भ्रष्टाचार के खिलाफ रैली 27 नवम्बर से निकाला जायेगा रैली


रिपोर्ट : कुणाल संगोई


मुंबई : एन्टी करप्शन समिति एलियस भ्रष्टाचार निर्मूलन समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष रबिन्द्र द्विवेदी ने प्रेस विज्ञप्ति जारी करके जानकारी दिया की समिति के तरफ से 26 फरवरी 2002 से 7 जनवरी 2007 तक सम्पूर्ण भरत में भ्रष्टाचार के खिलाफ 5 वर्ष तक रैली निकाली गयी जो रैली महाराष्ट्र के ठाणे जिल्हा से निकलकर 50 जीप कार, 50 मोटरसाइकिल, 10 लाउडस्पीकर एवं 500 कार्यकर्ताओ के साथ सम्पूर्ण भारत में जाती थी और 5 वर्ष तक रैली आयोजन किया गया जो भारत की पहली संस्था है भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्य करने वाली जो 5 वर्ष तक सम्पूर्ण भारत में भ्रष्टाचार के खिलाफ रैली निकाला और उसी तरह 27 नवम्बर 2020 से 5 जीप कार, 10 मोटरसाइकिल, 2 लाउडस्पीकर एवं 30 कार्यकर्ताओ के साथ कोरोना काल में रैली निकाली जाएगी.


जो रैली महाराष्ट्र के ठाणे जिल्हा से निकलकर ठाणे शहर, कसारा, नाशिक, धुलिया, इंदौर, झाँसी, कानपूर, लखनऊ, श्री.अयोध्याजी, गोरखपुर, बलिया, दरभंगा, पटना, मऊ, आजमगढ़, जौनपुर, वाराणसी, प्रयागराज, भोपाल होते हुए 18 दिसम्बर 2020 को महाराष्ट्र में रैली वापस आएगी. जो रैली के दौरान कोरोना पीड़ित लोगो को, किसानो को, बाढ़ पीड़ितों को, कोरोना काल में अंतिम सांस लेने वालो के परिवार के लोगो को मिलेंगे एवं 1000 महिलाओ एवं विधवाओं को कम्बल, साड़िया, सिलाई मशीन वितरण करेंगे एवं अपंग लोगो को 100 व्हीलचेयर एवं 5000 खाने पिने के पैकेट्स वितरण करेंगे एवं सभी से मुलाकात कर के जानकारी हासिल करेंगे की केन्द्र सरकार ने जो कोरोना काल में 20 लाख करोड़ का फंड अनुदान के रूप में दिया है एवं 4111 करोड़ रुपया कोरोना से बीमार लोगो को उसका लाभ जनता को मिला की नहीं एवं प्रदेश सरकारों ने जो घोषणा किया था अलग अलग तरह से सहयोग करने के लिए उसका लाभ जनता को मिला की नहीं एवं 56 लाख जनता जो मजदुर (माइग्रेंट) लोगो ने कोरोना काल में दिल्ली, महाराष्ट्र, पंजाब, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, पश्चिम बंगाल एवं अन्य प्रदेशो से पलायन करके अपने अपने गांव जिल्हो में गए सरकार ने उनको क्या अनुदान एवं सहयोग दिया एवं केन्द्र सरकार ने जो 216 जिल्हो की जनता को पलायन के समय सूचि बनायी थी सहयोग देने के लिए तो केन्द्र सरकार ने आयुष मंत्रालय के सहयोग से 216 जिल्हो की जनता को क्या लाभ एवं फायदा पहुंचाया.


जो सभी लोगो को मिलने के बाद उनकी रिपोर्ट समिति के लोगो एकत्रित करेंगे और 11 जनवरी 2021 को केन्द्र सरकार को ज्ञापन के द्वारा रिपोर्ट सौपेंगे और मांग करेंगे मजदूरों (माइग्रेंट) को न्याय देने के लिए एवं विकास के लिए एवं जो भी कोरोना काल में भ्रष्टाचार किया है उसकी सच्चाई से जाँच कराने के लिए जिस तरह एन्टी करप्शन कमिटी एलियस भ्रष्टाचार निर्मूलन समिति के तरफ से 12 फरवरी2019 से 28 फरवरी 2019 तक महाराष्ट्र में जन संवाद यात्रा निकाली गयी थी और सरकार के कार्यो की समीक्षा किया गया था और उसकी रिपोर्ट केन्द्र सरकार को 11 मार्च 2019 को एवं महाराष्ट्र सरकार को 6 मार्च 2019 को सौपा गया था जो महाराष्ट्र की जनता ने प्रदेश सरकार को नकार दिया।   


Comments