द्वारका महानायक-महासिंघम एसीपी राजेंद्र सिंह की पुलिस सेवानिवृत्ति पर इस्कॉन मंदिर व पत्रकार-बंधुओं ने केक काटकर विदाई समागम का किया भव्य-आयोजन


रिपोर्ट : अनीता गुलेरिया


दिल्ली : पुलिस के कर्मठ-निडरवान उत्कृष्ट कार्य को अंजाम देने वाले दिल्ली-पुलिस के महानायक महासिंघम द्वारा लंबे सेवा अंतराल कार्यशैली मे हर क्राइम का पर्दाफाश करते हुए अपना सिंघम रूप का जलवा बिखेरने वाले राजेद्र सिंह,जिन्हें राष्ट्रपति गृहमंत्री कई अवॉर्ड से नवाजा गया। किसी भी कार्यशैली दौरान अग्रसरित-सहायक की भूमिका निभाने वाले राजेंद्र सिंह के मजबूत हाथों के शिकंजे मे जो आया,फिर उनके पंजे से कतई ना बच पाया। पिछले वर्ष 15 अगस्त को गृहमत्रालय अवार्ड के अलावा देश के छह-सर्वश्रेष्ठ पुलिस आफिसरो मे दर्जा हासिल कर चुके एसीपी राजेंद्र सिंह के दिल्ली पुलिस से सेवानिवृत्त होने पर द्वारका-वासियों और पत्रकार बंधुओं के संयोजन से इस्कॉन मंदिर में केक काटकर मंदिर के अध्यक्ष पीयूष गोयल और द्वारका फॉर्म अध्यक्ष सुशील कुमार ने द्वारका वासियों की तरफ से एसीपी राजेंद्र सिंह द्वारा अपने उर्जस्वी अंदाज से किए गए उत्कृष्ट-सेवा कार्यशैली के लिए तहेदिल से धन्यवाद व्यक्त किया।



दूसरी तरफ द्वारका प्रेस-क्लब अध्यक्ष वरिष्ठ-पत्रकार अनिल बलियान ने मंच-संचालन करते हुए एसीपी राजेंद्र सिंह के साथ प्रोफेशनल तौर पर प्रेस और पुलिस-संवाद पर चर्चा कर उनके साथ बिताए पुराने पलो को याद कर,उनके द्वारा कम समय में बड़े से बडे केस जिसमें निर्भया कांड सुनंदा पुष्कर कांड व बंटी चोर इसके अवाला कई बड़े घोटालों को बेनकाब करके निडर अंदाज में सुलझाते हुए तीन साल मे द्वारका-सबसिटी को समस्त दिल्ली मे एक सुरक्षात्मक सोसाइटी का दर्जा देने का मुख्य- श्रेय एसीपी राजेंद्र सिंह को दिया और आगे भविष्य में उनके द्वारा समाज के लिए किए जाने वाली हर अग्रसर-कार्यशैली में पत्रकार बंधुओं द्वारा पूर्णत सहयोग देने का आश्वासन देते हुए उनके आगामी सक्षम-जीवन के लिए ढेरों शुभकामनाएं दी।



द्वारका महासिंघम एसीपी राजेंद्र सिंह ने अपने वक्तव्य में संवैधानिक तौर पर मजबूत चौथे-स्तंभ के तौर पर काम कर रहे पत्रकार बंधुओं को अपना काम ईमानदारी से निभाने व उनके द्वारा विदाई समारोह के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा आप सब के सहयोग से मुझे अपने काम को मजबूती व सही तरीके से अंजाम देने के पीछे आप सभी को अपना दाहिना हाथ मानता हू। मैं अपने कार्यकाल के दौरान पत्रकार बंधुओं द्वारा दिए गए सहयोग को हमेशा याद रखूंगा ।



काफी लंबे-अंतराल तक पुलिस के लिए (सच-दर्पण) कार्यशैली की मिसाल कायम करने वाले द्वारका एसीपी राजेंद्र सिंह सभी के लिए रोल-मॉडल थे,रोल मॉडल है,और रोल मॉडल रहेंगे,उनके द्वारा ऊर्जस्वी और निडर-अंदाज में की गई उत्कृष्ट कार्यशैली को सदियों तक याद किया जाएगा,किसी का नाम बोलता है,तो किसी का काम बोलता है,लेकिन द्वारका एसीपी राजेंद्र सिंह जैसी शख्सियत का नाम व काम दोनों बोलते हैं । 31अक्तूबर 2020 को दिल्ली पुलिस सेवा से निवृत हुए आज इस दौर के (60) वर्षीय महानायक महासिंघम को समस्त देश का सलाम । इसी के साथ दिल्ली क्राइम-रिपोर्टर अनीता गुलेरिया द्वारा (महिला-संरक्षक) बतौर द्वारका-महासिंघम एसीपी राजेंद्र सिंह के नाम(निर्भया-कांड) संदर्भ में लिखी चंद-लाइने पेश की गई ।




  • आखिर कैसे हम ना लड़ते हर सांस से लड़ते देखा, बेटी निर्भया के निर्जर-नीर की वो बेबसी ।

  • सात साल तक दुष्कर्मियों ने खेली पैंतरेबांजी की रस्साकस्सी, आखिर दुष्कर्मी कैसे बच जाते, और कैसे गले में ना होती फांसी की वो रस्साकस्सी ।

  • जांबाज महासिंघम के मजबूत पंजे के शिकंजे से आखिर कैसे बच जाते,जब पुख्ता जांच-सबूतों की नकेल थी उसने पूरी कसी ।

  • देश के महानायक-महासिंघम यह चंद लाइने है तेरे नाम,देश की मां-भारती का हर पल तुझे सलाम हर पल तुझे सलाम, हर पल तुझे सलाम ।


Comments
Popular posts
Mumbai : ‘काव्य सलिल’ काव्य संग्रह का विश्व पर्यावरण दिवस पर विमोचन और सम्मान पत्र वितरण समारोह आयोजित
Image
Mumbai : महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस कमिटी पर्यावरण विभाग के प्रदेश उपाध्यक्ष साहेब अली शेख, मुंबई अल्पसंख्यक अध्यक्ष व नगर सेवक हाजी बब्बू खान, दक्षिणमध्य जिलाध्यक्ष हुकुमराज मेहता ने किया वृक्षारोपण
Image
पेट्रोल के दामों में बढ़ोत्तरी के लिए केंद्र नहीं राज्य सरकार जिम्मेदार : भवानजी
Image
मानव पशु के संघर्ष पर आधारित फिल्म 'शेरनी' मेरे दिल के करीब है – विद्या बालन
Image
New Delhi :पर्यावरण संरक्षण महत्व व हमारा अस्तित्व पर 'एम वी फाउंडेशन' द्वारा विराट कवि सम्मेलन का आयोजन
Image