वित्त वर्ष 21 की तीसरी तिमाही के लिए 61% वर्ष-दर-वर्ष की वृद्धि के साथ एजीईएल की कुल आय 843 करोड़ रुपये हुई
  •  एसईसीआई(1) से 600 मेगावाट की नई पवन-सौर हाइब्रिड परियोजना मिलने के साथ एजीईएल की कुल क्षमता 14,815 मेगावाट हो गई
  • वित्त वर्ष 21 में आज की तारीख तक 700 मेगावाट के साथ एजीईएल की परिचालन क्षमता 3,245 मेगावाट हुई 
  • वित्त वर्ष 21 की तीसरी तिमाही में एनर्जी सेल्स 31% वर्ष-दर-वर्ष बढ़कर 1,303 मिलियन यूनिट्स हुई

सार-संक्षेप

♦ अदाणी ग्रुप और टोटल ने रणनीतिक गठबंधन को मजबूत किया, टोटल ने अदाणी प्रोमोटर ग्रुप से एजीईएल में 20% इक्विटी हिस्सेदारी हासिल की

♦ सीआईआई परफॉरमेंस एक्सिलेंस अवार्ड 2020 में पूरे भारत से शीर्ष परफॉरमेंस करने वाले प्लांट्स से में शॉर्टलिस्ट किये गये कर्नाटक के एजीईएल सोलर प्लांट और गुजरात के एजीईएल विंड प्लांट को ‘लीडरशिप इन परफॉरमेंस’ पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

♦ वित्त वर्ष 21 की तीसरी तिमाही में ~ 100% प्लांट की उपलब्धता पर सोलर पोर्टफ़ोलियो और 20.8% की दर से सोलर सीयूएफ में 80 बीपीएस तक परिचालन जारी रखा

♦ वित्त वर्ष 21 की तीसरी तिमाही में कुल ईबीआईटीडीए 74% बढ़कर 638 करोड़ रुपये रहा

♦ वित्त वर्ष 21 की तीसरी तिमाही में पावर सप्लाई से प्राप्त राजस्व 31% की वृद्धि दर्ज करते हुए 591 करोड़ रुपये रहा

♦ वित्त वर्ष 21 की तीसरी तिमाही में पावर सप्लाई से प्राप्त ईबीआईटीडीए 34% वर्ष-दर-वर्ष बढ़कर 532 करोड़ रुपये रहा

♦ पावर सप्लाई से ईबीआईटीडीए मार्जिन, वित्त वर्ष 21 की तीसरी तिमाही में 90% पर ~ 300 बीपीएस वर्ष-दर-वर्ष से बढ़ा

♦ वित्त वर्ष 21 की तीसरी तिमाही में नकद लाभ 33 गुना वर्ष-दर-वर्ष बढ़ कर 285 करोड़ रुपये रहा

  1. कुल क्षमता में परिचालित, कार्यान्वयन वाली और अवार्डेड परियोजनाएं शामिल हैं
  2. नकद लाभ टोटल के वितरण की कटौती से पहले का है (जो इंडएस के अनुसार वित्त लागत का हिस्सा है)


अहमदाबाद : अदाणी ग्रुप की एक कंपनी, अदाणी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड ["एजीईएल"], ने आज 31 दिसंबर, 2020 को समाप्त हुई वित्तीय अवधि के लिए वित्तीय परिणामों की घोषणा की। इस अवधि के लिए परिचालन प्रदर्शन का स्नैपशॉट निम्नलिखित है:

परिचालन प्रदर्शन: विवरण तिमाही प्रदर्शन नौ महीने का प्रदर्शन

वित्त वर्ष 21 की तीसरी तिमाही वित्त वर्ष 20 की तीसरी तिमाही % परिवर्तन वित्त वर्ष 21 के नौ महीने वित्त वर्ष 20 के नौ महीने % परिवर्तन

एनर्जी की बिक्री (मिलियन यूनिट्स) 1,303 995 31% 3,888 3,083 26%

  • सौर (सोलर) 1,200 945 27% 3,420 2,928 17%
  • पवन (विंड) 103 50 106% 468 155 202%
  • सोलर पोर्टफोलियो सीयूएफ (%) 20.8% 20.0% 21.9% 21.7%
  • विंड पोर्टफोलियो सीयूएफ (%) 18.9% 20.9% 28.8% 28.5%

♦ 530 मेगावाट की क्षमता वृद्धि और बेहतर सोलर सीयूएफ के कारण, वित्त वर्ष 2021 में एनर्जी की बिक्री 31% की वृद्धि हुई।

♦ वित्त वर्ष 2021 की तीसरी तिमाही में सोलर सीयूएफ में 20.8% की दर से 80 बीपीएस वर्ष-दर-वर्ष की वृद्धि हुइ्र, जिसमें ~ 100% पर प्लांट की उपलब्धता में 80 बीपीएस वर्ष-दर-वर्ष सुधार और लगातार सोलर इरेडिएशन शामिल रहा।

