पत्रकारों का निःशुल्क इलाज और अस्पतालों में बेड आरक्षित रखने की मांग


रिपोर्ट : प्रमोद कुमार


कल्याण : कल्याण डोंबिवली में कोरोना तेजी से बढ़ रहा है. अब तक 36 हजार से अधिक लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं.  कोरोना की चपेट में कई पत्रकार भी आ चुके हैं,  इतना ही नहीं पिछले दिनों डोंबिवली में विकाश काटदरे नामक ज्येष्ठ पत्रकार को कोरोना ने अपनी चपेट में ले  लिया, जिससे उनकी मौत हो चुकी हैं. कल्याण-डोंबिवली के पत्रकारों का निःशुल्क इलाज और अस्पतालों में बेड आरक्षित रखने की मांग की है. राज्य में 300 से अधिक पत्रकार कोरोना की चपेट में आ चुके हैं. राज्यभर में 20 से अधिक पत्रकारों की मौत हो चुकी है जो जान पर खेलकर समाचार संकलन करते थे. कल्याण-डोंबिवली की परिस्थिति भी बहुत ही नाजुक है. इसलिए केडीएमसी के आयुक्त डॉ. विजय सूर्यवंशी और महापौर विनीता राणे को पत्र लिखकर पत्रकारों का निःशुल्क इलाज और अस्पताल में पत्रकारों के लिए बेड आरक्षित रखने की मांग की है ।


Comments