पच्चीस लाख लूट का पर्दाफाश, पांच मुजरिम गिरफ्तार


पीडित द्वारा खुद प्लानिग कर करवाई गई थी लूट


रिपोर्ट : अनीता गुलेरिया


दिल्ली : द्वारका साउथ पुलिस को पीड़ित वैभव सिंह ने शिकायत दर्ज करवाते हुए बताया वह रोहिणी से गुडगांव पैसो की डिलवरी करने मोटरसाइकिल पर जा रहा था तभी द्वारका सेक्टर-9.मेट्रो स्टेशन पर काले रंग की स्कूटी सवार तीन अज्ञात युवकों ने चाकू की नोक पर पच्चीस लाख रुपए कैश से भरा बैग लूटकर मौके से फरार हो गए । कैश लूटपाट मद्देनजर रखते हुए द्वारका एसीपी राजेंद्र सिंह यादव के दिशा निर्देशानुसार दो संयुक्त टीमों का गठन कर लुटेरों की धरपकड़ के लिए लगाया गया जिसमें जेल बेल के एसआई दीपक, सुरेंद्र, महेश, कांस्टेबल विनीत और मनीष के अलावा द्वारका साउथ एसएचओ रामनिवास की अगुवाई में एसआई गणेश कुमार, राकेश कुमार, विकास यादव, मुकेश मनमोहन, विक्रमजीत, हेड कांस्टेबल हिम्मत सिंह, कांस्टेबल अनु यादव, सुदर्शन और सुरेंद्र की संयुक्त-टीम ने तत्परता दिखाते हुए घटनास्थल वाली जगह के सीसीटीवी फुटेज को पांच किलोमीटर तक खंगालते हुए अपने सूचना-तंत्र माध्यमों द्वारा जुटाई गई जानकारी दौरान पुलिस को पीड़ित की भूमिका संदिग्ध नजर आई।



द्वारका एडिशनल डीसीपी आरपी मीना के अनुसार, हमारे पुलिस टीम ने गुप्त सूचना से मिली जानकारी के आधार पर आकिब उर्फ जावेद नाम के लूटेरे को अपनी गिरफ्त में लिया, पकड़े गए अभियुक्त की निशानदेही पर अन्य आरोपियो को भी पकड लिया गया। पुलिस कड़ी पूछताछ दौरान आरोपी आकिब ने बताया इस लूट का मुख्य मास्टरमाइंड कोई और नहीं बल्कि पीडित वैभव सिंघल ही है। उसने ही 25 लाख की लूट दिखाते हुए पैसों को आपस में बांट लेने की प्लानिंग बनाई थी। जिसके चलते आकिब ने अपने दो दोस्तों को इस लूट मे शामिल किया था जिनके नाम कृष्ण नेगी और राहुल उर्फ गबरू दोनों दक्षिणपुरी अंबेडकर नगर से, पांचवा आरोपी आयुष सिंघल वैभव सिंघल का भाई है, दोनों छतरपुर निवासी हैं । पुलिस ने तलाशी दौरान आरोपियों के पास ₹20,88,200 कैश बरामद कर सभी अभियुक्तों को पुलिस हिरासत में लेते हुए चोरी की एक्टिवा होंडा स्कूटी व होंडा पल्सर मोटरसाइकिल जब्त कर अंबेडकर नगर व द्वारका साउथ के दो वाहन-चोरी केसों को एक साथ सुलझाया । पुलिस द्वारा आईपीसी के तहत मामला दर्ज कर मुजरिमो से लूट की रकम के बकाया पैसों के बारे में गहनता से तफ्तीश जारी है । 


द्वारका उपायुक्त संतोष कुमार मीणा ने द्वारका साउथ पुलिस की सूझबूझ व गहनता से की गई जांच-प्रक्रिया की सराहना करते हुए कहा, कम समय में ब्लाइंड लूट मामले को सुलझाते हुए अत्यंत काबिले तारीफ कार्यशैली को दिया अंजाम,इसके लिए उन्होंने द्वारका-साउथ की संयुक्त टीम को बधाई का पात्र बताया।


Comments