महिलाओं तथा बच्चों के विरूद्ध हिंसा से रोकथाम हेतु नौ दिवसयीय अभियान शुरू


बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग की होगी महत्वपूर्ण भूमिका


डीएम द्वारा हिंसा से बचाने वाले योद्धाओं को किया जायेगा सम्मानित


रिपोर्ट : टी.सी.विश्वकर्मा


मीरजापुर, (उ.प्र.) : जनपद में महिलाओं तथा बालिकाओं की सहभागिता एवं सुरक्षा, पास्कोएक्ट एवं महिला अपराध सम्बन्धी कानूनों को लागू किये जाने सम्बन्धी व्यापक पैमाने पर प्रचार-प्रसार हेतु 17 से 25 अक्टूबर तक विशेष अभियान चलाया जायेगा।


प्रदेश के महिला कल्याण निदेशक मनोज कुमार राय ने कार्ययोजना जारी करके बताया है कि इस सम्बन्ध में प्रदेश के गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव की अध्यक्षता में बैठक हुयी। जिसमें निर्धारित तिथि के अन्दर सम्पूर्ण प्रदेश में विशेष अभियान संचालित किये जाने का निर्णय लिया गया है। बैठक में लिये गये निर्णय के आधार पर बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार विभाग तथा महिला कल्याण द्वारा सम्मिलित रूप से इस अभियान में भागीदारी की जायेगी।


जिला कार्यक्रम अधिकारी पी0के0सिंह ने बताया कि  अभियान के सफल संचालन हेतु दोनों विभागों के जनपदीय व मण्डलीय अधिकारियों द्वारा समन्वय बैठक हुयी है। साथ ही साथ मण्डल व जनपद स्तर पर कार्यरत यूनीसेफ के तकनीकी रिसोर्स पर्सन भी सक्रिय सहयोग करेगे। अभियान के दौरान तकनीकी सहायता प्रदान करेंगे।


डीपीओ ने बताया कि जनपद में 2668 आंगनबाड़ी कार्यकत्रियां कार्यरत हैं जिनकी इस अभियान में अहम भूमिका होगी। विकास खण्डों एवं ग्राम पंचायतों में कई प्रकार की गतिविधियां प्रस्तावित है जिन्हें निर्धारित तिथियों के मध्य किया जायेगा। बताया कि जनपद व विकास खण्ड स्तर पर जिला कार्यक्रम अधिकारी व जिला प्रोबेशन अधिकारी के नेतृत्व में सी0डी0पी0ओ, सुपरवाइजर, चाइल्ड लाइन व स्वयंसेवी संस्थाओं द्वारा विभिन्न गतिविधियों का संचालन/अभिमुखीकरण समन्वक किया जायेगा। इसके अलावा सक्रिय सदस्यों का मास्टर टेªन के रूप में अभियान की गतिविधियों तथा विषय सामग्री पर एक दिवसीय आनलाइन प्रशिक्षण किया जायेगा।


शासन द्वारा निर्धारित कार्ययोजना के अनुसार नौ दिवसीय कार्यक्रम के मध्य जनपद स्तर पर वन स्टाप सेन्टर/विकास भवन सभागार के अलावा विकास खण्ड मुख्यालय स्थित सभागार एवं ग्राम पंचायत स्तर पर आंगनबाड़ी केन्द्रों, धार्मिक कार्यक्रम स्थलों एवं अन्य चिन्हित स्थानों में कार्यक्रम संचालित किये जायेगे।


बताया कि स्थानीय चैनलों, आकाशवाणी, केवल, सिनेमाहाल तथा विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों, जनसामान्य के मध्य प्रभाव रखने वाले विशेष व्यक्तियों एवं धार्मिक गुरूओं के सम्बोधन को प्रसारित कराया जायेगा।


समापन दिवस के अवसर पर 25 अक्टूबर को जिलाधिकारी द्वारा महिलाओं तथा बालिकाओं की सुरक्षा तथा संरक्षण हेतु शपथ तथा बालिकाओं व महिलाओं को हिंसा से बचाने या उनके लिये कार्यरत योद्धाओं को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया जायेगा।


Comments