालांकि, वित्त वर्ष 21 की पहली छमाही की तुलना में,दिसम्बर 20 को समाप्त हुई तिमाही में मांग और संग्रह दोनों में काफी सुधार देखा गया।

अन्य मुख्य विशेषताएं:

  • एटीएल ने वित्त वर्ष 21की पहली तिमाही में घोषित अलीपुरद्वार ट्रांसमिशन अधिग्रहण पूरा किया
  • कंपनी के इंटरफेस के लिए डिजिटल माध्यम को अपनाने में कई गुना वृद्धि हुई जो वित्त वर्ष 20के नौ महीनोंके 47.76%के मुकाबले वित्त वर्ष 21के नौ महीनों में 69.53% (कुल संग्रह के% के रूप में ई-भुगतान) रही
  • अदाणी ट्रांसमिशन और अदाणी इलेक्ट्रिसिटी ने द एसेट कंट्री अवार्ड्स 2020 में प्रमुख अवार्ड हासिल किये। अदाणी ट्रांसमिशन ने अपने 400 मिलियन अमेरिकी डॉलर के प्राइवेट प्लेसमेंट फिक्स्ड रेट नोट्स के लिए 'बेस्ट कॉरपोरेट बॉन्ड' का पुरस्कार जीता। अदाणी इलेक्ट्रिसिटी मुंबई लिमिटेड ने अपने 1 बिलियन अमेरिकी डॉलर फिक्स्ड रेट सीनियर नोट्स के लिए 'बेस्ट न्यू बॉन्ड अवार्ड' प्राप्त किया।

टिप्पणियाँ:

  1. वित्त वर्ष 21के नौ महीने के परिचालन राजस्व और परिचालन ईबीआईटीडीए में ट्रांसमिशन व्यवसाय के एमईजीपीटीसीएल एसपीवी के पक्ष में एपीटीईएल के आदेश से प्राप्त 330 करोड़ रुपये का वन-टाइम पॉजिटिव इम्पैक्ट शामिल नहीं है।
  2. 19 जनवरी 2021 को जारी हमारे प्रोविजनल परिचालन रिलीज से वितरण हानि और यूनिट्स थोड़ा अलग हैं
  3. नकद लाभ की गणना पीएटी + मूल्यह्रास + डेफर्ड टैक्स + एमटीएम विकल्प हानि के रूप में की जाती है
  4. एएसएआई: औसत सेवा उपलब्धता सूचकांक; एपीटीईएल: बिजली के लिए अपीलीय न्यायाधिकरण

कंपनी के प्रदर्शन के बारे में बताते हुए, अदाणी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अदाणीने कहा कि “ बिजली एवं ट्रांसमिशन सेक्टर ने पिछले दो दशकों में जबरदस्त प्रगति की है। आजसौभाग्य जैसी सरकारी पहलों और रिन्यूएबल पर जोर देने के कारण बिजली की पहुंच में काफी विस्तार हुआ है। अगले दो दशक वैश्विक महामारीके बाद अर्थव्यवस्था की पुनर्बहाली और सकारात्मक निवेशक दृष्टिकोण पर आधारित क्षेत्र के लिए नए अवसर प्रदान करेंगे। एटीएल वैश्विक रिन्यूएबल ऊर्जा की महत्वपूर्ण मौजूदगी के साथ एक राष्ट्र की जरूरतों के अनुरूप भविष्य बनाने के लिए पूरी तरह से तैयार है।”

अदाणी ट्रांसमिशन लिमिटेड के एमडी और सीईओ, अनिल सरदाना ने कहा कि “अदाणी ट्रांसमिशन ने पिछले कुछ वर्षों में अपनी विकास यात्रा को साकार किया है। इसने पूर्वी क्षेत्र में अभी एक और ट्रांसमिशन परिसंपत्ति का सफलतापूर्वक अधिग्रहण और एकीकरण किया है। एटीएल लगातार बेस्ट-इन-क्लास होने के लिए बेंचमार्किंग कर रहा है तथा विकास के एजेंडे के साथ विश्व स्तरीय एकीकृत यूटिलिटी बनने के लिए केंद्रित दृष्टिकोण अपना रहा है, जिसके लिएएटीएल रणनीतिक और परिचालन पहलुओं को जोखिममुक्त बनाने, पूंजी संरक्षण करने, उच्च क्रेडिट गुणवत्ता सुनिश्चित करने और व्यावसायिक उत्कृष्टता और उच्च शासन मानक के लिए रणनीतिक साझेदारी बनाने पर ध्यान दे रहा है। स्वास्थ्य और वैश्विक महामारी की समस्याओं से पैदा हुई चुनौतियों के बावजूद, एटीएल 24x7 गुणवत्तापूर्ण विद्युत आपूर्ति बनाये हुए है। मजबूत ईएसजी फ्रेमवर्क बनाने और सुरक्षा संस्कृति अपनाने के लिए किये जा रहे काम का अटूट संबध, एटीएल केसभी हितधारकों के लिए दीर्घकालिक मूल्य निर्माण करने के लक्ष्य से है।”

Comments
Popular posts
Mumbai : ‘काव्य सलिल’ काव्य संग्रह का विश्व पर्यावरण दिवस पर विमोचन और सम्मान पत्र वितरण समारोह आयोजित
Image
New Delhi :पर्यावरण संरक्षण महत्व व हमारा अस्तित्व पर 'एम वी फाउंडेशन' द्वारा विराट कवि सम्मेलन का आयोजन
Image
Mumbai : महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस कमिटी पर्यावरण विभाग के प्रदेश उपाध्यक्ष साहेब अली शेख, मुंबई अल्पसंख्यक अध्यक्ष व नगर सेवक हाजी बब्बू खान, दक्षिणमध्य जिलाध्यक्ष हुकुमराज मेहता ने किया वृक्षारोपण
Image
मानव पशु के संघर्ष पर आधारित फिल्म 'शेरनी' मेरे दिल के करीब है – विद्या बालन
Image
पावस ऋतु के स्वागत में ‘काव्य सृजन’ की ‘मराठी काव्य’ गोष्ठी
Image