जिले में 2 से 11 नवम्बर तक चला टीबी खोजी अभियान, अभियान के दौरान टीबी के 59 मरीज पाये गये

75830 लोगों का स्क्रीनिंग का लक्ष्य विभाग ने किया था निर्धारित

ज्ञानपुर/भदोही, (.प्र.) : मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ लक्ष्मी सिंह ने कहा कि असाघ्य बीमारी नहीं है टी0बी0 की बीमारी, परन्तु लोगों में जागरूकता होने होने के कारण इस रोग से लोग घबराते हैं। जबकि इलाज द्वारा टीबी रोग से मुक्ति सम्भव है। इसी के लिए समय-समय पर विभाग द्वारा अभियान चलाकर टीबी रोगी को खोजने का काम लगातार विभाग के द्वारा किया जाता रहा है। 

अपर मुख्य चिकित्साधिकारी/नोडल अधिकारी डाक्टर एस0पी0सिंह ने बताया कि जिले में 2 से 11 नवम्बर तक अभियान चलाकर 59मरीजों को खोजने का काम किया है बताया कि अभियान के दौरान प्रचारण्प्रसार के माध्यम से लोगों को अधिक से अधिक जागरूक किया गया। मिले हुए मरीजों को जिला चिकित्सालय में भर्ती कर उनका उपचार विभाग द्वारा शुरू कर दिया गया है। अभियान में 75830 लोगों की स्क्रीनिंग का लक्ष्य विभाग द्वारा निर्धारित किया गया था जिसमें विभाग की टीम ने 68793 लोगों का टेस्ट किया उसमें से टीबी रोग के लक्षण वाले 3453 मिले उसमें से 2733 लोगों का सैंपल लिया गया। जांच की रिपोर्ट आने के बाद जिले में कुल 59 मरीजों की पुष्टि विभाग द्वारा किया गया। 

जिला कार्यक्रम समन्वयक मनीष कुमार का कहना है कि अभियान में 56 टीमों को लगाने के साथ ही साथ 14 सुपरवाइजर को भी लगाया गया था। विभाग की पैरामेडिकल स्टाफ द्वारा घर-घर जाकर लोगों को टीबी रोग के साथ ही साथ साफ-सफाई पर भी विस्तारपूर्वक समझाने का कार्य किया गया। जिले में कोविड.19 संक्रमण के मद्देनजर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए मुंह पर मास्क लगाकर मरीजों को खोजने का काम किया और आम जनमानस को कोविड.19 से बचाव के बारे में उन्हें 2 गज की दूरी का पालन करने और घर से बाहर निकलते समय मुंह पर मास्क लगाने तथा साबुन पानी या सेनीटाइजर से हाथ धोने का परामर्श दिया गया  

टीबी रोग के मुख्य लक्षण 

  • लम्बे समय तक खासी 
  • बलगम आना 
  • भूख कम लगना 
  • शरीर कमजोर हो जाना 
  • बार-बार बुखार का आना 
  • सांस लेने में परेशानी 
  • मुंह से खासी आना

 


Comments