मनपा स्कूलों में विद्यार्थियों की घटती सांख्यों के बीच, नये शैक्षणिक वर्ष में शुरू करेगी 21 नये स्कूल

कर्मचारियों की होंगी नई भर्ती

रिपोर्ट : यशपाल शर्मा 

मुंबई : नये शैक्षणिक वर्ष 2021 में, मुंबई महानगर पालिका 21 नये माध्यमिक स्कूलों को शुरू करने का निर्णय लिए जाने की जानकारी प्रकाश में आईं है। जिससे मुंबइ की झोपड़पट्टियों में रहने वाली गरीब जनता के एक खुशी का माहौल व्याप्त हो चुका है। दूसरा यह खबर सुखद इसलिए मालूम होती है कि पूर्व में मनपा स्कूलों के शैक्षणिक सत्र में सन 2017-18 के दौरान जो मनपा के वर्नाकुलर स्कूलों का बंद होने का दौर चला, वो समय मनपा के लिये काफी दुखदाई रहा, एक के बाद एक धड़ा धड़ 34 मनपा स्कूल बंद हो गये थे।

कहा जाता है कि विद्यार्थियों के अभिभावको का बढ़ते इंग्लिश मध्यम की पढ़ाई के बीच बढ़ते क्रेज ने इंटरनेशनल स्कूलों की आंधी में इस कदर सर चढ़ाकर बोला कि मनपा के वरर्नाक्युलर स्कूल बंद होने से, विशेषकर मराठी, उर्दू, तमिल, तेलगु सहित विभिन्न भाषाओं के स्कूलों में ताले लटक चुके थे।

उल्लेखनीय तौर पर जिससे एशिया की सबसे धनवान महापालिका के लिये किसी झटके से कम नही था। मनपा स्कूलों के बंद होने का मुख्य कारण निकल कर सामने यह आया कि समाज में बढ़ते इंग्लिश मीडियम के क्रेज के  बहाव, वहीं दूसरा मनपा स्कूल 8 वी तक होने के कारण छात्राओ का आधी -अधूरे में पढ़ाई छोड़कर घर पर बैठ जाती थी। कहा जाता है कि अधिकतर विद्यार्थियों के माता पिता उन्हें लंबे दूरी पढ़ने के लिये भेजना नही चाहते थे ।जिसके कारण 8 वी कक्षा के बाद ड्राप ऑउट विद्यार्थियों की संख्या में वृद्धि दर्ज होती चली गई।

मनपा विद्या प्रशासन को अपनी गलती का एहसास हुआ। जिसके चलते मनपा की नवनिर्मित 7 मंजिला इमारतों में दसवीं कक्षा की नये वर्ग शुरू किए जा रहे है। जिसमें 11,62 विद्यार्थियों की संख्या में बढ़ोतरी होगी।

पहेली से कक्षा 8 वी तक प्राथमिक तो वहीं 9 वी से दसवीं तक माध्यमिक शिक्षा होंगी। मनपा स्कूलों में विद्यार्थियों के अभिभावक गरीब होने के कारण महेंगे निजी स्कूलों की शिक्षा पर होने वाला खर्च गरीबी के कारण वाहन नही कर सकते। जिसके कारण स्कूल बीच मे विद्यार्थियों की पढ़ाई छोड़ने का मुख्य कारण के तौर पर सामने आया है।

परिणाम स्वरूप इस समस्या को सुलझाने के लिये मनपा स्कूलों को भी 8 वी कक्षा से बढ़ाकर 10 वी तक करने की काफी लंबे समय से की जारही नगरसेवकों, पालकों, लोकप्रतिनिधि, समाजसेवको की ओर से किया जा रही थी।इसके लिये 21 स्कूलों में कक्षा 9 वी और दसवीं के क्लास रूम वर्ग शुरू किए जा रहे है। जिसमें मराठी, उर्दू, हिंदी व इंग्लिश माध्यमिक शिक्षक शिक्षिकाओ की सभी वर्गों के लिये बड़े पैमाने पर भर्ती किये जायेंगे। उल्लेखनीय तौर पर जिसको लेकर प्रस्ताव शिक्षण समिति की मीटिंग में मंजूरी के लिये रखा जायेगा। जिसमें मराठी के 4, इंग्लिश के 8, हिंदी के 6, उर्दू के 1, तमिल -1 और तेलगु माध्यम की एक स्कूल किया शुरु किया जायेगा।

2021-2022 के शैक्षणिक वर्ष में 21 नये स्कूलोँ में 9 वी की क्लास शुरू की जा रही है। 2022-23 इस शैक्षणिक वर्ष के लिए दसवीं का वर्ग शुरू किया जा रहा है। इस मामले में अनुदानित माध्यमिक स्कूलों का निर्माण किये गये उसी में शिक्षक पदों के तौर शिक्षकों कर्मचारियों की  भर्ती की जायेगी।


Comments