अभय योजना को नागरिकों से मिली अच्छी प्रतिक्रिया

- रिपोर्ट : प्रमोद कुमार

कल्याण : कल्याण-डोंबिवली मनपा ने 15 अक्टूबर से 31 दिसंबर तक संपत्ति कर बकाया के लिए अभय योजना शुरू की है। पिछले वर्ष (15 अक्टूबर से 4 दिसंबर) की तुलना में इस वर्ष 15 अक्टूबर से 4 दिसंबर तक 33 करोड़ रुपये अधिक एकत्र किए गए हैं। जैसा कि अभय योजना को नागरिकों से अच्छी प्रतिक्रिया मिल रही है, इस वर्ष केवल 49 दिनों में, नागरिकों ने संपत्ति कर के रूप में 60 करोड़ रुपये का भुगतान किया जिससे मनपा के राजकोष में अच्छा पैसा जमा हुआ है। नागरिकों से सहयोग जारी रखने का आग्रह प्रशासन द्वारा किया गया है।

मनपा ने लोगो से अपील किया कि अभय योजना में पूर्ण बकाया के साथ इस वर्ष की पूरी राशि और 25% ब्याज भरा गया तो 75% ब्याज माफ किया जाएगा । इसलिए अभय योजना के फायदा उठाकर करदाता सभी बकायी राशि 31 दिसंबर तक जमा करके लाभ उठाए और मनपा का सहयोग करें यह अपील मनपा द्वारा की जा रही हैं । मनपा की अपील पर लोगों से अच्छा प्रतिसाद मिल रहा है। कोविड 19 महामारी की कठिन स्थिति में, मनपा में करदाताओं के लिए करों का भुगतान करना आसान है । इसके लिए केडीएमसी ने 15 अक्टूबर 2020 से 31 दिसंबर 2020 के बीच अभय योजना 2020 लागू की है। अभय योजना शुरू करने के बाद, डेवलपर ने हाल ही में 5 करोड़ रुपये के लिए निर्माण शुरू करने का प्रमाणपत्र नहीं दिया है। इसलिए, 47 लाख रुपये का भुगतान करना पड़ा । अभय योजना के तहत केडीएमसी के ब वार्ड सीमा में मौजे जोहर बरावे के गोदरेज पार्क के पास रहने वाले झोजवाला ने हाल ही में खाली जमीन पर का 14-15 करोड़ रुपए का कर भरा है । इस अभय योजना का लाभ उठाते हुए, नागरिकों ने करों का भुगतान करने को प्राथमिकता दी है। 15 अक्टूबर 2020 से 4 दिसंबर 2020 तक अभय योजना के तहत करदाताओं ने 60 करोड़ रुपये का भुगतान किया है। पिछले साल इसी अवधि में, नागरिकों ने 27 करोड़ रुपये का भुगतान किया था।
Comments
Popular posts
सीएम उद्धव ठाकरे ने पूरे राज्य के लोगो को अगले 8 दिन सतर्क रहने को कहा है--वरना लॉक डाउन लगाने के संकेत भी दे दिए है
Image
आपसी विवाद में युवक घायल, मामला रफा-दफा करने मे जुटी थी पुलिस
Image
दादरा और नगर हवेली से लोकसभा सदस्य मोहन डेलकर मुंबई के एक होटल में पाए गए मृत, गुजराती में लिखा सुसाइड नोट बरामद
Image
बाल विकास विभाग की कारगर योजनाओं से ही कुपोषण से मिला मुक्ति, 2668 केन्द्रों पर पौष्टिक आहार के लिए बच्चों, महिलाओं व किशोरियों में आ रही जागरूकता
Image
महाराष्ट्र से कर्नाटक आने वालों को बिना कोरोना रिपोर्ट देखे एंट्री की गई बन्द !
Image