पुरुष नसबन्दी पखवाड़ा अभियान कल से शुरू, नसबन्दी को लेकर जिले की आशाएं घर-घर खटखटाएंगी दरवाजा

रिपोर्ट : टी.सी. विश्वकर्मा

मीरजापुर, (उ.प्र.) : पुरूष नसबन्दी पखवाड़े को लेकर गुरूवार को मुख्य चिकित्साधिकारी कार्यालय स्थित विवेकानन्द सभागार में आयोजित बैठक में प्रभारी चिकित्साधिकारियों को यह जानकारी डाक्टर 0पी0 तिवारी ने दिया। उन्होने ने कहा कि जनपद में पुरूष नसबन्दी पखवाड़ा दो चरणों में चलना है। इस अभियान में पुरूषों की हिस्सेदारी को बढ़ाने पर जोर दिया जायेगा। जिले में अभियान के दौरान पुरूषों का अधिक से अधिक नसबन्दी करने का प्रयास किया जायेगा। 

परिवार नियोजन परामर्शदाता विनय सिंह ने कहा कि इस पखवाड़े का मुख्य उद्देश्य जनसंख्या नियन्त्रण के लिए पुरूषों को जागरूक करने के साथ ही साथ उनके सहयोग से इस कार्यक्रम में गति प्रदान करना है। अभियान के दौरान जिले 2043 आशा 563 एएनएम घर घर जाकर दंपत्तियों से सम्पर्क कर उनका रजिस्टेªशन भी करेगी और विभाग की ओर से जनसमूह से भी संवेदीकरण कर परिवार नियोजन के स्थाई तथा अस्थाई साधनों के प्रति जागरूक करने का कार्य करेगी। 

जिला कार्यक्रम प्रबन्धक अजय सिंह ने बताया है कि इस अभियान के दौरान जिले के 9 सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, 44 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र समेत 216 उपकेन्द्रों पर सभी डाक्टर स्टाफ मौजूद रहेगे। कोविड के इस दौर में जनसंख्या स्थिरीकरण के लिए पुरूषों को जागरूक करने के साथ परिवार नियोजन के इस अभियान को गति प्रदान किया जायेगा। जागरूकता के लिए व्यापक स्तर पर प्रचार प्रसार किया जायेगा। 

दो चरणों में चलाया जायेगा अभियान 

पुरूष पखवाड़े को जिले में दो चरणों में चलाया जायेगा। 21 से 27 नवम्बर के बीच दम्पत्ति सम्पर्क चरण और 28 से 4 दिसम्बर के बीच सेवा प्रदायगी चरण का आयोजन किया जायेगा। इन दोनों चरणों में जिले के आशा एएनएम की महत्वपूर्ण भूमिका होगी। 

नसबन्दी की स्थिति

जिले में 1 अप्रैल 2020 से अब तक कुल 853 महिलाये और 3 पुरूषों ने नसबन्दी कराया है। नसबन्दी के कार्य में राजगढ़ प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के डाक्टर सन्त लाल की महत्वपूर्ण भूमिका है।


Comments