हैदराबाद में वैश्विक डिजिटल केंद्र स्थापित करने के लिए फिएट क्रिसलर ऑटोमोबाइल्स करेगा 150 मिलियन डॉलर का निवेश 
  •  उत्तरी अमेरिका और ईएमईए के बाहर एफसीए आईसीटी इंडिया कंपनी का सबसे बड़ा वैश्विक डिजिटल केंद्र होगा
  • 2021 के अंत तक लगभग 1,000 आधुनिक टेक्नोलॉजी नौकरियों का निर्माण 
  • कनेक्‍टेड वाहन कार्यक्रमों, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, डेटा साइंस, और क्लाउड टेक्नोलॉजी के लिए विशेष टेक्नोलॉजी क्षेत्र में रणनीतिक क्षमताओं को आगे बढ़ाना 
  • संपूर्ण ग्राहकों के जीवनचक्र में इंटेलिजेंस को काम में लाते हुए ग्राहकों की उम्मीदों की गति पर डिलिवर करने के लिए नए पावरहाउस का निर्माण 
  • रणनीतिक भागीदारों, स्टार्ट-अप्स, डिजिटल एक्सीलरेटर्स और यूनिवर्सिटी का एक इकोसिस्टम स्थापित करना 

मुंबई : फिएट क्रिसलर ऑटोमोबाइल्स (एफसीए) ने आज हैदराबाद में एक नए वैश्विक डिजिटल केंद्र स्थापित करने के लिए 150 मिलियन डॉलर निवेश करने के उनके फैसले की घोषणा की। एफसीए आईसीटी इंडिया, एफसीए की नई नवाचार एवं टेक्नोलॉजी विकास फैसिलिटी उत्तरी अमेरिका और ईएमईए के बाहर कंपनी का सबसे बड़ा वैश्विक डिजिटल केंद्र होगा। यह निवेश देश में इस ऑटोमोबाइल मैन्यूफैक्चरिंग समूह की मौजूदगी में महत्वपूर्ण रुप से विस्तार करेगा।

एफसीए आईसीटी इंडिया द्वारा 2021 के अंत तक लगभग 1,000 आधुनिक टेक्नोलॉजी नौकरियों का निर्माण किया जाएगा और अगले दो से तीन सालों में ज़्यादा लोगों को नौकरी पर रखने की कंपनी की योजना है। नए कर्मचारी आकर्षक उत्पादों और संकल्पनाओं पर काम करेंगे जो एफसीटी गतिशीलता के भविष्य को परिभाषित करेंगे। वैश्विक डिजिटल केंद्र एफसीए के लिए ‘परिवर्तन और नवाचार इंजिन’ के तौर पर काम करेगा और वैश्विक आईटी रणनिति को आगे बढ़ाएगा और एक सशक्त प्लैटफॉर्म, टेक्नोलॉजी और उत्कृष्टता के टेक्नोलॉजी एवं सेवा केंद्रों के ज़रिए उत्कृष्टता डिलिवर करेगा। कनेक्‍टेड वाहन कार्यक्रमों, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, डेटा साइंस, और क्लाउड टेक्नोलॉजी जैसे अन्य विशेष टेक्नोलॉजी क्षेत्र में रणनीतिक क्षमताओं के निर्माण पर वैश्विक डिजिटल केंद्र का ध्यान केंद्रित होगा।

पिछले दो दशकों से एफसीए पूरे देश में उसके मैन्यूफैक्चरिंग और इंजीनियरिंग की मौजूदगी का विस्तार करता रहा है और हैदराबाद में नया वैश्विक डिजिटल केंद्र भारत की विश्वस्तरीय डिजिटल और आईटी प्रतिभा को काम देने की एफसीए की जारी प्रतिबद्धता को दर्शाता है।

“डिजिटल युग में डेटा ही नई करंसी है। हमारा उद्देश्य एक ऐसे इनोवेशन पावरहाउस का निर्माण करना है जो डेटा द्वारा सक्षम बनाए गए इंटेलिजेंस को काम में लाते हुए ग्राहकों की उम्मीदों की गति पर डिलिवर करने के लिए रोमांचक नए उत्पादों और सेवाओं को तैयार करेगा।” यह कहना है ममथा चामार्थी, सीआईओ, एफसीए, नॉर्थ अमेरिका एवं एशिया पैसिफिक का। “एफसीए आईसीटी इंडिया के प्रमुख उद्देश्यों में से एक है एफसीए के पूरी दुनिया में और भारत के भीतर एफसीए के ऑटोमोटिव ऑपरेशन्स के प्रत्येक पहलू को डिजिटाइज़ करना और उभरती टेक्नोलॉजी को अपनाकर विरासत से डिजिटल में परिवर्तित होना। व्यापकता में लचीलेपन को बढ़ावा देने और ग्राहक केंद्रीयता आगे बढ़ाने के लिए हम नवाचार और उद्यमशीलता की एक मज़बूत, वैश्विक संस्कृति को प्रोत्साहन दे रहे हैं।”

प्रतिभा की उपलब्धता और इसके साथ नवाचार की संस्कृति और व्यापार के अनुकूल नीतियों ने हैदराबाद में सुविधा केंद्र स्थापित करने के एफसीए के फैसले में प्रमुख भूमिका निभाई। हमारे नवाचार एजेंडा में तेज़ी लाने के लिए रणनीतिक भागीदारों, स्टार्ट-अप्स, डिजिटल एक्सीलरेटर्स और यूनिवर्सिटी सहित वैश्विक डिजिटल केंद्र कई इकोसिस्टम भागीदारों के साथ एफसीए के संबंधों में विस्तार करेगा।