♦ हवा की धीमी गति (4.9 बनाम 5.6 मीटर/सेकंड वर्ष-दर-वर्ष) की वजह से, वित्त वर्ष 2021 की तीसरी तिमाही में विंड सीयूएफ में 18.9% पर 200 बीपीएस वर्ष-दर-वर्ष की कमी आई, हालांकि वित्त वर्ष 2021 की तीसरी तिमाही में प्लांट उपलब्धता में 94.8% की दर से 630 बीपीएस सुधार से भरपाई हो गयी। विंड सीयूएफ ने वित्त वर्ष 2021 की नौ महीने में 30 बीपीएस से सुधार किया है।

वित्तीय प्रदर्शन : (Rs. Cr.) विवरण तिमाही प्रदर्शन नौ महीने का प्रदर्शन

वित्त वर्ष 21 की तीसरी तिमाही वित्त वर्ष 20 की तीसरी तिमाही % परिवर्तन वित्त वर्ष 21 के नौ महीने वित्त वर्ष 20 के नौ महीने % परिवर्तन

  • कुल आय 843 523 61% 2,439 1,910 28%
  • पावर सप्लाई से प्राप्त आय 591 452 31% 1,729 1,464 18%
  • कुल ईबीआईटीडीए1 638 367 74% 1,917 1,323 45%
  • पावर सप्लाई से ईबीआईटीडीए2 532 397 34% 1,582 1,313 20%
  • पावर सप्लाई से ईबीआईटीडीए (%) 90% 87% 91% 89%
  • नकद लाभ 3 285 9 33x 877 360 2.4x
  1. कुल ईबीआईटीडीए = कुल आय - व्यापार में स्टॉक की खरीद – इनवेंट्रीज में परिवर्तन - कर्मचारी लाभ व्यय - अन्य व्यय
  2. पावर सप्लाई से ईबीआईटीडीए = पावर सप्लाई से प्राप्त राजस्व + शीघ्र भुगतान छूट - कर्मचारी लाभ व्यय - ईपीसी/माल की बिक्री से संबंधित खर्चों को छोड़कर अन्य व्यय
  3. नकद लाभ = पीएटी + मूल्यह्रास + डिफर्ड टैक्स + असाधारण मद + टोटल वितरण (जो इंडएएस के अनुसार वित्त लागत का हिस्सा है)

♦ बढ़ी हुई क्षमताओं और सोलर सीयूएफ में सुधार के कारण, वित्त वर्ष 2021 की तीसरी तिमाही में पावर सप्लाई से प्राप्त राजस्व में वृद्धि हुई।

♦ बेहतर राजस्व प्रदर्शन और ओएंडएम लागत के ऑप्टिमाइजेशन के कारण, वित्त वर्ष 2021 की तीसरी तिमाही में पावर सप्लाई से ईबीआईटीडीए में वृद्धि दर्ज की गई।

♦ बेहतर प्लांट उपलब्धता के कारण, वित्त वर्ष 2021 की तीसरी तिमाही में पावर सप्लाई से प्राप्त ईबीआईटीडीए मार्जिन में ~ 300 बीपीएस से 90% तक सुधार हुआ, जिससे उच्चतर ऊर्जा उत्पादन और ओएंडएम लागत का ऑप्टिमाइजेशन हुआ।

♦ बढ़े हुए राजस्व और ईबीआईटीडीए के कारण, नकद लाभ में महत्वपूर्ण सुधार हुआ।

एजीएल में 20% इक्विटी हिस्सेदारी के अधिग्रहण के साथ, टोटल ने सतत भविष्य के लिए रणनीतिक गठबंधन को मजबूती प्रदान की:

♦ अदाणी और टोटल द्वारा पिछले महीने घोषणा के अनुसार, टोटल ने एजीईएल में अदाणी प्रमोटर ग्रुप के शेयरों में से एजीईएल के 20% इक्विटी हिस्सेदारी का अधिग्रहण किया।

♦ यह लेन-देन अदाणी और 130 से अधिक देशों में उपस्थिति वाली प्रमुख वैश्विक ऊर्जा कंपनी टोटल के बीच रणनीतिक गठबंधन की मजबूती को दर्शाता है।

♦ एजीईएल में निवेश अदाणी ग्रुप और टोटल के बीच के रणनीतिक गठबंधन की दिशा में बढ़ा एक और कदम है, जो अदाणी ग्रुप के विभिन्न व्यवसायों और कंपनियों से संबंधित है, जो पूरे भारत में एलएनजी टर्मिनलों, गैस यूटिलिटी बिजनेस और रिन्यूएबल परिसंपत्तियों में निवेश को कवर करता है। यह अदाणी और टोटल दोनों की प्रतिबद्धता के अनुरूप है, जो भविष्य की सस्टेनेबल अर्थव्यवस्था में अग्रणी भागीदार होंगे और रिन्यूएबल ऊर्जा के विकास के लिए भारत को उसके खोजपूर्ण प्रयास में मदद करेंगे।

