नेशनल गर्ल चाइल्ड डे : दर्शकों के साथ अपने विचार और एक महत्वपूर्ण संदेश एण्डटीवी के सितारों ने किया साझा

मुंबई : लड़कियों को उनके बेहतर और उज्जवल भविष्य के लिये सशक्त और शिक्षित करना बहुत महत्वपूर्ण है और यह आज के समय की मांग भी है। इस संदेश को एण्डटीवी के सितारे मनमोहन तिवारी (रोहिताश्व गौर), अंगूरी भाबी (शुभांगी अत्रे) और पप्पू (मनमोहन तिवारी) आगे बढ़ा रहे हैं, जिन्होंने इस नेशनल गर्ल चाइल्ड डे पर दर्शकों के साथ अपने विचार और एक महत्वपूर्ण संदेश साझा किया है। दो किशोरवयी बेटियों का पिता होने पर गर्व करने वाले रोहिताश्व गौर (मनमोहन तिवारी) ने कहा, ‘‘लड़की ही दुनिया को असीम खूबसूरती, आनंद और प्रेम देती है। पैरेंट्स होने के नाते हमें उन्हें ऊँचा उड़ने के लिये पंख देने चाहिये और उन्हें निडर बनाना चाहिये तथा आत्मसम्मान और स्वाभिमान के साथ दुनिया में रहने के लिये उनकी मदद करनी चाहिये। मैंने अपनी बेटियों को बड़े सपने देखने और ऊँचाइयाँ छूने की कोशिश करने से कभी नहीं रोका। नेशनल गर्ल चाइल्ड डे पर मैं सभी से लड़कियों के अधिकारों और हितों की सुरक्षा करने और उन्हें बढ़ावा देने का संकल्प लेने का आग्रह करता हूँ।’’

मनमोहन तिवारी (पप्पू) को हाल ही में एक बेटी हुई है, उन्होंने कहा, ‘‘इस नेशनल गर्ल चाइल्ड डे पर मैं अपनी बेटी को ‘ना’ कहने का महत्व समझाने का वादा करता हूँ। उसका यह जानना जरूरी है कि अगर वह किसी असुविधाजनक स्थिति में हो, तो उसे परिणाम की चिंता किये बिना ‘ना’ कहने का अधिकार है। मैं यह संकल्प भी लेता हूँ कि जब मेरी बेटी बड़ी होगी और खुद के लिये कोई फैसला करेगी, तो मैं उसे सहयोग दूंगा और उसे जब भी मेरी जरूरत होगी, उसके लिये मौजूद रहूंगा।’’

शुभांगी अत्रे (अंगूरी भाबी) को एक टीनेज बेटी की माँ होने का गर्व है, उन्होंने कहा, ‘‘मैंने हमेशा अपनी बेटी को सिखाया है कि वह तेजतर्रार बने और खुद पर भरोसा करे। आजकल हम सुन रहे हैं कि कई लोग कॅरियर या निजी जीवन के लिये लड़कियों द्वारा लिये गये फैसलों पर उंगली उठा रहे हैं। मैं अपनी बेटी से कहना चाहूंगी कि उसकी सीमा आकाश है और अगर उसे अपने लक्ष्य को पाने का भरोसा है, तो उसे सफलता जरूर मिलेगी। इस नेशनल गर्ल चाइल्ड डे पर मैं चाहती हूँ कि सभी लड़कियाँ समझें कि उन्हें अपने बारे में लोगों की सोच से प्रभावित नहीं होना है, क्योंकि उनके सामने एक बहुत बड़ी जिंदगी है।’’

Comments