तबादलों से मुझे फर्क नहीं पड़ता, कहीं भी तबादला हुआ तो सैलरी उतनी ही मिलेगी और मैं उसमें संतुष्ट हूं : कृष्णप्रकाश


रिपोर्ट : प्रमोद कुमार


पिपरी, (महाराष्ट्र) : पिंपरी चिंचवड़ के नए पुलिस आयुक्त की दमदार एंट्री, कहीं भी ट्रांसफर हुई तो सैलरी उतनी ही मिलती है। कार्यकाल पूरा किये बिना ही पिंपरी चिंचवड़ के दूसरे पुलिस आयुक्त संदीप बिश्नोई का तबादला किये जाने के बाद एक दबंग पुलिस अधिकारी के रूप में विख्यात कृष्णप्रकाश की शनिवार को पिंपरी चिंचवड़ में दमदार एंट्री हुई। निवर्तमान पुलिस आयुक्त बिश्नोई से उन्होंने अपना पदभार स्वीकार लिया। पिंपरी चिंचवड़ के पहले पुलिस आयुक्त आरके पद्मनाभन के बाद दूसरे पुलिस आयुक्त बिश्नोई को भी कार्यकाल पूरा होने से पहले ही तबादला कर दिया गया। अगर ऐसा तीसरे पुलिस आयुक्त के साथ भी हुआ तो क्या वे इसके खिलाफ आवाज उठाएंगे? इस सवाल के जवाब में नए पुलिस आयुक्त कृष्णप्रकाश ने कहा कि जिन्हें मुझसे दिक्कत है वे या तो कानून को बदलें या फिर मुझे, क्योंकि मैं बदलने वालों में से नहीं हूं। और वैसे भी कहीं भी तबादला किया गया तो उतनी ही सैलरी मिलती है।


राज्य सरकार में शामिल राष्ट्रवादी कांग्रेस के पिंपरी चिंचवड़ शहर में रहे एकमात्र विधायक अण्णा बनसोडे की मुहिम के चलते मात्र 11 माह दो दिन का कार्यकाल पूरा करने के बाद संदीप बिश्नोई का पिंपरी चिंचवड़ से तबादला कर दिया गया। पहले कहा जा रहा था कि वे 'कैट' सरकार के फैसले को चुनौती देंगे, मगर बाद में उन्होंने स्पष्ट किया कि वे ऐसा कुछ नहीं करेंगे। पिंपरी चिंचवड़ में सियासी हस्तक्षेप और दबाव ज्यादा है, अगर ऐसा आपके मामले में भी होता है तो क्या आप सरकार के फैसले को चुनौती देंगे? नए पुलिस आयुक्त कृष्णप्रकाश ने पदभार संभालने के बाद संवाददाताओं से तलब करते हुए इस सवाल के जवाब में कहा कि, तबादलों से मुझे फर्क नहीं पड़ता कहीं भी तबादला हुआ तो सैलरी उतनी ही मिलेगी और मैं उसमें संतुष्ट हूं।


उन्होंने कहा, पिंपरी चिंचवड़ शहर कभी उनका कार्यक्षेत्र नहीं रहा। शहर के बारे में जितना पढा, देखा और सुना है उसके अनुसार केवल एक फीसदी अपराधियों की वजह से शहर की प्रतिमा मलिन हुई है। उन अपराधियों के साथ शहर के व्हाइट कॉलर अपराधियों और औद्योगिक व रियल इस्टेट क्षेत्र के माफिया राज को खत्म करने की चुनौती है। इसे स्वीकार करते हुए कृष्णप्रकाश ने कहा कि, 'जीरो टॉलरेंस' पर उनका पूरा जोर रहेगा। नागरिकों से उन्होंने अपील की कि वे कानून का उल्लंघन न करें। यही नहीं उन्होंने नागरिकों के लिए अपना मोबाइल नँबर 8805081111 जारी करते हुए उस पर एसएमएस या व्हाट्सएप के जरिये अपनी शिकायत करें।


कृष्णप्रकाश ने कहा कि, कानून का उल्लंघन कर अवैध धंधे और अवैध काम करनेवालों को चेताया कि वे अपने लिए कोई दूसरा काम-धंधा देख लें। पिंपरी चिंचवड एक उद्योगनगरी है यहां आयटी, एज्युकेशन हब है। इस सुनियोजित शहर में श्रमिकों की संख्या अधिक है, सभी घटकों के मसले अलग अलग हैं। सामाजिक संस्थाओं की मदद से उन मसलों को हल करने और समाज में राह भटके हुए लोगों को सही रास्ते पर लाने का काम करेंगें। पिंपरी चिंचवड़ शहर में एक फीसदी अपराध है जिसकी वजह से शहर की प्रतिमा मलिन हुई है। इसके आगे सभी लोग ध्यान रखें कि कानून का उल्लंघन न होने पाए। इस शहर में जीरो टॉलरेंस की अमलबाजी की जाएगी। उन्होंने कहा कि, फिलहाल वे शहर के बारे में अध्ययन कर रहे हैं। सभी पुलिस अधिकारियों से 'वन टू वन' बातचीत कर शहर और पुलिस बल की समस्याओं का जायजा लेंगे। उसके शहर में ऑपरेशन क्लीन शुरू करेंगे। 


Comments