जिला पोषण समिति, डिस्टिक्ट कन्वर्जेन्स प्लान कमेटी, जिला निगरानी समिति की बैठक

जिलाधिकारी ने दिये 1 फरवरी 2021 तक कुपोषित बच्चों को कुपोष से बहार लाने के निर्देश

रिपोर्ट : तनवीर खान

उन्नाव, (उ0प्र0) : जिला पोषण समिति/डिस्टिक्ट कन्वर्जेन्स प्लान कमेटी/जिला निगरानी समिति की बैठक जिलाधिकारी रवीन्द्र कुमार की अध्यक्षता में आयोजित हुयी। जिला कार्यक्रम अधिकारी द्वारा कुपोषण को दूर करने हेतु समस्त सम्बन्धित विभागों द्वारा किये जा रहे कार्यक्रमों के सम्बन्ध में अवगत कराया कि खाद्य्य आपूर्ति विभाग द्वारा समस्त अतिकुपोषित बच्चों के परिवारों को राशनकार्ड से आच्छादित किये जाने की प्रगति अच्छी है। इसी प्रकार ग्राम्य विकास विभाग द्वारा इच्छुक कुपोषित बच्चों के परिवारों को जाॅबकार्ड से आच्छादित कर दिया गया है।

जिलाधिकारी द्वारा कुपोषित बच्चों के परिवारों, जो शौचालय से आच्छादित नहीं हैं को वर्तमान में चल रहे सर्वे में सम्मिलित करते हुये पात्र लाभार्थियों को शौचालय से आच्छादित किये जाने के निर्देश जिला पंचायत राज अधिकारी को दिये गये। जिला स्तरीय अधिकारियों द्वारा गोद लिये गये कुपोषित गांव को अगले दो माहों के भीतर सुपोषित श्रेणी में लाने तथा उन गांवों में चिन्हित कुपोषित बच्चों को व्यक्तिगत रूचि लेकर सामान्य श्रेणी में लाने हेतु जिलाधिकारी द्वारा निर्देशित किया गया। सभी सम्बन्धित अधिकारी फरवरी तक कुपोषित बच्चों को कुपोष से बहार लाने के निर्देश दिये।

अतिकुपोषित बच्चों के परिवारों को दुधारू गाय उपलब्ध कराये जाने की समीक्षा में पाया गया कि अभी तक मात्र 15 गाय उपलब्ध करायी गयी हैं इस पर जिलाधिकारी द्वारा असन्तोष जाहिर किया गया तथा मुख्य पशुचिकित्साधिकारी को दो दिवस के भीतर विकास खण्डों में स्थित गौशालाओं जहाॅ-जहाॅ दुधारू गाय उपलब्ध हैं की सूची जिला कार्यक्रम अधिकारी को उपलब्ध कराने तथा समस्त बाल विकास परियोजना अधिकारियों के माध्यम से 04 दिवस के भीतर उक्त गायों को कुपोषित बच्चों के परिवारों को गाय उपलब्ध कराने के निर्देश दिये गये। ड्राई राशन वितरण के सम्बन्ध में समस्त बाल विकास परियोजना अधिकारियों को तत्काल शत-प्रतिशत फीडिंग पूर्ण करने के निर्देश जिलाधिकारी द्वारा दिये गये। एनीमिया मुक्त भारत की समीक्षा के उपरान्त मुख्य चिकित्साधिकारी को विकास खण्ड स्तर पर तैनात ए0एन0एम0 की सघन निगरानी तथा एम0सी0पी0 कार्ड की तथा कैल्श्यिम टेबलेट की उपलब्धता सुनिश्चित कराये जाने के निर्देश जिलाधिकारी द्वारा दिये गये। यूनीसेफ प्रतिनिधि को भी सप्ताहवार मुख्य चिकित्साधिकारी से सम्पर्क कर आवश्यक बिन्दुओं पर समयान्तर्गत कार्यवाही किये जाने के निर्देश जिलाधिकारी द्वारा दिये गये।

इसी दौरान जिला स्वच्छ भारत मिशन मैनेजमेन्ट कमेटी के सम्बन्ध में जिलाधिकारी की अध्यक्षता में ही आयोजित की गयी व्यक्तिगत शौचालय के निर्माण, स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामिण) के अन्र्तगत आडित गतिविधियों पर विचार तथाा आई0ई0सी मद के अन्र्तगत विज्ञापन प्रकाशन आदि पर भी समीक्षा की गयी। बैठक में मुख्य चिकित्साधिकारी जिला समन्वयक एन0आर0एल0एम0, जिला विद्यालय निरीक्षक, जिला पूर्ति अधिकारी, आदि जिला स्तरीय अधिकारी, यूनीसेफ प्रतिनिधि एवं विकास खण्ड स्तर के बाल विकास परियोजना अधिकारी एवं प्रभारी उपस्थित रहे।

Comments