संघार फिल्म एक स्मृति और अन्य धर्म शास्त्रों में वर्ण व्यवस्था कर्म आधारित है

मुंबई : संघार फिल्म एक स्मृति और अन्य धर्म शास्त्रों में वर्ण व्यवस्था कर्म आधारित है, सनातन धर्म संदेश है। सनातन धर्म से ही सारे लोग उत्पति हुई है। इसके गीत को महान कैलास खैर ने गाकर पुनीत इस्सर प्रोडूसर प्रोड्यूसर संघ मे अलोकिक सम्मान किया। साथ मे प्रोड्यूसर राम कुमार पाल मोहित गहलोत ने सिद्धार्थ इस्सर प्रमुख भूमिका साथ लेखन भी सिद्धार्थ इस्सर संतों और गौ हत्या का घोर विरोध रूप फिल्म प्रोडक्शन का प्रयास हैै। सनातन धर्म संदेश देने का प्रयास किया गया है।

हर महानुभावों का अवतरण हुआ वह सभी पहले सनातन रूप में जन्म लिया फिर सभी सिद्ध हुए अवतरित हुए धरोहर संभाल संभालने का प्रयास करें और कर्म के आधार पर कोई भी अपना वर्ण बदलने के लिए स्वतंत्र था जैसे ब्राह्मण क्षत्रिय वैश्य शूद्र एक दूसरे के काम में कोई हस्तक्षेप ना करें। सुचारू रूप से शासन व्यवस्था चलता रहे ऊंट बैलगाड़ी प्रवास का युग था। आधुनिक युग नहीं था जो जिस काम का कौशल विकास कारीगर बौद्धिक बाहुबल से था उसे वैसा ही तालपत्र सर्टिफिकेट दिया गया था।

Comments