6 नाइजीरियाई लोगों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

- रिपोर्ट : प्रमोद कुमार

नवी मुंबई : नवी मुंबई में अभी तक यहां के लोग ही अवैध रूप से होटल चलाने का रिस्क लेते हुए दिखाई देते थे लेकिन नवी मुंबई में कुछ नाइजीरियाई लोग अवैध रूप से रह रहे थे उसके बावजूद वे बाकायदा बिना अनुमति के होटल चला रहे थे। जब इस बात की जानकारी स्थानीय पुलिस को लगी तो ऐसे 6 नाइजीरियाई लोगों को गिरफ्तार कर उनके खिलाफ कार्यवाई की है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार इन लोगों ने होटल चलाने के लिए जगह भी किराए पर ली थी और किराए के घर में रह भी रहे थे। पुलिस ने इन लोगों के पास अवैध रूप जमा की गयी शराब को भी बरामद किया है। पता हो कि नवी मुंबई में नाइजीरियाई लोगों की संख्या अधिक है इनमें से कौन वैध रूप से रह रहा है और कौन अवैध रूप से इस बात की जानकारी पुलिस के पास तक उपलब्ध नहीं है। वीसा ख़त्म होने के बाद भी नहीं लौटते पुलिस अधिकारीयों ने जानकारी देते हुए बताया कि कई नाइजीरियाई लोगों के वीसा ख़त्म हो जाता है लेकिन फिर भी वे लोग अपने देश वापस नहीं जातें हैं और भारत में ही अवैध रूप से रहने लगते हैं। नवी मुंबई परिमंडल एक के पुलिस उपायुक्त सुरेश मेंगड़े का कहना है की उन्होंने इस प्रकार के आदेश दिए हैं की उनके परिमंडल में कितने विदेशी नागरिक रह रहें हैं और जो लोग रह रहें हैं उनके पास वीसा है कि नहीं ? उन्होंने बताया की इस जांच मुहीम के दौरान वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक संजीव धुमाल को जानकारी मिली कि वाशी के जुहुगांव में कुछ नाइजीरियाई अवैध रूप से रह रहें हैं, इतना ही नहीं बल्कि इनके द्वारा होटल चलाने की भी जानकारी मिली थी। जानकारी मिलने के बाद पुलिस की टीम ने इस मामले की जांच के लिए एक विशेष टीम बनायी और रात के समय साईं दर्शन नामक ईमारत पर छापा मारा यह लोग वहां से ओजिबिया किचन नामक एक होटल चला रहे थे और उनके सारे दस्तावेजों की जांच की। जांच में पुलिस को पता चला कि यह लोग यहाँ पर अवैध रूप से रह रहें हैं और जो होटल चला रहें हैं वह भी पूरी तरह से अवैध है। पुलिस ने सभी 6  लोगों पर मामला दर्ज किया है। पुलिस के अनुसार इन लोगों के पास से 16 हजार रूपए की कीमत की शराब भी जप्त की गयी है। इस मामले से पहले भी कई बार अवैध रूप से रहे नाइजीरियाई लोगों को पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया जा चुका है लेकिन यह लोग वापस रहने के लिए आ जातें हैं। पुलिस अधिकारीयों का ही कहना है कि कुछ स्थानीय लोग अधिक किराये के लालच में इन लोगों को घर किराए पर घर उपलब्ध करा देते हैं जिसकी जानकारी पुलिस को उपलब्ध नहीं कराई जाती है। 

मुंबई तथा नवी मुंबई में किराए दार को तथा मकान मालिक को इस बात की जानकारी देना जरुरी होता है की उसने किस व्यक्ति को अपना घर या दुकान किराए पर दिया है इसी के साथ किराए दार को भी अपने बारे में पूरी जानकारी देनी जरुरी होती है कि इससे पहले वह कहाँ रहता था तथा वह मूल रूप से कहाँ का रहने वाला है। लेकिन कई मकान मालिक अधिक किराए की लालच में  जानकारी पुलिस के साथ साझा नहीं करते हैं जिसका यह विदेशी लोग फायदा उठाते हैं और अवैध रूप से रहकर यहाँ गैरकानूनी कामों में सलिप्त रहतें हैं। हालांकि बनाए गए नियमों में यह प्रावधान रखा गया है कि जो मकान मालिक अपने मकान या दूकान किराए पर देने की जानकारी पुलिस के साथ साझा नहीं करेंगे उन पर कड़ी कार्यवाई की जाएगी लेकिन ऐसा बहुत कम देखने को मिलता है जब किसी मकान मालिक के खिलाफ मामला दर्ज किया गया हो। स्थानीय लोगों का कहना है कि नवी मुंबई में जिस तरह से नाइजीरियाई अवैध रूप से रहकर अवैध रूप से होटल चला रहे थे ऐसे में नाइजीरियाई लोगों के साथ साथ उस मकान मालिक के खिलाफ भी मामला दर्ज किया जाना चाहिए जिसने अपनी संपत्ति ऐसे लोगों को किराये पर दी। हालांकि इस मामले में मकान मालिक के खिलाफ किसी प्रकार का कोई मामला दर्ज होने की बात नहीं कही है।

Comments