मानखुर्द मंडाल में जलवाहिनी के उद्घाटन के बाद भी खुले आम हो रही है पानी की कालाबाजारी, 10 रुपए प्रति केन बेचा जा रहा है पानी

मुंबई
: मानखुर्द मंडाला में महापौर जलवाहिनी उद्घाट के बाद पानी की हो रही है खुलेआम कालाबाजारीएम-पूर्व मनपा अंतर्गत आने वाले वार्ड क्रमांक 135. मानखुर्द मंडाला के विभिन्न अनगिनत रहवासिय हिस्सों में पिछले कई वर्षों पुरानी व्याप्त पेय जल समस्या को मुंबई की महापौर के हाथों सीधे पावई से मानखुर्द मंडाला के लिये 18 इंची पाइप लाइन खींचकर लाकर मंडाला के भीतरी भागों में 6.50,7 एम.एम. की पाइप लाइन बिछाकर पानी उपलब्ध करवाने की कोशिश की गई ।जिस पर मंडाला के रहिवासियो के अनुसार पिछले दो दिनों से पेय जल समस्या खत्म होने की बाजये विक्राल रूप धारण कर चुकी है।

वहीं उल्लेखनीय तौर पर क्षेत्र के पानी चोरो द्वारा मैन लाइन से चोरी का अवैध कनेक्शन लेकर 10 रुपए प्रति केन पानी का गेलन 24 घंटे बेचा जा रहा है पीने का पानी मानखुर्द मंडाला। कहा जाता है कि कानूनको ताक में रखकर भ्रष्ट जल विभाग के अभियंता को प्रति कनेक्शन लाखो रुपए देकर लगाने बाद हौसले बुलंद है। सुत्रों के अनुसार फिरोल वाले कनेक्शनो में जिसमे जलवाहिनी से सभी पेय जल उपभोगताओं के घरों में बढ़े हुए प्रेशर के साथ बगैर मोटर के पानी आपूर्ति होती है, उन कनेक्शनों को पीस डालकर मानखुर्द मंडाला के 50 हजार की जनसंख्या के पीने के पानी के पानी चोरो ने अवैध चोरी के कनेक्शनों से डाका डाला है।परिणाम स्वरूप वार्ड क्रमांक.135 में जनता के घरों में पानी एम/पूर्व मनपा का जल विभाग पानी नही पिला रहा है, बल्की जनता को पानी चुनिंदा मंडाला के पानी चोर पिला रहे है।जिनको एम पूर्व के जल विभाग के अभियंता रंजीत चौहान का संरक्षण प्राप्त है।

उल्लेखनीय तौर पर सड़क से लेकर गटर के गंदे पानी से होते हुए 4 मंजिला घरों के ऊपर से पानी चोरो द्वारा पानी की पाइप लाइन निकालकर रोजाना का दस हजार रुपए की कमाई करनेमे व्यवस्त है। वहीं गरीब जनता पीने के पानी के लिये साइकिल पर केन लादकर पानी के लिये बूढ़े से लेकर जावन छोटे बच्चे गलियों में भटकते साफ देखे जा सकते है। कहा जाता है कि क्षेत्र के पानी चोर एम पूर्व के जल विभाग के अभियंता रंजीत चौहान की मिली भगत से चांदी काटने में लगे है। कहा जाता है कि प्रति केन पानी दस रुपए में बेचा जा रहा है। सूत्रों के अनुसार क्षेत्र के पानी चोरों ने घाटकोपर-मानखुर्द लिंक रोड़ से आई पावई की 18 इंची पाइप लाइन से अनगिनत चोरी के कनेक्शन मतांगऋषि नगर से लेकर पीएमजी सिग्नल तक अलग अलग घरों व व्यवसायिक रामलिंगम होटल से लगाकर विभिन्न रहवासिय घरों में गया है चोरी की पाइप लाइन, उल्लेखनीय तौर पर चोरी की मोटरों से 2 किलोमीटर तक पाइप के जरिये पानी खींचकर महेंगे भावों दस रुपए प्रति केन बेचकर रोजाना पांच हजार से दस हजार रुपए की लॉक डाउन में गरीब जनता को लूटने में लगे है। चोरी की मोटरे पीएमजी सिग्नल के इर्द-गिर्द गन्ने की मशीन की स्टॉल तो गटरों और दीवार के पात्रों में प्लाई से छुपाई हुई मिलेगी। वही यह भी कहा जाता है कि एम पूर्व जल विभाग के अभियंता रंजीत चौहान ने चोरी के कनेक्शन वितरित करने में प्रति कनेक्शन के डेढ़ लाख रुपए तक वसूली किया है, क्योंकि मेन लाइन में पीने का पानी 24 घंटे आता है, जिसमे फिरोल वाले पाइप लाइन में जिसमे निरंतर बड़ी बारी से सबको मिलने वाले पानी मे पीस डालकर खुले आम डकैती डालने का कार्य के तौर पर देखा जा रहा है।

उल्लेखनीय तौर पर पानी की खुले आम कालाबाजारी कर कमाने में लगे है पानी चोर। पानी चोरो के बुलंद हौसले के कारण पुलिस चौकी को बनाया पानी चोरी करने की शरणस्थली। मंडाला के सारे पानी चोर पुलिस बिट में लगी पानी की टँकी से चोरी की बिजली का कनेक्शन के जरिये पानी की सप्लाई करते चले आ रहे है कि वर्षो से बेखौफ होकर। कहा जाता है किं पोलिस बिट का रख रखाव पानी चोरो द्वारा किया जाता है। पेय जल समस्या से त्रस्त मानखुर्द मंडाला की जनता मनपा आयुक्त इक़बाल सिंह चहल, महापौर किशोरी पेडणेकर सहित पेय जल विभाग के वरिष्ठ मनपा अधिकारी सहित एम पूर्व के सहायक आयुक्त नारवाड़े सहित जल विभाग के मुख्य अभियंता रणजीत चौहान कब करेंगे पुलिस बिट चौकी, चोरी की पानी की मोटरों सहित पानी चोरों के अवैध नल कनेक्शनो पर कड़ी कार्रवाई। क्या इसी तरह से भ्रष्ट जल विभाग के अधिकारी रंजीत चौहान पानी चोरों के साथ मिलकर मनपा प्रशासन के राजस्व को चुना लगाकर चांदी काटते रहेंगे पानी चोरों के साथ मिलकर। प्रतिक्रिया हेतु मामले में रंजीत चौहान से फोन पर संपर्क करने की कोशिश करने पर संपर्क नही हो पाया।

Comments