बहुत कम दरों पर शास्त्रीनगर अस्पताल में उपलब्ध होंगी जिसका लाभ नागरिक जरूर ले : पालकमंत्री एकनाथ शिंदे


रिपोर्ट : प्रमोद कुमार


कल्याण : कल्याण डोंबिवली मनपा क्षेत्र के गरीब और जरूरतमंद नागरिकों को अप-टू-डेट स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए ठाणे, नवी मुंबई, मुंबई जाना पड़ता था। वे सुविधाएं अब बहुत कम दरों पर शास्त्रीनगर अस्पताल में उपलब्ध होंगी जिसका लाभ नागरिक जरूर ले ऐसा पालकमंत्री एकनाथजी शिंदे ने  शास्त्रीनगर अस्पताल में समर्पण समारोह में कहा ।


डोंबिवली में पालिका की शास्त्रीनगर अस्पताल में कल्याण डोंबिवली महानगर पालिका व क्रस्ना डायगोस्टिक ने मिलकर आम जनता के लिए सिटी स्कैन मशीन , एमआरआय, सोनोग्राफी सेंटर, पैथोलॉजी लैब शुरू किया गया है । जिस टेस्टिंग के लिए लोगों को मुंबई ठाणे जाना पड़ता है वो सुविधा अब कल्याण डोंबिवली मनपा के अस्पताल में उपलब्ध होगा यह आम जनता लो लाभ मिलेगा । इस सेंटर का उद्घाटन पालकमंत्री एकनाथ शिंदे के हाथों संपन्न हुआ। मंच पर सांसद डॉ श्रीकांत शिंदे , विधायक रविंद्र चव्हाण और आयुक्त डॉ विजय सूर्यवंशी, महापौर विनीता राणे, नगरसेवक विश्वनाथ राणे मौजूद थे। कल्याण डोंबिवली मनपा और क्रस्ना डायग्नोस्टिक द्वारा संयुक्त रूप से मनपा क्षेत्र के नागरिकों को कम दाम वाली रेडियोलॉजी और पैथोलॉजी की सुविधा प्रदान करने के उद्देश्य से डायग्नोस्टिक प्रा मेमोरेंडम ऑफ अंडरस्टैंडिंग के तहत डोंबिवली के शास्त्रीनगर अस्पताल में प्रयोगशाला और रेडियोलॉजी की सुविधा दी गई है। इसके अलावा, आज से,32 स्लाइस सिटी स्कैन मशीन की मदद से, सीटी स्कैन कम लागत पर 24 घंटे उपलब्ध होगी । इस स्थान पर प्रतिदिन 70 से 80 सीटीस्कैन की सुविधा उपलब्ध होगी। इस केंद्र पर टेली रिपोर्टिंग सुविधा उपलब्ध है और ब्रेन सीटी स्कैन रिपोर्ट 01 घंटे में उपलब्ध होगी जबकि अन्य सीटी स्कैन रिपोर्ट 03 घंटे में उपलब्ध होगी। जल्द ही एमआरआई सुविधा शुरू करने की भी योजना है।


कल्याण डोंबीवली मनपा और आईएमए की ओर से कल्याण में पोस्ट कोविद शुरू किया गया है और केंद्र का उद्घाटन पालक मंत्री और शहरी विकास मंत्री एकनाथ शिंदे ने किया था। पोस्ट कोविद केंद्र अधिक से अधिक महत्वपूर्ण होता जा रहा है क्योंकि कोरोना के साथ जिस मरीज का इलाज किया गया है, उसके साथ आने वाली मानसिक और शारीरिक थकान से पूरी तरह छुटकारा पाने के लिए पोस्ट कोविद केंद्र में इलाज किया जाएगा। केंद्र में फेफड़ों के संक्रमण, थायरोमीटर के उपचार और गले के संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए मुखर परीक्षणों के लिए कोरोना मुक्त रोगियों का इलाज करेगा। इसके माध्यम से, इस केंद्र के माध्यम से स्थायी रूप से कोरोना मुक्त रोगियों का इलाज करना संभव होगा नतीजतन, यह सेवा रोगी के लिए फायदेमंद होगी ऐसा पालक मंत्री शिंदे ने कहा ।


 


 


Comments