पूर्व नगरसेविका के सपने को सपा नगरसेविका ने किया साकार

मनपा स्कूल में ८वीं कक्षा से बढ़ाकर १०वीं कक्षा के विद्यार्थियों के लिए करवाई व्यवस्था

मुंबई : आज से ठीक ४० वर्ष पूर्व गोवंडी शिवाजीनगर बगैनवाड़ी संजय नगर का इलाका झोपड़पट्टियों बाहुल क्षेत्रों में गिना जाता है। झोपड़पट्टियों गुंडागर्दी, लड़ाई झगड़े, नाशा करने वालों के इर्द-गिर्द घूमती जिंदगी १० वर्ष पूर्व क्षेत्र से सपा पार्टी के टिकट पर चुनाव जीतकर आने बाली नूरजहां रफीक शेख जो कहा जाता है कि उन्होंने खुद ८वीं तक की अपनी शिक्षा इसी संजय नगर मनपा स्कूल से पूरी की थी। जिसके बाद उनके मन भी झोपड़पट्टियों रहने वाले गरीब बच्चों के घरों में शिक्षा का दीपक जलाने के लिए उन्होंने मनपा से पत्राचार कर जर्जर खास्ता हाल स्कूल को आधुनिक ७ मंजिला मनपा स्कूल के तौर पर कायापलट सौंदर्यीकरण करके वार्ड की गरीब जनता के घरों में शिक्षा का दीपक जलाने के लिए नए मनपा स्कूलों में पढ़ाई से लेकर कई तरह की तब्दीलियां की गई, जिसके कारण मनपा स्कूलों से बच्चों का मोह भंग न हो। बर्नाकुलर मीडियम के अलावा सेमी इंग्लिश मीडियम का चलन करवाया। वहीं उल्लेखनीय तौर पर आज उसी चीज को आगे बढ़ते हुए वार्ड क्र. 137 की स्थानीय सपा नगरसेविका आयेशा रफीक शेख ने अपनी पूर्व नगरसेविका मां नूरजहां रफीक शेख के सपनों को साकार कर वार्ड की गरीब जनता को दीपावली के तोहफे के रूप में ८वीं कक्षा से आगे बढ़ाकर १०वीं तक करवा दिया है। इस कार्य के लिए मनपा शिक्षा विभाग के सहायक आयुक्त से लेकर मनपा शिक्षण समिति अध्यक्ष, प्रशासकीय अधिकारी मनपा करी रोड कार्यालय, एम पूर्व-1 प्रशासकीय अधिकारी स्कूल, एम पूर्व-1 विभाग निरक्षक उर्दू विभाग को लिखित पत्र के माध्यम से क्षेत्र के विद्यार्थियों को चेंबूर सायन वडाला, मुंबई बांद्रा के भरोसे रहना पड़ता है। आगे हायर एजुकेशन के लिए लड़कों और लड़कियों को १०वीं के लिए स्कूल काफी दूर पड़ते हैं परिणामस्वरूप विद्यार्थियों की समस्या को गंभीरता से लेते हुए गोवंडी शिवाजीनगर बगैनबाड़ी संजय नगर का स्कूल १०वी तक कराने में साफल रहे हैं। मामले में जब आयेशा रफीक शेख से संबंधित पत्रकार ने संपर्क किया तो उन्होंने कहा 'गरीब बच्चों के लिए उनके घर के पास शिक्षा की व्यवस्था करना, यह मेरा फर्ज है।

Comments