सांसद द्वारा किए गए भड़काऊ बयान पर छात्र संघ का हंगामा, डीएम को सौंपा पत्रक


रिपोर्ट : आशीष गहलौत


ज्ञानपुर/भदोही : भारतीय जनता पार्टी के बलिया सांसद व भदोही संसदीय क्षेत्र के पूर्व बीजेपी सांसद विरेंद्र सिंह मस्त के कथित भड़काऊ बोल को लेकर पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष किशन शुक्ला ने उनके बयान को भड़काऊऔर उकसाने वाला बयान बताया है। उनके साथ छात्र संघ के पर्व पदाधिकारियों ने भी इसकी कड़ी निंदा की है।


बताते चलें कि बलिया के सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त के आपत्तिजनक टिप्पणी को लेकर 06 सितंबर 2020 को सांसद "मस्त" ने भदोही के चौरी मार्ग स्थित अपने निजी आवास "स्वदेशी आश्रम" में पत्रकार वार्ता कार्यक्रम के दौरान एक सवाल के जवाब में कहा था कि स्वाभिमान की बात आई तो मैं *"स्वयं ठोक दूंगा*"यह बयान संसदीय मर्यादा के खिलाफ है।जनता में भय पैदा करने की नियत से यह बयान दिया गया है। जिसकी हम समस्त छात्र व जनपदवासी घोर निंदा करते हैं। देश व प्रदेश में प्रधानमंत्री,मुख्यमंत्री व जिला प्रशासन का प्रयास भयमुक्त और अपराध मुक्त समाज बनाना है, वहीं सांसद जी खुद हथियार उठाने की बात करके पूरी व्यवस्था को ठेंगा दिखाने का काम कर रहे है। जिसका जनपद के आम जनमानस में गलत संदेश जा रहा है । उन्होंने कहा कि, संविधान के पद पर आसीन रहने वाला व्यक्ति संविधान की धज्जियां उड़ाने की बात कर रहा है। कानून बनाने वाला व्यक्ति खुद कानून तोड़ने की बात कह रहा है।सांसद जी द्वारा इस तरह का बयान देकर जनमानस में भय फैलाने की कोशिश की गई तो पूरे जनपद में नौजवान पुरजोर विरोध करने के लिए बाध्य होंगे। जरूरत पड़ने पर सड़कों पर उतरनी पड़ी तो हमसे इसके लिए कत्तई कई पीछे नहीं हटेंगे। जनपद में ऐसे लोगों का पैर किसी भी कीमत पर जमने नहीं दिया जाएगा । 


प्रेषित पत्र के माध्यम से जिलाधिकारी द्वारा निवेदन किया गया है, कि ऐसी संकीर्ण मानसिकता विचारधारा सोच वाले व्यक्ति पर कठोर कार्यवाही करते हुए ऐसे व्यक्ति पर (चाहे वह जनप्रतिनिधि ही क्यों ना हो?) प्रतिबंध लगाते हुए वैधानिक कार्यवाही करें । विरोध प्रकट करने वालों में उदल विंद, जय किसान बिंद ,शिव अमरजीत बिंद, रजनीश सिंह ,राहुल सिंह, धर्मेंद्र शुक्ला, जितेंद्र शर्मा, प्रदीप पाल आदि तमाम छात्र लोग मौजूद रहे।


Comments