“फैक्ट्री डायरेक्टर जिवेंदु रथ की हत्या एवं किशोर कुमार की हत्या के प्रयास में वाछिंत पचास हजार का इनामिया अपराधी गिरफ्तार”


रिपोर्ट : संस्कार सिंह


मीरजापुर, (उ.प्र.) : कबीर मठ कस्बा चुनार में शान्ति गोपाल कानकास्ट लिमिटेड (ऑयरन फैक्ट्री) धौहा चुनार के टेक्निकल डायरेक्टर जिवेन्दू रथ पुत्र अक्षय कुमार निवासी साही गुरुदावली थाना तलचर जनपद अंगुल उड़ीसा को 27 सितंबर 2020 को अज्ञात व्यक्तियों के द्वारा गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी एवं किशोर कुमार दास पुत्र गगन बिहारी को गोली मारकर घायल कर दिया गया था, इस संबंध में थाना चुनार पर धारा 307, 302, 34 भा0द0वि0 पंजीकृत किया गया था, उक्त घटना में वाछिंत 3 अभियुक्त भोनू उर्फ अजय यादव, अनिल यादव पुत्र लल्लन यादव व अजीत उर्फ भानू यादव पुत्र दया यादव को गिरफ्तार कर पूर्व में जेल भेजा जा चुका है, उक्त घटना में शेष वाछिंत अभियुक्तगण की गिरफ्तारी हेतु पुलिस महानिरीक्षक विन्ध्यांचल परिक्षेत्र द्वारा पचास हजार का इनाम घोषित किया गया था, वाछिंत अभियुक्तगण की गिरफ्तारी के क्रम मे 19 अक्टूबर 2020 को दोपहर 1.35 पर थाना चुनार व अदलहाट तथा स्वाट, एस0ओ0जी0 व सर्विलांस की संयुक्त टीम द्वारा मुखबीर की सूचना के आधार पर यादव ढ़ाबा अचितपुर से मुखबिर की सूचना के आधार पर दबिश देकर अभियुक्त विक्रम यादव पुत्र मुसे यादव निवासी अचितपुर पुरैनी थाना अदलहाट मीरजापुर को गिरफ्तार किया गया, जो 16 अक्टूबर 2020 को नई बकियाबाद धौहा पहाड़ी चुनार में हुई पुलिस मुठभेड़ के दौरान चकमा देकर भागने में सफल हो गया था। गिरफ्तार अभियुक्त विक्रम यादव उपरोक्त के कब्जे से एक अदद पिस्टल 7.65/32 बोर व एक अदद मैगजीन मय 3 जिन्दा कारतूस बरामद किया गया ।



पूछताछ के दौरान घटना के बारे मे अभियुक्त विक्रम यादव पुत्र मुसे यादव ने बताया कि मै अपराधियों की संगत में आकर अपराध करने लगा 27 सितम्बर 2020 को कस्बा चुनार में रामलीला मैदान के पास अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर ऑयरन फैक्ट्री के डायरेक्टर जिवेन्दू रथ की गोली मारकर हत्या कर दी थी एवं उसके साथ के व्यक्ति को भी गोली मारकर घायल कर दिया था । यह पिस्टल जो आज मेरे पास से बरामद हुई है इसी से मैने जिवेन्दू रथ की हत्या की थी और उसके साथी को गोली मारकर घायल किया था। 16 अक्टूबर 2020 को हुई पुलिस मुठभेड़ में भी मैं बचते-बचाते फरार हो गया था जबकि मेरा साथी अजीत उर्फ भानू यादव पकड़ा गया था। गिरफ्तारी/बरामदगी करने वाली पुलिस टीम को घोषित ₹ 50,000/- का ईनाम प्रदान किया जायेगा।


 


Comments