एफसीए आईसीटी इंडिया के डायरेक्टर एवं प्रमुख करीम लालानी ने कहा, “एफसीए आईसीटी इंडिया में हमारी प्रतिभा और कार्यक्षमता बढ़ाने में तेज़ी लाने के लिए हम रणनीतिक टेक्नोलॉजी भागीदारों के साथ काम कर रहे हैं। इसके साथ ही हम बेहद आक्रामक तरीके से लोगों को नौकरियाँ दे रहे हैं और हमें मिल रहा रिस्‍पॉन्‍स शानदार है। मैं उन नई आइडिया और टेक्नोलॉजी को देखने के लिए उत्साहित हो रहा हूँ जो हमारे प्रतिभाशाली इंजीनियर और डेटा वैज्ञानिक विकसित करेंगे। हम देख सकते हैं कि भविष्य में हमारा वैश्विक डिजिटल केंद्र ग्राहक सुरक्षा, कनेक्टेड मोबिलिटी और डिजिटल शोरुम अनुभव सहित विभिन्न क्षेत्रों में नवाचार को आगे बढ़ाने का काम करेगा। हम सही मायने में अग्रणी, वैश्विक डिजिटल केंद्र का निर्माण करने को लेकर रोमांचित हैं जो गतिशीलता के क्षेत्र में एक वैश्विक अग्रणी के रुप में एफसीए की स्थिति को सशक्त करने का काम करेगा। ”

मुंबई में मुख्य कार्यालय के साथ महाराष्ट्र और तमिलनाडू में एफसीए की प्रमुख मौजूदगी है और इसमें 3000 से ज़्यादा कर्मचारी कार्यरत हैं। वैश्विक डिजिटल केंद्र के साथ एफसीए उसकी मौजूदगी का तेलंगाना में विस्तार करने जा रहा है। महाराष्ट्र के रंजनगाँव में कंपनी की ज्‍वाइंट वेंचर व्‍हीकल एवं पॉवरट्रेन विनिर्माण सुविधा है। कंपनी के इंजीनियरिंग और उत्पाद विकास से जुड़े ऑपरेशन पुणे और चेन्नई में स्थित हैं।

एफसीए इंडिया के प्रेसिडेंट और मैनेजिंग डायरेक्टर डॉ. पार्था दत्ता ने कहा, “हैदराबाद तेलंगाना में 150 मिलियन डॉलर के निवेश से वैश्विक डिजिटल केंद्र स्थापित करना हमारे ग्राहकों और भारत के प्रति हमारी लगातार जारी प्रतिबद्धता को मजबूत करता है। एफसीए आईसीटी इंडिया हमारे लिए टेक्नोलॉजी की ऐसी रीढ़ होगी जो हमें न सिर्फ भविष्य की गतिशीलता के उत्पाद विकसित करने में मदद करेगा बल्कि इसके साथ ही ग्राहक केंद्रीयता को बढ़ाने में हमारे प्रयासों में धार लाने का काम करेगा। हमारे भारतीय परिचालन को और अधिक समर्थ बनाने के हमारे विजन को पूरा करने की दिशा में यह एक उल्‍लेखनीय कदम है। इससे डिजिटल रूप से संचालित उत्‍पादों एवं तकनीकों को भारत के साथ ही दुनिया के लिए स्‍थानीय रूप से विकसित किया जा सकेगा।

एफसीए इंडिया रंजनगांव में अवॉर्ड जीत चुकी जीप® कंपास का निर्माण करती है और एसयूवी को जापान और ऑस्ट्रेलिया सहित 13 अंतरराष्ट्रीय राइट हैंड ड्राइव मार्केट में निर्यात करती है। भारत में कंपास का निर्माण स्थानीय रूप से प्राप्त किए गए कंपोनंट के साथ किया जाता है। पिछले तीन सालों में कंपनी ने एसयूवी के 50,000 से ज़्यादा यूनिट्स बेचे हैं और हाल ही में इसके निर्यात को 20,000 यूनिट के दोगुना स्तर पर पहुँचाया है और इसके साथ ही नए रोमांचक उत्पाद लॉन्च करने की तैयारी में है।

 

Comments
Popular posts
सीएम उद्धव ठाकरे ने पूरे राज्य के लोगो को अगले 8 दिन सतर्क रहने को कहा है--वरना लॉक डाउन लगाने के संकेत भी दे दिए है
Image
आपसी विवाद में युवक घायल, मामला रफा-दफा करने मे जुटी थी पुलिस
Image
दादरा और नगर हवेली से लोकसभा सदस्य मोहन डेलकर मुंबई के एक होटल में पाए गए मृत, गुजराती में लिखा सुसाइड नोट बरामद
Image
बाल विकास विभाग की कारगर योजनाओं से ही कुपोषण से मिला मुक्ति, 2668 केन्द्रों पर पौष्टिक आहार के लिए बच्चों, महिलाओं व किशोरियों में आ रही जागरूकता
Image
महाराष्ट्र से कर्नाटक आने वालों को बिना कोरोना रिपोर्ट देखे एंट्री की गई बन्द !
Image