पिंपरी-चिंचवड़ पुलिस आयुक्तालय की बागडोर दबंग आईपीएस अधिकारी के तौर पर पहचाने जानेवाले कृष्णप्रकाश के हाथों में


रिपोर्ट : प्रमोद कुमार


पिंपरी : महाराष्ट्र पुलिस बल के बहुप्रतीक्षित और बहुचर्चित आईपीएस अधिकारियों के तबादलों के आदेश अंततः बुधवार की देर शाम जारी किए गए. इसमें पिंपरी-चिंचवड़ पुलिस आयुक्तालय की बागडोर दबंग आईपीएस अधिकारी के तौर पर पहचाने जानेवाले कृष्णप्रकाश के हाथों में सौंपी गई है. वे पिंपरी-चिंचवड़ के तीसरे पुलिस आयुक्त हैं. मौजूदा पुलिस आयुक्त संदीप बिश्नोई की नई नियुक्ति का फैसला नहीं हो सका है. इस बारे में अलग से आदेश जारी किया जाएगा, ऐसा गृह विभाग द्वारा जारी किए गए तबादलों के आदेश में स्पष्ट किया गया है.


पिंपरी-चिंचवड़ पुलिस आयुक्तालय की स्थापना के बाद आरके पद्मनाभन पहले पुलिस आयुक्त रहे. अक्टूबर 2019 में उनके रिटायर होने की वजह से विधानसभा चुनाव की पृष्ठभूमि पर उनकी जगह संदीप बिश्नोई को पिंपरी-चिंचवड़ आयुक्तालय की जिम्मेदारी सौंपी गई थी. 20 सितंबर 2019 को उन्होंने पदभार संभाला था. अभी उनका कार्यकाल एक साल का भी नहीं हुआ कि उनकी जगह मुंबई के विशेष पुलिस महानिरीक्षक कृष्णप्रकाश का तबादला किया गया है. बिश्नोई की नई नियुक्ति के बारे में अलग से आदेश जारी किया जाएगा. बताया जा रहा है कि राज्य सरकार में शामिल राष्ट्रवादी कांग्रेस के स्थानीय नेताओं के साथ उनकी नहीं बन रही थी. उनके तबादले की मांग लगातार की जा रही थी. उनके तबादले को लेकर गत कई दिनों से चर्चा जारी थी जिसे आज पूर्णविराम लग गया है.


एक दबंग आईपीएस अधिकारी और आर्यन मैन के रूप में पहचाने जानेवाले कृष्णप्रकाश 1998 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं. वे मूल झारखंड के हजारीबाग से हैं. साइक्लिंग, रनिंग और स्वीमिंग के लिए उनके नाम पर कई रिकॉर्ड दर्ज हैं. रेस्ट ॲक्रॉस वेस्ट अमेरिका नामक साइक्लिंग प्रतियोगिता जो 1500 किमी की होती है और पश्चिम अमेरिका के 4 राज्यों से गुजरती है, में उन्होंने हिस्सा लिया था और 92 घंटों के इस सफर को उन्होंने 88 घंटे में पूरा कर नया रिकॉर्ड बनाया था. फ्रांस में ‘आयर्नमॅन ट्रायलथॉन’ नामक 3.86 किलोमीटर स्विमिंग, 42 किलोमीटर रनिंग और 180 किलोमीटर साइक्लिंग की प्रतियोगिता को 14 घंटे 8 मिनट में पूरा कर उम्र के 42वें वर्ष में आर्यनमैन का खिताब हासिल किया है. सांगली और अहमदनगर जिले में तैनाती के दौरान अपराधियों की नकेल कसने में उन्होंने उल्लेखनीय कार्य किया है.


Comments