15 मार्च 2021 से सिंगल वॉर्ड रचना की प्रक्रिया होगी शुरू

रिपोर्ट : प्रमोद कुमार

नाशिक : डेढ़ साल बाद होने वाले नाशिक महानगरपालिका आम चुनाव (Nashik Municipal Corporation General Election) के लिए सिंगल वॉर्ड (Single Ward) करने का निर्णय दिसंबर 2019 में महाविकास आघाडी सरकार ने शीत अधिवेशन में लिया था, जिसे बदलने के लिए मार्च 2021 में होने वाले वित्तीय अधिवेशन में नए सीरे से सुधार विधेयक पारित करना होगा. इस निर्णय में शिवसेना (Shiv Sena) और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के नेता बदलाव नहीं करना चाहते. कुल मिलाकर 15 मार्च से सिंगल वॉर्ड रचना की प्रक्रिया शुरू होगी, जो 9 माह में पूरी होगी. एक वॉर्ड में 13 हजार वोटर होंगे. चुनाव मैदान में उतरे उम्मीदवार को जीत के लिए 2 से 3 हजार वोट काफी होंगे।गौरतलब है कि नाशिक मनपा चुनाव के लिए 10 साल पहले सिंगल वॉर्ड को बदलकर 4 सदस्यीय प्रभाग किए गए. इसके बाद नगर सेवकों की संख्या 122 हो गयी. मनपा के पिछले चुनाव में 4 सदस्यीय प्रभाग रचना का लाभ सबसे अधिक भाजपा को हुआ. परंतु प्रभाग का सीमा क्षेत्र अधिक होने से नगरसेवक पूरे प्रभाग में ध्यान नहीं दे पाए, जिसे लेकर नागरिकों ने कई बार शिकायतें की. दिसंबर 2019 में महाविकास आघाड़ी सरकार ने शीत अधिवेशन में मनपा चुनाव के लिए सिंगल वॉर्ड करने का निर्णय लिया. अब उसे बदलने के लिए मार्च 2021 में होने वाले वित्तीय अधिवेशन में नए सीरे से सुधार विधेयक पारित करना होगा. परंतु इस निर्णय में शिवसेना और राष्ट्रवादी कांग्रेस के नेता बदलाव नहीं करना चाहते ।

सिंगल वॉर्ड में निर्दलियों की संख्या अधिक होने के साथ 5-6 प्रमुख राजनीतिक दलों के उम्मीदवार के चलते जीत के लिए केवल 2-3 हजार वोट काफी होंगे. वॉर्ड रचना की प्रक्रिया पूरी होने में 9 माह का समय लग सकता है, क्योंकि चुनाव आयोग के आदेश के बाद प्रारूप वॉर्ड रचना तैयार की जाएगी, फिर आयोग के सामने पेश किया जाएगा. आयोग के निर्देश के बाद उसे जारी किया जाएगा. जारी वार्ड रचना पर नागरिकों के साथ राजनीति दलों की आपत्ति की रिपोर्ट आयोग को भेजी जाएगी. इसके बाद अंतिम वॉर्ड रचना घोषित की जाएगी. इस चुनाव से पहले हुए बड़े चुनाव की मतदाता सूची को मतदान प्रक्रिया के लिए वैध माना जाएगा. इसमें भी मृत मतदाता, दोबारा मतदाता सहित अन्य खामियों को दूर कर सूची जारी की जाएगी. दूसरी ओर सभी राजनीतिक दलों ने चुनाव की तैयारी शुरू कर दी है।

हाल ही में शिवसेना ने अपने महानगर प्रमुख पद से नए शिवसैनिक का चयन किया. तो अन्य राजनीतिक दल भी संगठन मजबूत करने पर जोर दे रहे हैं. मनसे कई मुद्दों को छेड़कर माहौल बना रहा है. भाजपा और राष्ट्रवादी कांग्रेस भी पीछे नहीं हैं. कांग्रेस में बहुत ही ठंडा माहौल देखने को मिल रहा है, कोई भी हलचल नहीं दिखाई दे रही है. क्योंकि शहराध्यक्ष बदलने को लेकर गतिविधियां तेज हो गई है, लेकिन अभी तक निर्णय नहीं हो पाया है. कुल मिलाकर शहर में मनपा चुनाव की तैयारी शुरू हो गई है। कुल मिलाकर 15 मार्च 2021 से सिंगल वॉर्ड रचना की प्रक्रिया शुरू होगी. क्योंकि 15 मार्च 2017 को नाशिक मनपा के महापौर का चयन हुआ था. 15 मार्च 2022 से एक साल पहले वॉर्ड की रचना प्रक्रिया शुरू करना अनिवार्य है. शहर की आबादी 2011 की जनगणना के अनुसार 15 लाख है. परंतु 10 सालों में शहर की आबादी 21 लाख तक पहुंच गई है. इसके चलते वोटरों की संख्या 15 लाख हो गई है. 122 वॉर्ड बनाए गए तो एक वॉर्ड में वोटों की संख्या 13 हजार हो सकती है. चुनाव में 60 प्रतिशत मतदान होने पर 7-8 हजार वोटों की गणना करनी होगी ।
Comments