अब गलत टोल कटौती पर होगा पैसा वापस

~ व्हील्सआय की सुविधा ~

मुंबई : भारत की सबसे बड़ी फास्टैग कंपनी व्हील्सआय ने आईडीएफसी बैंक के साथ मिलकर गलती से हुई फास्टैग कटौती के लिए तुरंत सूचना अलर्ट और फटाफट पैसे वापस करने की सुविधा शुरू की है। इस सुविधा से उन लाखों ट्रक मालिकों को मदद मिलेगी जो अब तक एक्स्ट्रा टोल कटौती झेल रहे हैं। व्हील्सआय के अनुसार, उनका आधुनिक फास्टैग मैनेजमेंट सिस्टम गलत टोल कटौती का ऑटोमेटिकली पता लगाएगा और 3 से 7 दिनों के भीतर पैसा वापस करेगा। पहले शिकायत दर्ज करने के बाद ये प्रक्रिया तक़रीबन 30 दिन लेती थी। 

व्हील्सआय के प्रवक्ता सोनेश जैन ने कहा कि, “टोल संग्रह प्रणाली अभी भी लागू की जा रही है। तकनीक में छोटी मोटी गलतियां आती रहती है ,और इसका खामियाजा ट्रक मालिकों को भुगतना पड़ता है। हमारा मुख्य लक्ष्य ट्रकों मालिकों की फास्टैग परेशानियों को कम से कम करना है। इसके लिए हमारी टीम ने ट्रक मालिकों, एनपीसीआई और आईडीएफसी बैंक के साथ मिलकर स्वतः और जल्द पैसा वापस करने की पूरी प्रक्रिया को समेट कर सिर्फ 3-7 दिन में ला दिया है।

अब तक किसी अन्य कंपनी ने गलत टोल कटौती के समस्या को हल नहीं किया है। इस कदम से साल 2021 के अंत तक व्हील्सआई को देश का सबसे बड़ा फास्टैग सेवा प्रदाता बनने की उम्मीद है।

2017 में शुरू की गई व्हील्सआय टेक्नोलॉजी गुरुग्राम का एक युवा लॉजिस्टिक स्टार्टअप है, जिसका मुख्य उद्देश्य ट्रक मालिकों को तकनीकी सहायता प्रदान कर उनकी परेशानियों को कम करना है। इस समय व्हील्सआई भारत भर में 10 लाख से अधिक ट्रक मालिकों की मदद कर रहा है और देश भर के तमाम ट्रक मालिकों के लिए जीपीएस उपकरण, जीपीएस सॉफ्टवेयर्स, फास्टैग मैनेजमेंट, डीजल पर कैशबैक, रिटर्न लोड और कम समय के लिए क्रेडिट के अलावा कई अन्य सुविधा प्रदान करता है। अब तक के डाटा के अनुसार, व्हील्सआय पूरे फास्टैग वॉल्यूम का 10% मैनेज करता है, जो कि इसे फास्टैग भुगतान के 3 सबसे बड़े शेयरधारकों में से एक बनाता है।

Comments