पीएचसी, सीएचसी समेत मंडलीय चिकित्सालय पर अब कोविड क्लीनिक


रिपोर्ट : टी. सी. विश्वकर्मा


मीरजापुर, (उ.प्र.) : जिले में अब पीएचसी, सीएचसी समेत मंडलीय चिकित्सालय पर कोविड क्लीनिक खुलेगी। जहां कोविड-19 के उपचारित व्यक्ति बाद में आ रही स्वास्थ्य की परेशानियों पर परामर्श ले सकेंगे। इसकी तैयारियों के संबंध में अपर मुख्य चिकित्साधिकारी/कोरोना नोडल अधिकारी डाक्टर अजय ने सभी प्रभारी चिकित्साधिकारियों को पत्र भेजा है। पत्र में निर्देशित किया गया है कि कोविड क्लीनिक के लिए मंडलीय चिकित्सालय, जिला महिला चिकित्सालय, 9 सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र समेत 46 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर जगह चिन्हित की जाए। जल्द ही  चिकित्सकों और मेडिकल स्टाफ की तैनाती कर दी जायेगी। इस क्लीनिक में कोविड-19 से ठीक हुए लोग न केवल चिकित्सक से निःशुल्क परामर्श ले सकेंगे। जरूरत पड़ने पर जिला मानसिक स्वास्थ्य प्रकोष्ठ की भी मदद लिया जायेगा।


अपर मुख्य चिकित्साधिकारी /प्रतिरक्षण अधिकारी डाक्टर नीलेश श्रीवास्तव ने बताया कि कोविड क्लीनिक में ईसीजी, एक्सरे और अल्टासाउण्ड के अलावा एंटीबाडी की जांच भी की जायेगी। इसके अलावा लक्षणों के आधार भी जांच किया जायेगा। खासकर व्यवहार में परिवर्तन आने के बाद भी मानसिक चिकित्सकों द्वारा मदद किया जायेगा। दोबारा कोविड के लक्षण मिलने पर इस क्लीनिक में उनको उपचार उपलब्ध कराया जायेगा और निःशुल्क जांच कराया जायेगा।  


उपचाराधीनों के लिए शासन से मिली नई गाइडलाइन


मुख्य चिकित्साधिकारी डाक्टर ओ0पी0तिवारी ने बताया है कि कोरोना की चपेट में आए ऐसे लोग जो पहले से ही किसी ऐसे गंम्भीर बीमारी जैसे मघुमेह, किडनी, हद्धय रोग व रक्तचाप के शिकार हैं, उन्हें कोमोरबिड कहा जाता है । ऐसे उपचाराधीनों का विशेष ध्यान रखने की आवश्यकता है। विभाग ने ऐसे उपचाराधीनों डिस्चार्ज जल्दी न करने का निर्देश जारी किया है।  साथ ही कोविड 19 के अलावा उनकी मूल बीमारी को सामान्य होने तक उन्हें नाॅन कोविड क्लीनिक में रखने का निर्देश दे दिए गये हैं।  


Comments