अग्निशिखा मंच के कवि सम्मेलन में 111 कवियों ने किया काव्य पाठ


रिपोर्ट : शकील शेख


मुंबई : राष्ट्रपिता महात्मा गांधी तथा लाल बहादुर शास्त्री की जयंती के उपलक्ष में अखिल भारतीय अग्निशिखा मंच द्वारा ऑनलाइन कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया। इस कवि सम्मेलन में 111 कवियों ने भाग लिया। समारोह की अध्यक्षता डॉ अंजना बाजपेई ने की। मुख्य अतिथि के रूप में पुरुषोत्तम दुबे उपस्थित रहे। विशेष अतिथि के रुप में संपादक अखंड प्रताप सिंह गहमरी, नाटककार विजय पंडित, डॉ कुंवर वीर सिंह, आशा जाखड़ तथा शायर इरफान नोमानी ऑनलाइन उपस्थित रहे। निर्णायक के रूप में वरिष्ठ साहित्यकार हेमलता मानवीय तथा डॉ अरविंद कुमार श्रीवास्तव उपस्थित रहे।



संजय कुमार मालवीय ने आभार व्यक्त किया। मंच संचालन /दो सत्रों में हुआ प्रथम चरण में संचालन किया डॉ अलका पाण्डेय मुम्बई/ चंदेल साहेब हिमाचल / डॉ प्रतिभा कुमारी परासर /‘दूसरे सत्र का संचालन बिजैन्द्र मेव/राजस्थान शोभा रानी तिवारी /इॉदौर, सुरेन्द्र हरडे/नागपुर सरस्वती वंदना शोभारानी तिवारी ने स्वागत भाषण डॉ अलका पाण्डेय सभ अतियों ने माँ शारदे को नमन कर कार्यक्रम शुरु किया। मुख्य अतिथि पुरुषोत्तम दुबे ने अपने व्यक्तव्य में मंच व कवियों को बधाई दी, विजय पंडित ने ऐसे कार्यक्रम होते रहेंगे चाह यें कहा , आशा जी ने कहा, 'मंच के निमंत्रण से प्यार की महक आती है जो हम सब खींचें चले आते है।' कुंवर वीर सिंह ने कहाँ, 'मैं आज की रचनाओं की ई बुक बना कर दूँगा !' डॉ अंजनी बाचपेई ने सब को शुभकामनाएँ दी। अंखड प्रताप सिंह गहमरी ने 19/20 दिसम्बर को गहमर में होने वाले साहित्य सम्मेलन में आने का निमंत्रण दिया.. अग्निशिखा मंच की राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ अलका पांडे ने उपरोक्त जानकारी दी।


Comments