♦ टोटल ने एजीईएल के स्वामित्व वाली ऑपरेटिंग सौर संपत्तियों के 2.35 गीगावाट पोर्टफोलियो में 50% हिस्सेदारी और एजीईएल में 20% हिस्सेदारी के अधिग्रहण के लिए 2.5 बिलियन अमेरिकी डॉलर का कुल निवेश किया है।

700 मेगावाट के जुड़ने के साथ, वित्त वर्ष 21 में आज की तारीख तक एजीईएल की परिचालन क्षमता 3,245 मेगावाट हो गई है; वित्त वर्ष 21 की तीसरी तिमाही में 150 मेगावाट की क्षमता जुड़ी है और दिसम्बर 2020 के बाद 295 मेगावाट की क्षमता जुड़ी है:

♦ नवम्बर 2020: तीसरे पक्ष को बिक्री या बिजली विनिमय के लिए, एजीईएल ने राजस्थान के रावरा में 50 मेगावाट के सोलर एनर्जी प्लांट की स्थापना की।

♦ दिसम्बर 2020: एजीईएल ने निर्धारित समय से पहले गुजरात के खिरसरा में 100 मेगावाट के सोलर एनर्जी प्लांट को चालू किया। इस परियोजना के लिए 2.44 रुपये/किलोवाट आवर की दर से गुजरात ऊर्जा विकास निगम इंडिया के साथ एक पावर परचेज एग्रीमेंट (पीपीए) भी किया गया है।

उपरोक्त दिसम्बर 2020 के अलावा, (i) एजीईएल ने कच्छ, गुजरात में 150 मेगावाट का सोलर एनर्जी प्लांट चालू किया (टैरिफ - 2.67 रुपये/किलोवाटआवर), (ii) उत्तर प्रदेश के जलालाबाद में 50 मेगावाट का सोलर एनर्जी प्लांट चालू किया (टैरिफ - 3.22 रुपये/किलोवाटआवर) (iii) उत्तर प्रदेश के सहसवान में 50 मेगावाट सोलर एनर्जी प्लांट चालू किया (टैरिफ - 3.19 रुपये/किलोवाटआवर) (iv) चित्रकूट, उत्तर प्रदेश में 25 मेगावाट सोलर एनर्जी प्लांट चालू किया (टैरिफ-3.08 रुपये/किलोवाटआवर) और (v) उत्तर प्रदेश के महोबा में 20 मेगावाट का ऑपरेटिंग सोलर परिसंपत्ति हासिल करने के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किया (टैरिफ - 7.54 रुपये/किलोवाटआवर)।

कंपनी के तिमाही परिणामों पर टिप्पणी करते हुए, अदाणी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड के चेयरमैन, श्री गौतम अदाणी ने कहा कि “पिछले एक साल में हमने उपलब्ध नए डेटा के आधार पर रिन्यूएबल एनर्जी सेक्टर के लिए अपनी प्रतिबद्धता को तेज किया है। मैं मूल रूप से मानता हूं कि आवश्यकता के साथ-साथ सामर्थ्य को देखते हुए, रिन्यूएबल एनर्जी के लक्ष्यों को बढ़ाना जारी रखा जाएगा। हम मानते हैं कि हमारे पास अपने राष्ट्र की ओर से एक अग्रणी भूमिका निभाने का अवसर है, क्योंकि भारत में डिकार्बनाइजेशन की दर अब तक देखी गई सबसे तेज दरों में से एक है। हम सस्टेनेबिलिटी की अपनी महत्वाकांक्षाओं को और विस्तार देना चाहते हैं, जिसके लिए टोटल के साथ हमारी साझेदारी और उनका अनुभव हमें और भी मजबूत मंच प्रदान करता है।”

अदाणी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड के एमडी और सीईओ, श्री विनीत एस. जैन ने कहा कि ''सीआईआई परफॉरमेंस एक्सिलेंस अवार्ड 2020 में हमारे प्लांट्स को मिला 'लीडरशिप इन परफॉर्मेंस' अवार्ड दर्शाता है कि अदाणी ग्रीन एनर्जी पूरे भारत में सोलर और विंड प्लांट्स के परिचालन प्रदर्शन में अग्रणी बन कर उभरा है।''

जारी वैश्विक महामारी के बावजूद एजीईएल ने अपनी तीव्र क्षमता निर्माण जारी रखा है और इनऑर्गेनिक (मर्जर एवं टेकओवर के कारण पैदा हुए) अवसरों के जरिये, 475 मेगावाट और 225 मेगावाट के प्लांट चालू करके वित्त वर्ष 21 में आज की तारीख में 700 मेगावाट क्षमता को जोड़ा है।

निर्धारित समय से पहले प्लांट्स को चालू करना सुनिश्चित करते हुए 3 साल के अग्रिम संसाधन नियोजन पर हमारे जोर के कारण ही यह संभव हो गया है और हम 2025 तक 25 गीगावॉट चालू करने के अपने लक्ष्य की ओर तेजी से बढ़ना जारी रखेंगे।"

Comments