भाजपा की छवि खराब करने शिवसेना का प्रयास : सतीश सोनवणे

रिपोर्ट : प्रमोद कुमार

नाशिक :  सिडको  के त्रिमूर्ति चौक और त्र्यंबक रोड के मायको सर्कल परिसर में दो उड़ान पुलों के स्थगन को लेकर भाजपा-शिवसेना में शीतयुद्ध शुरू हो गया है। इसी बीच मनपा आयुक्त कैलाश जाधव पर ठाकरे सरकार के दबाव में  कर्ज प्रस्ताव को ठुकराने का आरोप सभागृह नेता सतीश सोनवणे ने लगाया। 

सोनवणे ने पत्रकार परिषद में कहा कि ठाकरे सरकार की मदद से मनपा में विपक्ष की भूमिका अदा करने वाली शिवसेना प्रशासकीय मदद से अपना राजपाठ चलाना चाहती है। उन्होंने कहा कि भाजपा द्वारा प्रस्तावित किए गए 310 करोड़ के विकास कार्य तथा सिडको के नियोजित उड़ान पुल के कार्य का भूमिपूजन पूर्व मुख्यमंत्री तथा विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस और महापौर सतीश कुलकर्णी के हाथों ही होगा। 300 करोड़ के कर्ज प्रस्ताव सहित सिडको के उड़ान पुल को लेकर मनपा में सत्तासीन भाजपा और विपक्ष शिवसेना में संघर्ष शुरू हो गया है।  शिवसेना द्वारा इस पुल का श्रेय लेने के बाद महापौर कुलकर्णी ने पुल की टेंडर प्रक्रिया रद्द करने की मांग मनपा आयुक्त से की।  परंतु प्रशासकीय प्रक्रिया रद्द करने का अधिकार महापौर या आयुक्त को न होने का दावा शिवसेना महानगरप्रमुख सुधाकर बडगुजर ने किया।

इसके बाद सभागृह नेते सतीश सोनवणे व गटनेते जगदीश पाटिल ने पत्रकार परिषद लेकर शिवसेना को करारा जवाब देते हुए कहा कि ठाकरे सरकार मनपा प्रशासन पर दबाव लाकर भाजपा को काम नहीं करने दे रही है। ठाकरे सरकार के दबाव में आकर आयुक्त ने कर्ज प्रस्ताव ठुकरा दिया है। इससे विकास कार्य पर विपरीत परिणाम होगा।  शहर का सर्वांगीण विकास करने का भाजपा प्रयास कर रही है। इससे परेशान विपक्ष ठाकरे सरकार की मदद से आयुक्त पर दबाव बनाकर विकास कार्य बंद करने का प्रयास कर रहा है। कर्ज निकालने की जरूरत क्यों है, जिसका शिवसेना को आत्मपरीक्षण करना चाहिए। विकास कार्य के लिए बनाए गए कर्ज प्रस्ताव का शिवसेना ने विरोध किया है।  संपत्ति और जल टैक्स वसूली के निजीकरण के बजाए सुशिक्षित बेरोजगारों के माध्यम से यह काम करवाकर उन्हें रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के भाजपा के प्रयास का भी शिवसेना ने विरोध किया।  महासभा का कामकाज सही होने के बाद भी हंगामा किया। भाजपा की छवि खराब करने शिवसेना हर संभव प्रयास कर रही है। ऐसा आरोप लगाते हुए सोनवणे ने कहा कि सभी विकास कार्य का उद्घाटन हम ही करेंगे।

Comments