बिल्डरों के कर बाकी का लेखा-जोखा संगणक विभाग से गायब

रिपोर्ट : प्रमोद कुमार

कल्याण : बिल्डरों के कर बाकी का फाइल मनपा मुख्यालय से गायब होने की धक्कादायक घटना सामने आई है जिसको लेकर खलबली मचा हुआ है। बताया जाता है कि बिल्डरों के कर बाकी का लेखा-जोखा संगणक विभाग से गायब हो चुका है जिसे तत्कालीन आयुक्त गोविंद बोडके के कार्यालय में कार्यरत एक लिपिक के आईडी से डिलीट किया गया है। ओपन लैंड और बिल्डिंगों का कुल टैक्स मिलाकर महापालिका का 72 करोड़ रुपए घोटाला किए जाने का मामला सामने आया है। इसके पीछे विकासकों की साजिश बताई जा रही है जिसको लेकर मनपा मुख्यालय में हंगामा मचा हुआ है। सामाजिक कार्यकर्ता आरटीआई एक्टिविस्ट कौस्तुभ गोखले ने सूचना अधिकार के तहत इस घोटाले खुलाशा किया है और अब वे इस मसले को लेकर कोर्ट का दरवाजा खटखटाने वाले हैं। बताया जाता है कि मुंबई के एक भाजपा नेता एवं सुप्रसिद्ध भवन निर्माता के उपर 40 करोड़, शहाड़ की एक कंपनी पर 14 करोड़ और उत्तर भारतीय विकासक बीजेपी के पूर्व पार्षद पर 13 लाख रुपए बकाया है। इस तरह महापालिका का कुल 72 करोड़ रुपए विकासकों पर बकाया है जिसे एक साजिश के तहत संगणक से गायब करवाने की अटकलें लगाई जा रही हैं।

Comments