टेलीमेडिसीन इलाज से कोविड.19 के मरीज भी हुये लाभान्वित

टेलीमेडिसीन के माध्यम से 2383 मरीजों का हुआ उपचार 

बीडीओ कान्फ्रेसिंग द्वारा स्पेशलिस्ट डाक्टरों द्वारा मिल रहा है परामर्श 

रिपोर्ट : टी.सी. विश्वकर्मा

मीरजापुर, (उ.प्र.) : राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन योजना के अंतर्गत सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर टेलीमेडिसीन के माध्यम से जनपद में अप्रैल माह से नवम्बर तक 2383 मरीजों का सफल इलाज किया गया। जिसमें हृदय रोगी मानसिक रूप से विक्षिप्त रोगी एवं कैसर से पीड़ित रोगी भी शामिल है। निःशुल्क इलाज की यह नवीनतम तकनीक जनपद के कोविड मरीजों के लिए कोविड के दौर में भी कारगर साबित हुई है।   

अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डाक्टर नीलेश श्रीवास्तव ने बताया कि टेलीमेडिसीन के तहत अच्छे निजी संस्थानों से करार किया गया हैए जहां के विशेषज्ञ चिकित्सक वीडियो काफ्रेंसिग के माध्यम से मरीजों का निदान कर रहे है। जनपद में वीडियो काफ्रेंसिग के माध्यम से 14780 लोगों का इलाज हो गया है। जिनमें 2383 मरीज पूर्णतः स्वस्थ्य होकर अपनी जिन्दगी जी रहे है। जनवरी के रिपोर्ट कार्ड में अपोलो मेडिसिन के तहत सबसे ज्यादा रोगियों का इलाज करने में मीरजापुर को प्रदेश में पहला स्थान प्राप्त हुआ है। 

जिला कार्यक्रम प्रबन्धक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन अजय सिंह ने बताया कि जनपद के कुल नौ सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर टेलीमेडिसीन की सुविधा मिल रही है। सभी सम्बन्धित राजकीय अस्पताल आंध्र प्रदेश के हैदराबाद स्थित अपोलो हास्पिटल से सीधे जुड़ गये हैं। प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र कछवा में सबसे पहले 22 फरवरी 2019 से ही टेलीमेडिसीन की सुविधा शुरू हुयी है। जिससे मरीजों को बेहतर उपचार दिया जा रहा है। 

श्री सिंह ने बताया कि 1 अप्रैल 2019 से अब तक सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र अहरौरा चुनार जमालपुर विन्ध्याचल कछवां लालगंज मड़िहान एवं राजगढ़ के रोगियों का टेलीमेडिसीन के माध्यम से इलाज किया गया। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर उपचार के लिये पहुंचने वाले किसी भी रोगी के निदान में आने वाली जटिलताओं को दूर करने के लिये सम्बन्धित चिकित्सक बीडीओ कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से अपोलो अस्पताल के चिकित्सकों से परामर्श लेकर जानकारी प्राप्त करते है। डीपीएम ने बताया कि उपचार के लिये अपोलो द्वारा परामर्श के अलावा दवायें व उपकरण भी उपलब्ध कराया जा रहा है। 

यह इलाज है संभव : टेलीमेडिसीन के माध्यम से सामान्य बीमारियों के अलावा हदय रोग न्यूरो बाल रोगए महिला रोगए हड्डी रोगए त्वचा संबधी बीमारियों का इलाज संभव है। इस तकनीक से दूर बैठे लोग फिजियोथेरेपी का भी लाभ उठा सकते है। जिला समन्वयक अरूण ने बताया कि टेलीमेडिसीन के माध्यम से हर जरूरतमंद को ठीक करने का अभियान चलाया जाता रहा है।

लाभार्थी सराहना : अतुल पुत्र सुभाष ग्राम तिलई विकास खण्ड छानबे के रहने वाले ये काफी दिनों से पेट हो रहे दर्द से परेशान थे इन्होने अपना नजदीकी के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र मड़िहान पर कराने के लिए सम्पर्क किया वहां उन्हें मण्डलीय चिकित्सालय रेफर किया। मण्डलीय चिकित्सालय के डॉक्टरों ने जांच के बाद बताया कि आपका एक किडनी खराब हो चुकी है जिसकी डायलिसिस कराने के लिए टेलीमेडिसीन के जरिये परामर्श लेना होगा जो आपके नजदीकी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र विन्ध्याचल में मौजूद है इसलिए आपको अब विन्ध्याचल सामुदायिक केन्द्र पर जाना होगा। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के डाक्टरो ने टेलीमेडिसीन के जरिये बाहरी डाक्टरो से सलाह व परामर्श लेकर मेरी किडनी का डायलिसस किया जिससे आज मैं पूरी स्वस्थ्य हूॅ। इसलिए यह मेरे लिए एक वरदान से कम नही है।


Comments
Popular posts
Mumbai : ‘काव्य सलिल’ काव्य संग्रह का विश्व पर्यावरण दिवस पर विमोचन और सम्मान पत्र वितरण समारोह आयोजित
Image
New Delhi :पर्यावरण संरक्षण महत्व व हमारा अस्तित्व पर 'एम वी फाउंडेशन' द्वारा विराट कवि सम्मेलन का आयोजन
Image
Mumbai : महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस कमिटी पर्यावरण विभाग के प्रदेश उपाध्यक्ष साहेब अली शेख, मुंबई अल्पसंख्यक अध्यक्ष व नगर सेवक हाजी बब्बू खान, दक्षिणमध्य जिलाध्यक्ष हुकुमराज मेहता ने किया वृक्षारोपण
Image
मानव पशु के संघर्ष पर आधारित फिल्म 'शेरनी' मेरे दिल के करीब है – विद्या बालन
Image
पावस ऋतु के स्वागत में ‘काव्य सृजन’ की ‘मराठी काव्य’ गोष्ठी
Image