कलेक्टर की जमीन पर कब्जा जामने वाले माफियाओं पर सपा विधायक अबु आसीम आज़मी ने बोला हल्ला

मुंबई कलेक्टर को ज्ञापन सौंपकर किया माफियाओं पर एफआईआर दर्ज, अवैध निर्माण ध्वस्त करने की मांग


एम/पूर्व विभाग में सैकड़ो एकड़ में फैली सरकारी जमीन को मुंबई कलेक्टर कार्यालय, गुंडों के कब्जे से बचाने में नाकाम


रिपोर्ट : यशपाल शर्मा


मुंबई : एम पूर्व विभाग का स्लम शिक्षा के मंदिरों से अछुता राह गया है। यहां की मुंबई की कलेक्टर की खाली पड़े सैकड़ो एकड़ भूखंड पर झोपड़पट्टियों के बच्चो के लिये स्कूल कॉलेजों के बजाय भूमाफियाओं के कब्जे में है। जहां पर माफिया लोग दो नंबर का धंधा करके करोड़ो रुपए कमाकर सरकार के राजस्व को चुना लागते चले आ रहे है।



कलेक्टर अपनी जामिन को बचाने में माफियाओं के कब्जे से नाकाम


सरकार अपनी जामिन भूमाफियाओं के कब्जे से वापस लेकर झोपड़पट्टियों के बच्चों के लिये स्कूल कॉलेज की सुविधा उपलब्ध करवाये स्लम बाहुल्य क्षेत्रों में। ऐसा उदगार मुंबई कलेक्टर कार्यालय में शिवाजीनगर मानखुर्द विधानसभा क्षेत्र में अवैध रूप से सरकारी कलेक्टर की जमीन पर कब्जा जमाकर करोड़ो की कमाई करने वाले दो नंबर के धंधों पर तुरंत करवाई कर के बंद किये जाने की मांग को लेकर एक शिष्ट मंडल के साथ मुंबई कलेक्टर कार्यालय पहुंचे सपा विधायक अबु आसीम आज़मी ने विधानसभा क्षेत्र के माफियाओं के खिलाफ हल्ला बोल दिया है।


तुरंत माफियाओं गुंडों के बनाये लिंक रोड के बीच सड़क पर बने 8 अवैध निर्माणों से लेकर मंडाला इंदिरानगर गणेश मंदिर के पीछे बने अवैध निर्माणों है। वार्ड क्रमांक 141.के वर्तमान प्रभाग समिति अध्क्षय विट्टल लोकरे अवैध निर्माण पर करवाई करने की बाजये ज़ाकिर हुसैन नगर में नाले के बगल में बने शौचालय के अगल बगल अवैध गोदाम बनवाकर भंगर वालो को संरक्षण देने में लगे है। वार्ड क्रमांक.139 के सपा नगरसेवक अख्तर कुरेशी नके दुर्गसेवा संघ में मट्टी की भरनी कर लकड़े पतरे के जरिये अभी भी भूमाफियाओं के साथ मिलकर झोपड़े बनाकर बेचने में सक्रिय है। गुंडे, माफियाओं के बने गैरकानूनी धंधे बंद होना चाहये और जिसने भी कब्जा जमाया है उसके खिलाफ मुंबई  कलेक्टर कार्यालय अवैध निर्माणों को ध्वस्त कर एफआईआर दर्ज करें।



दो नंबर के धंधों की बाजये शिक्षण संस्थानों के उपयोग में आनी चाहये सरकारी जमीन


सरकारी जामिन पर गरीब झोपड़पट्टियों में पढ़ने वाली बच्चियों के लिये सरकारी जामिन का उपयोग स्कूल कॉलेज, डिग्री कॉलेज, कॉमर्स, विज्ञान, इंजीनियरिंग, पॉलिटेक्निक, आईआईटी जैसे शिक्षण संस्थान बनाने के उपयोग में आनी चाहिये।
न कि मंडाला स्क्रैप में केमिकल युक्त काले तेल का धंधा, बिजली के तार जालने से लेकर साबुन फैक्ट्री, लकड़ी, लोहे, कागज, भंगर के गोदामो के तौर पर दो नंबर के धंधों के लिये उपयोग में होना चाहिये।


मंडाला स्क्रैप में लगने वाली आग संदिग्ध


उल्लेखनीय तौर पर जहां हर साल लगने वाली आग में हजारों लाखों स्वाहा हो रहा है स्क्रैप से लगे ट्रांसिट कैम्प किं झोपडपट्टी लोहार चावल मंडाला के निवासियों को हमेशा अपनी जान हथेली पर लेकर रहना पड़ता है। आकस्मिक लगने वाली आग और काले तेल की दुर्घन्ध से न सिर्फ विभिन्न जानलेवा टीबी, हार्ट अटैक, ब्लड प्रेशर से ग्रस्त होकर जानलेवा बीमारियों के शिकार हो रहे है नागरिको के बच्चे सहित मानवी बल्की धुंवे प्रदूषण,केमिकल युक्त तेल से स्क्रैप से लगी खाड़ी के मैंग्रोज विलुप्त की कगार पर पहुंच चुके है।



मफ़ियाओ को फायेदा पहुंचाने की बजाये सरकारी राजस्व का फायदा करे प्रशासन


मुंबई कलेक्टर से अपनी जमीन अच्छे कार्य के लिये उपयोग करने का सुझाव दिया न कि माफियाओं को करोड़ो रुपए कमाने का जारिय बनाये। मंडाला स्क्रैप की लीज खत्म होने के बाद भी मुंबई का कलेक्टर प्रशासन क्यों मेहरबान है जमीन कब्जाने वाले मफ़ियाओ पर, क्यों नही खाली करवाता है।


Comments