सडक हादसे में मृत महिल के शव को रंजिश बस पहचानने से किया इन्कार


रिपोर्ट : बृजेश गोंड


मीरजापुर, (उ.प्र.) : थाना कोतवाली देहात क्षेत्र स्थित करनपुर गाँव निवासी अनंता देवी उम्र 70 वर्ष पत्नी बदमा बिंद की 10 सितम्बर की सुबह समय लगभग 8 बजे क्षेत्र के इटवा चौराहे के पास ट्रक के चपेट मे आने से घायल हो गई थी। जिसे गाड़ी मालिक खुद इलाज के लिये जिला अस्पताल लेकर गया, लेकिन उक्त महिला की इलाज के दौरान मौत हो गई।


सूत्रो से मिल जानकारी के अनुसार महिला रीवा रोड पर अपने पटरी से जा रही थी तभी इटवा चौराहा के पास स्थित पेट्रोलपंप के पास ड्राइवर डीजल लेने के उदेश्य से गाड़ी को घुमाया और उसके चक्के के नीचे महिला की पैर आ गया। जिससे एक पैर पूरी तरह से जख्मी हो गया। जिसे पहले से ही पंप पर बैठे गाड़ी मालिक ने निजी साधन कर इलाज के लिये ले गया, लेकिन एडमिट कराने के बाद रफूचक्कर हो गया। महिला ने इलाज के दौरान अपना पता करनपुर बताया था। इलाज के दौरान लगभग 3 बजे महिला की मौत हो गई। जिसकी सूचना अस्पताल प्रशासन द्वारा अस्पताल चौकी को दी गई। चौकी प्रभारी ने तत्काल करनपुर चौकी प्रभारी को फोनकर महिला के बारे मे जानकारी दी। जिसके बाद चौकी प्रभारी करनपुर ने ग्राम प्रधान किसुन बिन्द को महिला के बारे मे जानकारी दी, लेकिन आपसी रंजिश के चलते ग्राम प्रधान ने उक्त महिला को पहचानने से इनकार कर दी। जिसके बाद उक्त महिला की लाश को लावारिस घोषित कर अस्पताल मे बने मर्चरी मे रखवा दी। मृतक के घरवालों को शाम को कहीं से पता चला कि उनके माता के साथ हादसा हो गया है, जिसके बाद परिजन करनपुर चौकी प्रभारी से संपर्क कर फोटो से शिनाख्त की।


Comments