पुलिस आयुक्त कृष्ण प्रकाश ऑटो रिक्शा संगठनों को मीटर का महत्व और इसकी जरूरत समझाने में रहे सफल

रिपोर्ट : प्रमोद कुमार

पिंपरी : बीते कई सालों से पिंपरी चिंचवड़ में मीटर से ऑटो रिक्शा चलाने को लेकर की जा रही मांग अंततः पूरी हो गई। पुलिस आयुक्त कृष्ण प्रकाश ऑटो रिक्शा संगठनों को मीटर का महत्व और इसकी जरूरत समझाने में सफल रहे हैं। संगठनों के नेताओं के साथ सिलसिलेवार बैठकों के बाद संगठन मीटर से रिक्शा चलाने को लेकर सहमत हुए हैं। इसमें आरटीओ द्वारा मंजूर किये शेयर रिक्शा के 16 रूट्स को छूट दी गई है। गुरुवार को पिंपरी चौक में डॉ बाबासाहेब आंबेडकर स्मारक के पास सड़क सुरक्षा अभियान के तहत एक समारोह में पुलिस आयुक्त कृष्ण प्रकाश ने ऑटो रिक्शा का मीटर डाउन किया और उसमें सवारी भी की। इसके अनुसार आज से पिंपरी चिंचवड़ शहर में मीटर से रिक्शा चलाना और मीटर से किराया लेना अनिवार्य है। पिंपरी चौक में हुए इस समारोह में अपर पुलिस आयुक्त रामनाथ पोकले, उपायुक्त सुधीर हिरेमठ, उपायुक्त मंचक इप्पर, उपप्रादेशिक परिवहन अधिकारी अतुल आदे, सहायक आयुक्त डॉ. सागर कवडे, श्रीकांत डिसले, पिंपरी थाने के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक मिलिंद वाघमारे, चिंचवड थाने के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक सुधाकर काटे, पुलिस निरीक्षक (क्राइम) विश्वजित खुले, पिंपरी ट्रैफिक विभाग के पुलिस निरीक्षक राजेंद्र कुंटे, महाराष्ट्र वाहतूक पंचायत के अध्यक्ष बाबा कांबले आदि उपस्थित थे। पिंपरी चिंचवड़ में रिक्शा चालक कुछ दूरी के लिए मीटर से जाने से मना करते हैं। ऐसे मामलों में, नागरिकों को पिंपरी-चिंचवड ट्रैफिक विभाग के हेल्पलाइन नंबर 9529681078 पर संपर्क करना चाहिए। उसके बाद परिवहन विभाग द्वारा रिक्शा चालक के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। पिछले दिनों, पुलिस आयुक्त कृष्ण प्रकाश ने सोसाइटी फेडरेशन और शहर के नागरिकों के साथ बातचीत की। इसमें पिंपरी चिंचवड़ सिटीजन फोरम ने शहर में मीटर-रिक्शा शुरू करने की मांग की थी। नागरिक पिछले तीन दशकों से इसकी मांग कर रहे हैं। ट्रैफिक विभाग ने रिक्शा संघों के अधिकारियों से मीटर की तरह किराया वसूलने के मुद्दे पर चर्चा की।

इसमें रिक्शा संगठनों को मीटर से किराया वसूलने के बारे में भी सकारात्मक पाया। इसलिए, पिंपरी-चिंचवड ट्रैफिक विभाग ने तत्काल निर्णय लिया और रिक्शा के मीटर डाउन कर दिया। ट्रैफिक पुलिस ने एक दस्ते का गठन किया है। यह टीम शहर में गश्त करेगी और मीटर के बारे में पूछताछ करने के लिए रिक्शा चालकों और नागरिकों के साथ बातचीत करेगी। टीम पूछताछ करेगी कि रिक्शा का मीटर चालू है या नहीं और मीटर के अनुसार किराया लिया जा रहा है या नहीं। यदि मीटर के अनुसार किराया नहीं लिया जाता है, तो संबंधित रिक्शा चालक के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी, ऐसा पुलिस आयुक्त कृष्ण प्रकाश ने बताया। पिंपरी चिंचवड़ डिप्टी आरटीओ के उपप्रादेशिक अधिकारी अतुल सादे ने प्रतियोगिता की होड़ में टिके रहने के लिए रिक्शा चालकों को कालानुरूप बदलावों को स्वीकार करने की जरूरत बताई। वहीं संगठन के नेता बाबा कांबले ने मीटर प्रणाली स्वीकारने का मतलब रिक्शा चालकों की समस्याओं से समझौता करने न लगाने की बात कही। फाइनांस कंपनियों की गुंडागर्दी को रोकने के लिए पुलिस द्वारा कड़े कदम उठाने की जरूरत भी उन्होंने बताई।

Comments