राज्य सरकार ने बिजली बिल माफी को लेकर पलटी मारी, मुंबई करो के समर्थन में उतरे आक्रोशित भाजपाइयों ने मानखुर्द मंडाला में बिजली बिलों की जलाई होली

रिपोर्ट : यशपाल शर्मा 

मुंबई : पिछले 6 महीनों के कोरोना काल के दौरान घरों में बंद जनता भुखमरी के कगार पर पहुंच चुकने के काऱण राज्य की उद्धाव ठाकरे सरकार व बिजली मंत्री से स्कूल फीस माफी सहित बिजली बिल की माफी करने की मांग किया था।

जिसके लिये विभिन्न सामजसेवी संस्थाओं, मंडलो राजनीतिक पार्टियों के जनप्रतिनिधियों ने राज्य सरकार से शांति पूर्वक आंदोलन मोर्चे के जरिये मुंबई कर जनता की लॉक डाउन के कारण आर्थिक बदहाली का हवाला देकर बिजली के बिलों को माफ करने की मांग किया था। जिसे वर्तमान राज्य की उद्धाव ठाकरे द्वारा मुंबईकर जनता की बिजली बिल माफ करने की मांग को सिरे से खारिज करते हुए बिल भरने की मांग कर डाली है। कहा जाता है कि उद्योग पतियों का फायदा पहुंचाने में लगी है, राज्य सरकार झुग्गियों झोपड़पट्टियों में रहने वाली मुंबई करी जनता कहाँ से लायेगी बिजली बिल भरने को पैसा ।

कहा जाता है कि शुरुवात में राज्य की महाविकास आघाडी सरकार जनता की हितैषी बनकर लॉक डाउन की शिकार मुंबईकरो के सुख दुख में सहभागी बनने में लगी थी। उल्लेखनीय तौर पर वर्तमान समय राज्य सरकार के बिजली मंत्रालय के मंत्री द्वारा मुंबईकर जनता का बिजली बिल माफ़ करने की मांग को अनदेखा करने से नाराज शिवाजीनगर-मानखुर्द विधानसभा क्षेत्र में भाजपा विधानसभा जिला अध्यक्ष सतीश शिर्के के नेतृत में राव राणे, नसीम बानो, हेमंत भास्कर, महामंत्री अभिषेक तिवारी सहित बड़े पैमाने पर भाजपा कार्यकर्ताओं ने आंदोलन को सफल बनाने में योगदान दिया। जनता के हितों को ध्यान में रखते हुए तीव्र आंदोलन छेड़कर बिजली बिलों की होली जलाई। उपरोक्त अवसर पर कानून व शांति बनाये रखने के लिये मानखुर्द पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ निरीक्षक के आदेश पर कड़ा बंदोबस्त किया गया था।

Comments