श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए धनादेश का योगदान

रिपोर्ट : प्रमोद कुमार


ठाणे : मुंबई सहित पूरे देश में राम मंदिर निर्माण के लिए जहां पर धनराशि इकट्ठा की जा रही है।वहीं मुंबई से सटे ठाणे शहर में सभी क्षेत्रों सेवाभाव करने वाली संस्था रुद्रप्रतिष्ठान, जय फाउंडेशन, महाराणाप्रताप संस्था के धनंजय सिंह सिसोदिया ने कहा कि संस्था वैश्विक महामारी कोरोना काल में अपने जान की बाजी लगाकर नागरिकों के सेवा करने के लिए जीवनावश्यक वस्तुओं का वितरण किया गया।उन्होंने बताया कि कोरोना काल में लोगों की सेवा करते हुए इस महामारी के चपेट में आने से पीता को खो दिया है यह कहते हुए भावुक हो गए।साथ ही उन्होंने बताया कि हमारे साथ साथ समुचे देश के नागरिकों ने कुछ न कुछ खोया है। वहीं अयोध्या भगवान श्रीराम मंदिर के निर्माण के विषय पर अपना विचार व्यक्त करते हुए कहा कि भगवान श्रीराम का मंदिर इस देश का गौरव है। इसलिए मंदिर निर्माण के सहयोग राशी के लिए देश के प्रत्येक व्यक्ति का कर्तव्य है। भगवान के जन्मस्थल पर मंदिर का निर्माण कार्य की शुरुआत हो गई है अब रामराज्य भी आयेगा।

उन्होंने बताया कि हमारे पिताजी भगवान श्रीराम व मंदिर को लेकर बड़ी आस्था थी। भगवान वर्षों से माड़व में विराजमान थे लेकिन अब भव्य उनके स्थान का समय आ गया है यह सभी भारतीयों के लिए सौभाग्य की बात है और यह निर्माण कार्य हम अपने आँखों से देखेंगे। वहीं विधायक केलकर ने कहा कि श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए निधी का कार्य पूरे देश में जोर शोर से चल रहा है। जिसमें 5 लाख 23 हजार गांवों में 14 करोड़ परिवारों से 10 रुपये से लेकर लाखों रुपये का निर्माण कार्य के लिए योगदान कर रहे हैं। साथ ही पूर्व सांसद संजीव नाईक ने कहा कि विधायक केलकर ने अभी बताया कि श्रीराम मंदिर का आयोजन व नियोजन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अगुवाई में शुरुआत हुआ है। साथ ही संस्था और धनंजय सिंह के परिवार की खूब सराहना करते हुए कहा कि यह परिवार सेवाभावी परिवार है। इनके परिवार की ओर से 1,11,000 की धनराशि राम मंदिर निर्माण में दिया गया।

इस मौके पर धनंजय सिंह सिसोदिया ने अपने माता जी के हाथों राम मंदिर निर्माण में अपनी माता के हाथों 1,11,000 की धनराशी का सहयोग किया। इस अवसर पर रुद्र प्रतिष्ठान, जय फाउंडेशन और महाराणा प्रताप राजपूत महासंघ की तरफ से आए हुए सभी अतिथियों को सुंदरकांड पाठ के पुस्तक का वितरण किया गया।
Comments