कोविड केंद्र में काम करने वाले कर्मचारियों का शोषण

रिपोर्ट : प्रमोद कुमार

डोंबिवली : भाजपा नेता किरीट सोमैया ने आरोप लगाया है कि ठेकेदार डोंबिवली जिमखाना में केडीएमसी द्वारा स्थापित कोविड केंद्र में काम करने वाले कर्मचारियों का शोषण करते हैं सोमैया ने शुक्रवार दोपहर डोंबिवली जिमखाना में बनाए गए कोविड केंद्र का दौरा किया। निरीक्षण करते समय कोविद वार्ड के कर्मचारियों ने सोमैया से बातचीत की और शिकायत की कि उन्हें निर्धारित पगार से कम पगार दिए जाते हैं शुरुआती दिनों में, कोविड उच्चतम स्तर पर था। लेकिन अब कोरोना रोगियों की संख्या कम हो गई है और हमने कोविद केंद्र का वित्तीय और प्रदर्शन लेखा परीक्षा शुरू कर दिया है ऐसा किरीट सोमैया ने कहा। उन्होंने कहा कि ऑडिट ठाणे के कोविड केंद्र से शुरू हुआ था और यह पहला निरीक्षण दौरा था। मरीजों की संख्या बहुत कम होने के बावजूद नए कोविद केंद्र क्यों शुरू किए जा रहे हैं ? सोमैया ने कहा कि कोविड केंद्र के मरीजों के लिए बनाए जा रहे हैं या
ठेकेदारों के लिए ऐसे सवाल उठाए। इस बीच, कोविड केंद्र के कर्मचारियों ने सोमैया से शिकायत की हमें निर्धारित पगार से कम पगार दिया जाता है और हमें तीन महीने से हमारा वेतन नहीं मिला है।किरीट सोमैया ने कहा कि कोविड केंद्र के संचालको के साथ चर्चा करने के बाद, कर्मचारियों के वेतन को सीधे मनपा या मुख्य ठेकेदारो सीधा खाते में जमा करने का सुझाव दिया गया था।

कोविड कर्मचारियो को ठेकेदार द्वारा मिली धमकियां

जिमखाना में स्थापित कोविड केंद्र में काम करने वाली महिला कर्मचारियों ने आरोप लगाया कि, तीन-तीन माह के पगार नही दिए गए हैं। तय पगार 15 हजार है लेकिन ठेकेदार उन्हें 10 हजार ही देता हैं पगार मांगने पर काम से निकालने की धमकियां दी जाती हैं यहां तक कि महिलाओ के मीडिया से बात करने पर उन्हें मारने की धमकियां भी दी गई ऐसी शिकायतें महिला कर्मचारियों ने किरीट सोमैया से बताया महिला कर्मचारी रो रो का अपना दुःख बयां करती नजर आयी।

Comments