उत्कर्ष महिला विकास समिति ने स्वंय-रोजगार हेतु गोबर निर्मित उत्पाद प्रशिक्षण शिविर का किया आयोजन


द्वारका के जीवन-पार्क (बी.डी पब्लिक) स्कूल में हुआ आयोजन


रिपोर्ट : अनीता गुलेरिया


दिल्ली : वैश्विक-महामारी के चलते पब्लिक दूरी के सभी नियमों को कायम रखते हुए महिला विकास समिति एवं सहायता समूह प्रकोष्ठ की तरफ से द्वारका के कई इलाकों में दस सालों से महिला सशक्तिकरण को लेकर महिलाओं को स्वंय-रोजगार जिससे वह आत्मनिर्भर बनते हुए एक सबल नारी बनकर अपना व अपने परिवार का जीवन-निर्वाह करने में अपना सम्पूर्ण-योगदान देते हुए खुद को व अपने परिवार को पूर्णत-रूप से सशक्त बना सके।



हमारे देश के प्रधानमंत्री द्वारा आत्मनिर्भर भारत स्वावलंबी भारत अभियान तहत जीवन पार्क के (बी.डी पब्लिक) स्कूल मे गोबर-उत्पादक (चीजे) बनाने का प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया । इस गोबर प्रशिक्षण कार्यशैली में दिवाली त्योहार को मद्देनजर रखते हुए दीपक,गणेश लक्ष्मी बनाना सिखाया जा रहा है और उनको अच्छे से सजावटी बनाकर जो देखने में अत्यंत सुंदर नजर आ रहे हैं । इस सामान को मार्केट में उतारकर लाॅकडाउन दौरान काफी संख्या में बेरोजगार हुए लोगों को एक स्वय-रोजगार का साधन जुटाने की प्रमुख विशेषता पर बल देते हुए उत्कर्ष महिला विकास समिति द्वारा लगातार प्रयास जारी है । उत्कर्ष महिला समिति की अध्यक्ष मंजू चौहान खुद इस गोबर से बनने वाले उत्पादों का प्रशिक्षण देते हुए गोबर से अगरबत्ती बनाना भी सिखा रही हैं ।



इस कार्यक्रम की आयोजक मंजू चौहान ने मीडिया-समक्ष बताते हुए कहा वह सिर्फ अब महिलाओं के लिए ही नहीं, विश्वव्यापी महामारी लॉकडाउन दौरान बेरोजगार हुए समाज के हर वर्ग के लोगों,दिव्यांगजनो को भी गोबर प्रशिक्षण से बने उत्पादों को सिखाकर उनको आर्थिक-स्थिति से उभारने के लिए प्रयासरत है । जिसके लिए उन्होंने समाज के अन्य लोगों को भी संयोजक के तौर पर सुगमता तहत आगे आने को कहा। उन्होंने आयोजन में उपस्थित सभी लोगों के साथ अपने विचार-विमर्श सांझा करते हुए कहा,मेरा यह मानना है दो दिन की मदद करने से अच्छा है, हम उनको कुछ ऐसा काम सिखाएं जिससे वह आर्थिक-तौर पर अपना सही से जीवन निर्वाहक खुद बन पाए । इस आयोजन में पंहुचे गणमान्य अतिथियों में से सुनील गुप्ता और सुभाष व्यास द्वारा इस आयोजन कैम्प में शामिल महिलाओं की कार्यशैली को देखते हुए रजनी शर्मा, रानी मेहरा, रजनी रावत, सरिता भाटिया आदि को सशक्त महिला प्रमाण-पत्र प्रोत्साहन के तौर पर दिए गए ।


कार्यक्रम के अंतिम चरण में रूप कमल सूर्याण ने आयोजन मे उपस्थित सभी अतिथियों और प्रशिक्षण में शामिल सभी सहयोगियों व प्रधानाचार्य (बी.डी पब्लिक स्कूल) व उत्कर्ष-महिला विकास समिति अध्यक्ष मंजू चौहान द्वारा दिए जा रहे गोबर- प्रशिक्षण उत्पादन से समाज मे आर्थिक स्थिति से कमजोर लोगों को मिलने वाले लाभार्थ को देखते हुए,तहे दिल से धन्यवाद व्यक्त कर इस अत्यंत-सराहनीय कदम को सभी मजबूत-वर्ग के लोगो के भरपुर योगदान से सार्थक-गति प्रदान करने पर बल दिया ।


Comments